हमीरपुर, 13 अगस्त। सर्वकल्याणकारी संस्था की ओर से रविवार को उहल में 12 महिला मंडलों तथा मेधावी छात्रों, वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर बतौर मुख्यातिथि सर्वकल्याणकारी संस्था के अध्यक्ष राजेंद्र राणा ने कहा कि सर्वकल्याणकारी संस्था महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए प्रयासरत है तथा इसी दिशा में छठी बार सुजानपुर के महिला मंडलों को सम्मानित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि  मई माह से महिला मंडल सम्मान कार्यक्रम आयोजित करने का अभियान आरंभ किया गया था तथा उहल में इस अभियान का समापन हुआ है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र के सभी 580 महिला मंडलों को सम्मानित किया गया है। राजेंद्र राणा ने कहा कि अगले चरण में सभी महिला मंडलों को वाटर प्रूफ टैंट दिए जाएंगे ताकि महिला मंडल अपने अपने स्तर पर विवाह शादियों तथा अन्य कार्यक्रमों के दौरान इन वाटर प्रूफ टेंटों का इस्तेमाल कर सकें।
     उन्होंने कहा कि महिला मंडलों के लिए चरणबद्व तरीके से महिला मंडल भवन निर्माण के लिए सरकार की तरफ से बजट मुहैया करवाया जा रहा है ताकि महिला मंडल अपनी सामाजिक गतिविधियों को तेज कर सकें।
     उन्होंने कहा कि सर्वकल्याणकारी संस्था ने महिला सम्मेलन आयोजित करवाकर महिलाओं को आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने कहा कि संस्था के प्रयासों के फलस्वरूप ही सुजानपुर क्षेत्र के महिला मंडल अब सक्रिय तौर पर सामाजिक गतिविधियों में भी बढ़चढ़ कर भाग ले रहे हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से भी महिला सशक्तिकरण के लिए अनेकों योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं तथा बालिकाओं को निशुल्क शिक्षा उपलब्ध करवाने के साथ साथ मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, विधवा पुनर्विवाह योजना के अंतर्गत आर्थिक मदद भी मुहैया करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सर्वकल्याणकारी संस्था की तरह अन्य स्वैच्छिक संस्थाओं को भी महिला सशक्तिकरण के लिए आगे आना चाहिए। 
   राजेंद्र राणा ने कहा कि सर्वकल्याणकारी संस्था युवाओं को भी समाजिक प्रकल्पों के साथ जोडऩे के लिए कारगर कदम उठा रही है तथा नियमित तौर पर युवाओं द्वारा रक्तदान शिविर तथा खेलकूद प्रतियोगिताओं, नशाखोरी से दूर रहने के जागरूकता शिविर भी आयोजित किए जा रहे हैं।
   इस अवसर पर औद्योगिक निगम के निदेशक विनोद ठाकुर, युवा संपर्क विंग के अध्यक्ष अभिषेक राणा सहित संस्था के विभिन्न पदाधिकारी भी उपस्थित थे।
==========================================================================
राज्य में बारिश से 518 करोड़ का नुक्सान : राणा    
               राहत तथा पुनर्वास कार्यों के लिए सरकार ने उठाए कारगर कदम
    हमीरपुर, 13 अगस्त। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राजेंद्र राणा ने कहा कि बारिश से अब तक 518 करोड़ का नुक्सान हो चुका है जिसमें लोक निर्माण विभाग को 373 करोड़, आईपीएच विभाग को 124 करोड़, विद्युत विभाग को दो करोड़ 78 लाख, बागबानी के तहत दो करोड़ 33 लाख का नुक्सान हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में राहत तथा पुनर्वास के कार्यों में किसी तरह की कोताही नहीं बरतने तथा प्रभावितों को त्वरित प्रभाव से राहत प्रदान करने के दिशा निर्देश सभ्ीा जिलाधीशों को दिए गए हैं। राजेंद्र राणा ने कहा कि सभी जिला मुख्यालयों से प्रत्येक दिन नुक्सान की रिपोर्ट मांगी जा रही है। उन्होंने कहा कि नुक्सान की भारपाई के लिए केंद्र सरकार को भी रिपोर्ट भेजी जाएगी।
    यह जानकारी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राजेंद्र राणा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आपदाओं से निपटने के लिए कारगर कदम उठाए गए हैं तथा बारिशों के दौरान नुक्सान को कम करने के लिए भी आवश्यक प्रबंध किए जा रहे हैं। उन्होंने लोगों से भी नदी तथा नालों के आसपास नहीं जाने के लिए आग्रह किया गया है।
     उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर आवश्यक उपकरण जिला मुख्यालयों तथा उपमंडल मुख्यालयों में उपलब्ध करवाए गए हैं ताकि आपदा के दौरान राहत तथा पुनर्वास के कार्यों को त्वरित प्रभाव से आरंभ किए जा सकें। राजेंद्र राणा ने कहा कि हिमाचल में बारिशों के दौरान करोड़ों का नुक्सान होता है तथा बेहतर आपदा प्रबंधन के चलते इस नुक्सान को कम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी जिलाधीशों को निर्देश दिए गए हैं कि आपदा की दृष्टि से संवेदनशील नदियों तथा खड्डों के किनारे साइन बोर्ड लगाना भी सुनिश्चित किया गया है इसके साथ ही बरसात के दौरान नदियों तथा खड्डों के नजदीक झुगी झोपडिय़ों को भी खाली करवाया गया है।
     राजेंद्र राणा ने कहा कि मौसम विभाग के साथ भी नियमित तौर पर संपर्क करने के दिशा निर्देश भी दिए गए हैं ताकि बारिश से पहले ही लोगों को अलर्ट किया जा सके।