चंडीगढ़, 11 सितंबर- आज 52वीं हरियाणा राज्य स्तरीय खो-खो, बेसबाल, योग एवं वालीबाल विद्यालय खेल प्रतियोगिता कस्बा सतनाली (महेंद्रगढ़) में शुरू हुई। इस प्रतियोगिता में करीब 1500 लड़के व 1500 लड़कियां भाग ले रहे हैं। प्रतियोगिता का उदघाटन करते हुए शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने घोषणा की कि महेन्द्रगढ़ जिला के सभी 730 सरकारी विद्यालयों में आर.ओ फिल्टर समेत वाटर कूलर की व्यवस्था शीघ्र ही की जाएगी।

 

उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य खेल के क्षेत्र में भी विश्व स्तरीय महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर है। शिक्षा, संस्कार, संस्कृति एवं खेल के क्षेत्र में प्रदेश ने दुनिया में एक अनूठी पहचान बनाई है। हरियाणा के सरकारी स्कूलों में भी प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, इसी प्रतिभा को तराशने के लिए स्कूली स्तर पर खेलों का आयोजन किया जा रहा है।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा की आबादी भारत की कुल आबादी का केवल 2.5 प्रतिशत ही है इसके बावजूद हमारे राज्य के खिलाड़ी लगभग हर अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के सरकारी स्कूलों में शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को विभिन्न गतिविधियों में पारंगत किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने नई खेल नीति लागू करे खिलाडि़यों के लिए बेहतरीन योजनाएं बनाई हैं। सरकार द्वारा प्रदेश में विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षकों की भर्ती की जा रही है तथा विभिन्न गांवों में व्यायामशालाएं और स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाडि़यों की प्रतिभा को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं मे पदक जीतने वाले खिलाडि़यों को दी जाने वाली राशि में बढ़ौतरी की गई है। अब ओलम्पिक में स्वर्ण पदक विजेता को 6 करोड़, रजत पदक विजेता को 4 करोड़ और कांस्य पदक विजेता को 2 करोड़ रूपए की राशि का पुरस्कार दिया जाता है।