हिसार-18 दिसम्बर 2017-अनुसूचित जाति कर्मचारी कल्याण संघ, गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार का धरना 19वें दिन भी जारी रहा। संघ के सदस्यों ने कर्मचारियों की मांगों को लेकर पुलिस प्रशासन व विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 
धरने को सम्बोधित करते हुए अनुसूचित जाति कर्मचारी कल्याण संघ की प्रधान सुमन भोला ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन विश्वविद्यालय के किसी भी कर्मचारी को पदोन्नत करने के लिए तैयार नहीं है। संघ द्वारा धरने व प्रदर्शन करके बैकलॉग की सीटों को निकलवाया था, अब प्रशासन उन सीटों पर पदौन्नत करने के लिए तैयार नहीं है। संघ सभी बैकलॉग की सीटों पर पदौन्नत करने की मांग कर रहा है। संघ के उपप्रधान रामनिवास अठवाल ने कहा कि प्रशासन संघ की किसी भी मांग को पूरा करने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक प्रशासन संघ की मांगों को पूरा नहीं करेगा तब तक संघ धरने पर रहेगा, जिसका खामियाजा विश्वविद्यालय प्रशासन को भुगतना पड़ेगा। संघ के महासचिव ओमप्रकाश दहिया ने कहा कि प्रशासन संघ की जायज मांगों को नजरअंदाज कर रहा है, जो गलत है। विश्वविद्यालय प्रशासन को विश्वविद्यालय के सभी कर्मचारियों को एक समान लेकर चलना चाहिए। प्रशासन कर्मचारियों के बीच फूट डालने का कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि यदि विश्वविद्यालय प्रशासन सोमवार सांय तक उपकुलसचिव सुरेन्द्र सिंह के खिलाफ विभागीय कार्यवाही नहीं करता है तो संघ उपकुलसचिव सुरेन्द्र सिंह के खिलाफ मान्नीय न्यायालय में इस्तगासा दायर करेगा, जिसकी जिम्मेवारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी। ज्ञात रहे कि संघ रोस्टर प्रणाली को दुरस्त करने तथा स्थापना शाखा के उपकुलसचिव द्वारा किए गए दुर्व्यवहार एवं जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने के विरूद्ध धरने पर बैठा हुआ है। इस अवसर पर उदयभान चौपड़ा, इन्द्राज भारती,  कपिल मुदई, ईश्वर सिंह दुड़ा, ओमप्रकाश, विजय डाबला, अनिल कुमार, राजकुमार, राजसिंह, दयानन्द, खुशीराम, सूरजभान, बलजीत सिंह, बलराज, मनौज कुमार, सुभाषचन्द्र, कवल सिंह, नवीनचन्द्र, रूपराम, उपेन्द्र, छबीलदास, कर्मबीर रंगा, मास्टर अमरजीत, बारूराम, नारायण सिंह, बिशन लाल, शिव दयाल रंगा, सुरेन्द्र पाल, कमलजीत, सुनील चौहान, कमल कुमार, महाबीर, ज्ञानोदेवी, माया देवी, सतपाल नागर, शकुन्तला, प्रोमिला, सुखदेव, रघुवीर सिंह, जयबीर धानिया, राकेश भुक्कल, रामफल लोहान, पवन व देवेन्द्र सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।