Solan,03.12.17-उपायुक्त राकेश कंवर ने कहा कि दिव्यांग बच्चों को सही समय पर सही मार्गदर्शन मिलना आवश्यक है। उपायुक्त आज यहां विश्व विकलांगता दिवस पर आयोजित जि़ला स्तरीय कार्यक्रम के अवसर पर जि़लाभर से आए विशेष बच्चों, अभिभावकों एवं विशेष अध्यापकों को सम्बोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम का आयोजन जि़ला कल्याण विभाग तथा सर्वशिक्षा अभियान के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। 

राकेश कंवर ने कहा कि दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित कर समाज की मुख्यधारा में शामिल करने के लिए सभी वर्गों का सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि अक्षम बच्चे विशेष रूप से प्रतिभावान होते हैं और यदि समय पर मार्गदर्शन मिले तो ये बच्चे अनेक अचम्भित कर देने वाले कार्य कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजन समाज का अभिन्न अंग हैं और उनके उत्थान की दिशा में सभी को मिल-जुलकर कार्य करना चाहिए। उन्होंने इस दिशा में कार्यरत अध्यापकों, स्वयंसेवी संस्थाओं एवं अभिभावकों को बधाई देते हुए कहा कि इन सब के समग्र प्रयासों से आज दिव्यांग अनेक रूप से लाभान्वित हो रहे हैं। 

उपायुक्त ने उप निदेशक उच्च एवं प्रारम्भिक शिक्षा को निर्देश दिए कि वे विद्यालयों में विशेष बच्चों की आवश्यकताओं का ध्यान रखें और यह सुनिश्चित बनाएं की उनकी शिक्षा-दिक्षा उचित प्रकार से हो पाए। उन्होंने कहा कि सोलन जि़ला के विशेष बच्चों ने राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान कायम की है।

उन्होंने कहा कि जि़ला प्रशासन दिव्यांगों की समस्याओं के प्रति गंभीर है तथा हर स्तर पर इनके निराकरण के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों की त्वरित सहायता के उद्देश्य से प्रत्येक वीरवार को क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में अक्षम व्यक्तियों का प्रमाणपत्र निःशुल्क बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसे चिकित्सा शिविर जि़ले के अन्य भागों में भी समय-समय पर आयोजित किए जाते हैं ताकि दिव्यांगों को उनके घर-द्वार पर ही सुविधाएं मिल सकें।

इस अवसर पर भारतीय मस्कुलर डिस्ट्रॉफी संघ के राष्ट्रीय महासचिव विपुल गोयल ने भी उपस्थित जन समूह को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि विकलांगता अभिशाप नहीं है और उचित परामर्श एवं मार्गदर्शन के द्वारा दिव्यांग व्यक्ति समाज में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। 

जिला शैक्षणिक प्रशिक्षण केन्द्र के प्रधानाचार्य संजीव ठाकुर ने मुख्यातिथि एवं अन्य का स्वागत किया। जिला कल्याण अधिकरी बीएस ठाकुर ने दिव्यांगों के लिए कार्यन्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तृत जानाकरी प्रदान की। 

इस अवसर पर दिव्यांग बच्चों के मध्य विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई, जिसमें विजेताओं तथा प्रतिभागियों को मुख्यातिथि द्वारा सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया। 

उप निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा डॉ. चन्द्रेशवर शर्मा, गणपति एजुकेशन सोसायटी अर्की के डॉ. रोशन लाल सहित दिव्यांग बच्चे एवं उनके अभिभावक इस अवसर पर उपस्थित थे।