चंडीगढ़, 17 अक्तूबर - हरियाणा के राज्यपाल प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी ने आज विख्यात लेखक व पत्रकार नितिन ए0 गोखले की पुस्तक ‘सिक्युरिंग इंडिया दी मादी वे’ का विमोचन किया। यह पुस्तक प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के काल की सुरक्षा नीतियों, पठानकोट हमले, सर्जिकल हमलों और दोकलम संकट जैसे संकटों के प्रति जवाबदेही पर केंद्रित है। पुस्तक में लेखक ने राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति की नई पहल के लिए टीम नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण का अब तक का सबसे अंतरंग और व्यापक विवरण प्रदान किया है।
विमोचन समारोह का आयोजन पंजाब विश्वविद्यालय के सभागार में किया गया जिसमें सेवानिवृत लेफ्टिनेंट जनरल के0जेे0 सिंह, पंजाब विश्वविद्यालय की कार्यकारी कुलपति प्रो0 मीनाक्षी मल्होत्रा, रजिस्ट्रार कर्नल जी0एस0 चड्ढा, रक्षा अध्ययन विभाग में प्रोफेसर राकेश दत्ता, इंडियन एक्सप्रेस की स्थानीय संपादक सुश्री निरूपमा सुब्रह्मण्यम सहित अनेक वरिष्ठ साहित्यकार, रक्षा विशेषज्ञ, शिक्षक व विद्यार्थी उपस्थित थे।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल को अपना आदर्श मानते हैं और उन्हीं के द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलते हुए देश को 2047 तक सर्वश्रेष्ठ भारत बनाने की राह प्रशस्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल ने आजादी के समय देश में विद्यमान 565 रियासतों का विलय कर अखण्ड भारत का निर्माण किया था। इसके लिए उन्हें अत्यन्त साहसिक निर्णय लेने पड़े थे। उन्होंने जो रास्ता अपनाया वैसा रास्ता आज फिर अपनाने की जरूरत है। तभी हम 2047 में आजादी की स्वर्ण जयंती के समय स्वच्छ, स्वस्थ, समृद्ध, सम्पन्न, शिक्षित और सुरक्षित भारत बना पाएंगे।
पुस्तक के लिए लेखक नितिन ए0 गोखले को बधाई देते हुए राज्यपाल ने कहा कि यह पुस्तक हमें तथा युवा पीढी को यह विचार करने के लिए प्रेरित करती है कि मोदी जी का काम देश के लिए कितना उपयोगी है।
इससे पहले लेखक नितिन गोखले ने पुस्तक का परिचय दिया और लेफ्टिनेंट जनरल के0जेे0 सिंह ने राज्यपाल व अन्य अतिथियों का स्वागत किया।