सोलन, 21 जुलाई- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ राजीव सैजल ने कहा कि पौधारोपण अभियान के तहत सोलन जिला में करीब 2 लाख पौधे रोपे जाएंगे। डॉ राजीव सैजल ने यह बात आज कसौली विधानसभा क्षेत्र के तहत भोजनगर पंचायत में आयोजित 70वें वृत स्तरीय वन महोत्सव की अध्यक्षता करते हुए अपने संबोधन के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पौधारोपण अभियान केवल सरकार और वन विभाग का दायित्व ही नहीं है। समाज के हर वर्ग को इस अभियान के साथ जुड़कर पेड़ों के संरक्षण और संवर्धन के साथ निरंतर अपना जुड़ाव रखना चाहिए तभी आज रोपे जाने वाले लाखों पौधे भविष्य में विशालकाय पेड़ बन कर लहलहाएंगे।
उन्होंने कहा कि प्रकृति की कोख में उगे पेड़ मौन खड़े रहकर भी मानव की सेवा निस्वार्थ भाव से करते हैं। मानव जाति का भी यह नैतिक धर्म बनता है कि हम पेड़ों के अमूल्य सहयोग और भागीदारी को हमेशा अपने अंतर्मन में बिठा कर रखें तभी हम प्रकृति और पर्यावरण के महत्व को भी समझ सकते हैं। पेड़ और और प्रकृति का शोषण नहीं बल्कि संरक्षण नितांत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में हमें विश्नोई समाज से बहुत बड़ी सीख लेनी चाहिए।आज भी यह समाज पेड़ों के प्रति पूरी तरह से समर्पित है।
पुरातन भारतीय संस्कृति का जिक्र करते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि हम शुरू से ही प्रकृति, पेड़ों, पहाड़ों और पेयजल स्रोतों की पूजा करते आए हैं। इसके सांस्कृतिक और धार्मिक मायने यही हैं कि प्रकृति और पर्यावरण हमें सदैव जीवंत रखें।
डॉ सैजल ने ग्रामीणों की मांग पर कलोग गांव के लिए कौशल्या खड्ड पर पुली निर्माण, संपर्क मार्ग सेवत और संपर्क मार्ग हलदा से नेरी के लिए 1-1 लाख रुपए मुहैया करने की घोषणा भी की।
इससे पूर्व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने रीठा प्रजाति का पौधा रोपकर अभियान का श्रीगणेश किया। पौधरोपण अभियान में राजकीय सीनियर सैकेंडरी स्कूल भोजनगर के विद्यार्थियों ने जागरूकता रैली निकालकर पौधे भी रोपे।
इस मौके पर सोलन वृत्त के मुख्य वन अरण्यपाल हर्षवर्धन कथूरिया ने सोलन जिला में चलाए जाने वाले पौधारोपण अभियान की जानकारी दी। उन्होंने डॉ राजीव सैजल को वन विभाग की ओर से सम्मानित भी किया।
कार्यक्रम में भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष सुंदरम ठाकुर, निदेशक हिम फैड कपूर सिंह वर्मा के अलावा गुल्हाड़ी पंचायत प्रधान एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण सदस्य मदन मोहन मेहता, जिला परिषद सदस्य मीना वर्मा, वन विभाग समेत अन्य विभिन्न विभागों के अधिकारी और भोजनगर पंचायत प्रधान माला देवी भी मौजूद रही।