चंडीगढ़,10.02.18- महर्षि दयानंद सरस्वती के जन्मोत्सव के मौके पर आर्य समाज सेक्टर 7 बी चंडीगढ़ में अटूट लंगर का आयोजन किया गया। इस दौरान लोगों को कढ़ी, चावल, पकोड़े और हलवे लंगर वितरित किया गया। केंद्रीय आर्य सभा के प्रधान  रविंद्र तलवाड़ ने बताया कि दयानंद सरस्वती का जन्म टंकारा  के पास काठियावाड़ क्षेत्र गुजरात में हुआ था। उनके पिता का नाम करशनजी तिवारी और माँ का नाम यशोदाबाई था। उनके पिता ब्राह्मण परिवार के एक अमीर, समृद्ध और प्रभावशाली व्यक्ति थे। दयानंद सरस्वती का असली नाम मूलशंकर था। उन्होंने गुरु विरजानंद  से पाणिनी व्याकरण, पातंजल-योगसूत्र तथा वेद-वेदांग का अध्ययन कराया। महर्षि दयानन्द ने तत्कालीन समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों तथा अन्धविश्वासों और रूढियों-बुराइयों को दूर  किया। उन्होंने  जाति - पाति
का विरोध किया तथा कर्म के आधार वेदानुकूल वर्ण-निर्धारण की बात कही। वे दलितोद्धार के पक्षधर थे। उन्होंने स्त्रियों की शिक्षा के लिए प्रबल आन्दोलन चलाया। उन्होंने बाल विवाह तथा सती प्रथा का निषेध किया तथा विधवा विवाह का समर्थन किया।  उन्होंने यह भी माना कि जीव कर्म करने में स्वतन्त्र हैं तथा फल भोगने में परतन्त्र हैं।  वे सामाजिक पुनर्गठन में सभी वर्णों तथा स्त्रियों की भागीदारी के पक्षधर थे। राष्ट्रीय जागरण की दिशा में उन्होंने सामाजिक क्रान्ति तथा आध्यात्मिक पुनरुत्थान के मार्ग को अपनाया। उनकी शिक्षा सम्बन्धी धारणाओं में प्रदर्शित दूरदर्शिता, देशभक्ति तथा व्यवहारिकता पूर्णतया प्रासंगिक तथा युगानुकूल है। महर्षि दयानन्द समाज सुधारक तथा धार्मिक पुनर्जागरण के प्रवर्तक तो थे ही, वे प्रचण्ड राष्ट्रवादी तथा राजनैतिक आदर्शवादी भी थे। महर्षि दयानन्द ने मुम्बई में आर्यसमाज की स्थापना की। आर्यसमाज के नियम और सिद्धांत प्राणिमात्र के कल्याण के लिए है। मीडिया प्रभारी डॉ.  विनोद कुमार ने बताया कि14 फरवरी से चंडीगढ़ केंद्रीय सभा द्वारा आर्य समाज सेक्टर 7 में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।  आयोजित कार्यक्रम में प्रातः काल 7:00 से 8:30 बजे तक  भक्तिमय भजन और प्रवचन होंगे।  सायंकल  काल 5:30 से 7:15 बजे तक वेद प्रवचन एवं भजन प्रस्तुत होंगे।  मुख्य उत्सव 17 फरवरी को होगा।  15 फरवरी को शोभा यात्रा का विशेष आयोजन किया जाएगा।  यह शोभायात्रा काफी विशाल होगी जिसमें भिन्न - भिन्न आर्य समाजों और डीएवी शिक्षण संस्थाएं विशेष तौर पर भाग ले रही हैं। शोभायात्रा आर्य समाज सेक्टर 7 से आरंभ होकर सेक्टर-27 की आर्य समाज में संपन्न होगी।