ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल द्वारा छात्रों को औद्योगिक एक्सपोजर देने के लिए जिन्दल स्टेनलेस लिमिटेड, हिसार का एक दिवसीय औद्योगिक यात्रा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 
हिसार
-21 नवम्बर, 2017 : गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल द्वारा छात्रों को औद्योगिक एक्सपोजर देने के लिए जिन्दल स्टेनलेस लिमिटेड, हिसार का एक दिवसीय औद्योगिक यात्रा कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  औद्योगिक यात्रा में बीटेक (मैकेनिकल इंजीनियरिंग) विभाग के 32 विद्यार्थियों ने विभाग के शिक्षकों परमजीत लाम्बा तथा सुधीर नैन के साथ जिन्दल स्टेनलेस लिमिटेड के हिसार प्लांट का दौरा किया।  

 

ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल के निदेशक प्रताप सिंह मलिक ने बताया कि जिन्दल स्टेनलेस लिमिटेड, हिसार के मानव संसाधन प्रबंधक जगदीश तथा उत्पादन प्रबंधक अंशुल तिवारी ने विद्यार्थियों को स्क्रैप आयरन से स्टेनलेस स्टील बनाने की विभिन्न प्रक्रियाओं के बारे में अवगत करवाया।   उन्होंने औद्योगिक यात्रा के प्रबंधन में सहयोग के लिए विभागाध्यक्ष प्रो. एच.सी. गर्ग का आभार प्रकट किया। 

 

ट्रेनिंग एंड प्लेसमैंट सैल के सहायक निदेशक आदित्यवीर सिंह ने बताया कि इस दौरान विद्यार्थियों को कास्टिंग डिवीजन तथा हॉट रोलिंग डिवीजन का भी दौरा करवाया तथा उन्हें विभिन्न प्रकार के निर्मित उत्पादों के बारे में जानकारी दी गई।
===============================================

भौतिकी विभाग के सौजन्य से ऑप्टिकल सोसायटी ऑफ इंडिया के सहयोग से ‘एडवांसिज इन ऑप्टिक्स एंड फोटोनिक्स’ विषय पर 23 से 26 नवम्बर 2017 को अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

हिसार-21 नवंबर, 2017-गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के भौतिकी विभाग के सौजन्य से ऑप्टिकल सोसायटी ऑफ इंडिया के सहयोग से ‘एडवांसिज इन ऑप्टिक्स एंड फोटोनिक्स’ विषय पर 23 से 26 नवम्बर 2017 को अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।  सम्मेलन के संयोजक प्रो. देवेन्द्र मोहन ने बताया कि उद्घाटन समारोह 23 नवम्बर को सुबह 9:30 बजे विश्वविद्यालय केचौधरी रणबीर सिंह सभागार के सेमीनार हाल-1 में होगा। आईआरडीए, देहरादून के निदेशक बेंजामिन लियोनेल उद्घाटन समारोह के मुख्यातिथि होंगे।  एनआईटी कुरूक्षेत्र केडा. सतीश कुमार बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित होंगे जबकि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार समारोह की अध्यक्षता करेंगे।

प्रो. देवेन्द्र मोहन ने बताया किओएसआई सम्मेलनों और संगोष्ठियों के बीच सम्मेलनों की श्रृंखला में यह 41वां सम्मेलन है।  सम्मेलन का उद्देश्य विद्यार्थियों व शोधार्थियों को ऑप्टिक्स व फोटोनिक्स के क्षेत्र में प्रसिद्ध वैज्ञानिकों व शिक्षाविदों केसाथ बातचीत का अवसर प्रदान करना है।  सम्मेलन में भाग लेने केलिए विश्व के विभिन्न भागों से 400 से अधिक शोधपत्र प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 270 शोध पत्र प्रस्तुत किए जाएंगे।  सम्मेलन केतकनीकी कार्यक्रम में दुनिया भर के प्रसिद्ध शोधकर्ताओं द्वारा विशेष एवं आमंत्रित व्याख्यान शामिल होंगे।
प्रो. देवेंद्र मोहन बताया कि सम्मेलन के तकनीकी कार्यक्रम में इजराईल केज़ीव ज़लेवस्काई, यूएसए के ए. लखटकिया, यूकेके डेनियल फेसियो व स्पेन के पाबलो अरटल जैसे प्रसिद्ध शिक्षाविदों द्वारा 13 तकनीकी सत्र तथा 4 व्याख्यान होंगे।  यूएसए के प्रो. विरेन्द्रा महाजन व पदमश्री प्रो. आर.एस. सिरोही द्वारा दो विशेष व्याख्यान दिए जाएंगे।  सम्मेलन केतकनीकी अध्यक्ष प्रो. केहर सिंह ने पूरे कार्यक्रम को तैयार किया है।  सम्मेलन में चलने वाले 13 तकनीकी सत्रों में सेमिनार हॉल नंबर 1, 2 और 3 में तीन समानांतर सत्र होंगे जिनमें 32 आमंत्रित व्याख्यान व 90 से ज्यादा मौखिक प्रस्तुतियां दी जाएंगी। इनमें से 170 पोस्टर प्रस्तुतिओं के लिए तीन पोस्टर सत्र निर्धारित किए गए हैं।