7 फरवरी, रोहतक-आज आम आदमी पार्टी हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद बसाना के शहीद मोनू के घर सांत्वना देने पहुचे, पिता, पुत्र व भाई सब फ़ौज़ मे, अत्यंत दर्दनाक, शोक से पिता के आखों के आशु नही रुके |

नवीन जयहिंद ने कहा कि शहीद के परिवार को शहीद की तेहरवी से पहले 1 करोड़ की आर्थिक सहायता मिले व शहीद की पत्नी को सरकार नौकरी दे |

नवीन जयहिंद ने कहा कि अब तो जवान भी कहने लगे है आर –पार की लड़ाई हो पर सरकार चुप्पी सधे हुए , आये दिन प्रदेश के जवान शहीद हो रहे है|

 जयहिंद ने कहा कि प्रदेश के शहीदों की आवाज अब युवाओं को उठानी पड़ेगी | शहीद के परिवार का दर्द सिर्फ उसी परिवार को पता है |

जयहिंद ने मांग की कि शहीदों के परिवारों का दर्द समझने के लिए एक सप्ताह भारत पाक के उस बॉर्डर पर रहना चाहिए जहाँ हर रोज गोलीबारी होती है और साथ में देश के सभी मुख्यमंत्रीयो, विधायकों,सांसदों को या उनके परिवार के किसी नौजवान को भी बॉर्डर पर एक सप्ताह का समय बिताना चाहिये, गोलीबारी की जगह पर केबिनेट की मीटिंग करे व मंत्री जो छुट्टियाँ मन्नाने कुल्लू –मनाली जाते है अबकी बार गोलीबारी वाली जगह छुट्टियाँ मानाने जाये ताकि जो सैनिकों की तपस्या पर आराम की जिंदगी जी रहें है, उन्हें भी पता लगे की एक सैनिक किन कठिन परिस्थितियों का सामना कर देश को महफूज रखता है। क्योकि आज तक नेताओं ने देश से बहुत सारी सुविधाएं ली और सैनिकों ने देश के लिए अपना घर, सुख और अपनी जान तक देश न्योछावर करते है लेकिन समाज और सरकार सैनिको पर क्या न्योछावर करते है |

जयहिंद ने कहा कि फौजी/शहीद अपने परिवार से हमेशा दूर रहता है , फौजी/शहीद का परिवार हमेशा संघर्ष में जीवन जीता है तो फौजी/शहीद के परिवार को राष्ट्र का परिवार का दर्जा दिया जाये और उनके पालन –पोषण , पढ़ाई रोजगार की जिम्मेदारी पूरी तरह से सरकार उठाये |