चण्डीगढ़,13.02.18-पिछले दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी की मनीमाजरा में हुई सभा में बसपा नेता नेतराम अपने साथियों सहित कांग्रेस में शामिल हुए थे जिस पर स्थानीय कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने एतराज जताया था व कहा कि कोई भी पार्टी में तभी शामिल हो सकता है जब पार्टी के स्थानीय अध्यक्ष अथवा पार्टी हाईकमान इसके लिए हामी भरे। प्रदीप छाबड़ा के इस बयान की  वरिष्ठ कांग्रेस नेता राज नागपाल, जो आल इंडिया राजीव मेमोरियल सोसायटी के अध्यक्ष भी हैं, ने कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी किसी की निजी मलकीयत नहीं है। अपनी संस्था की बैठक में मौजूद पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज यहां पार्टी का जनाधार पवन बंसल जैसे नेताओं के कारण सिकुड़ रहा है। वहीं यदि कोई अन्य नेता पार्टी के जनाधार को बढ़ाने के प्रयास के तहत दूसरी पार्टी के नेताओं अथवा अन्य लोगों को पार्टी के साथ जोड़ रहा है तो इसमें आपत्ति की क्या बात है? आगामी लोकसभा चुनाव अब ज्यादा दूर नहीं रहा। इसलिए भाजपा को मात देने के लिए एक दूसरे को नीचा दिखाने के बजाए पार्टी को सम्मिलित रूप से प्रयास करना चाहिए। नागपाल ने मनीष तिवारी के प्रयासों की सराहना की व कहा कि उन्हें प्रदीप छाबड़ा के बयानों को दरकिनार करके अपने प्रयास को जारी रखना चाहिए। इस बैठक में मास्टर बलजीत, मदन लाल अरोड़ा, आर डी शर्मा, रचित, दिनेश, सीमा शर्मा व पूनम आदि भी मौजूद थे ।