सोलन ,20 जुलाई -सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ राजीव सैजल ने आज कसौली विधानसभा क्षेत्र के तहत धर्मपुर में ऐच्छिक निधि के तहत जारी चेक लाभार्थियों को प्रदान किए। कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि समाज के कमजोर और आर्थिक तौर से गरीब लोगों का कल्याण राज्य सरकार की विशेष व उच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व वाली सरकार ने वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को 80 से घटाकर 70 वर्ष करके एक ऐसा ऐतिहासिक
फैसला लिया जिससे प्रदेश के हजारों लाभार्थियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ मिलना शुरू हो गया है। इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार आने वाले समय में वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों की आयु सीमा को और कम करने पर भी विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को देशवासियों ने दोबारा सत्तासीन करके यह साबित कर दिया है कि केंद्र सरकार की विकासात्मक और जनकल्याणकारी योजनाएं इस देश को नई दिशा देने के साथ साथ विश्व भर में भारत को एक नई पहचान दे रही हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू कर के 5 लाख तक के इलाज की सुविधा गरीब तबके के लोगों को मुहैया की है। उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत जो वर्ग लाभ नहीं ले सकते थे उन्हें राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई हिम केयर योजना से वही लाभ मिल रहा है जो आयुष्मान भारत योजना के तहत मिलता है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र और राज्य सरकार गृहिणियों के कल्याण के प्रति भी पूरी तरह से वचनबद्ध है। केंद्र सरकार ने जहां उज्जवला योजना शुरू की वहीं राज्य सरकार ने गृहिणी सुविधा योजना शुरू करके प्रदेश की गृहिणियों को मुफ्त रसोई गैस के कनेक्शन उपलब्ध करवाए हैं।
सरकार द्वारा गरीब परिवारों के लिए शुरू की गई आवास योजनाओं का जिक्र करते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) और मुख्यमंत्री आवास योजना इन परिवारों के लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार कृषि और किसान के महत्व को समझती है। कृषक सम्मान निधि योजना इसी का प्रतिरूप है। केंद्र सरकार को वृद्ध किसानों की भी पूरी चिंता है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र सरकार आने वाले समय में जल्द वृद्ध किसानों के लिए भी पेंशन की सुविधा मुहैया करेगी। उन्होंने कहा कि ऐच्छिक निधि के तहत कार्यक्रम के जरिए चेकों का वितरण करने के पीछे मकसद ग्रामीण लाभार्थियों के समय और पैसे की बचत करना है। कई बार ग्रामीण समय निकालकर चेक लेने के लिए कार्यालयों में जाते हैं लेकिन यह आवश्यक नहीं कि उन्हें उसी दिन चेक प्राप्त हो जाएं। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी ऐसे ही कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा ताकि लाभार्थियों को चेक प्राप्त करने में असुविधाओं का सामना ना करना पड़े।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि विशेषकर बरसात के सीजन के दौरान राजस्व विभाग के फील्ड कर्मचारी नुकसान होने की सूरत में मौके का निरीक्षण करके तुरंत रिपोर्ट भेजें ताकि प्रभावितों को समय पर राहत मिल सके।
इस मौके पर भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष सुंदरम ठाकुर, तहसीलदार कसौली कपिल तोमर, निदेशक हिम फैड कपूर सिंह वर्मा, निदेशक जोगिंदरा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक सुरेंद्र स्याल के अलावा पंचायत समिति सदस्य दीक्षा, गुल्हाड़ी पंचायत प्रधान एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण सदस्य मदन मोहन मेहता, प्रधान जाबली पंचायत दुनी चंद धीमान और प्रधान प्राथा पंचायत महेंद्र सिंह के अलावा विभिन्न पंचायत प्रतिनिधि और स्थानीय लोग मौजूद रहे।