सोलन-दिनांक 10.02.2018-उायुक्त सोलन हंसराज शर्मा ने कहा कि यूको ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (यूको आरसेटी) द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम जिले के युवाओं को बेहतर स्वरोजगार एवं रोजगार उपलब्ध करवाने की दिशा में महत्वपूर्ण हैं। हंसराज शर्मा गत सांय यहां यूको आरसेटी सलाहकार समिति की 23वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। 
हंसराज शर्मा ने कहा कि वर्तमान में युवा विभिन्न रोजगारपरक प्रशिक्षण प्राप्त कर न केवल स्वंय राजगार प्राप्त कर सकते हैं अपितु अन्य को भी अच्छा रोजगार प्रदान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस दिशा में यूको आरसेटी महत्वपूर्ण है।  उन्होंने कहा कि यूको ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (यूको आरसेटी) को ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने चाहिएं, जो युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के बेहतर अवसर प्रदान कर सकें।
उपायुक्त ने जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी को निर्देश दिए कि यूको आरसेटी के प्रशिक्षण कार्यक्रमों की जानकारी ग्रामीण युवाओं तक पंहुचाना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने कहा कि उद्योग जगत की मांग के अनुरूप ही प्रशिक्षण कार्यक्रमों के पाठ्यक्रम तैयार किए जाने चाहिएं। उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रमों में गुणवत्ता बनाए रखने पर बल दिया।
इस अवसर पर यूका आरसेटी के वर्ष 2018-19 के 02 करोड़ 38 लाख रुपए के बजट का अनुमोदन भी किया गया।
यूको ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान के निदेशक राजेश तोमर ने इस अवसर पर संस्थान की विभिन्न गतिविधियों की जानकारी प्रदान की।  उन्होंने कहा कि संस्थान द्वारा प्रथम अप्रैल, 2017 से 31 दिसम्बर, 2017 तक 399 युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि संस्थान उद्योग की मांग तथा स्वरोजगार के अनुसार ही प्रशिक्षण उपलब्ध करवाता है। 
राजेश तोमर ने वर्ष 2018-19 में यूको आरसेटी द्वारा कार्यान्वित किए जाने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी प्रदान की।
जिला ग्रामीण विकास अभिकरण (जलागम) के परियोजना निदेशक रतीराम, उप निदेशक बागवानी बी.एस. गुलेरिया, जिले के अग्रणी बैंक यूको बैंक के प्रबन्धक जेपी नेगी, उद्योग विभाग के प्रसार अधिकारी ओपी शर्मा बैठक में उपस्थित थे।
.0.