धर्मशाला, 19 फरवरी: कांगड़ा जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष एवं सांसद शांता कुमार ने अधिकारियों से केंद्र सरकार की योजनाओं को धरातल पर प्रभावी तरीके से लागू करने और कार्यान्वयन में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने को कहा । उन्होंने सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों के चयन में पारदर्शिता बरतने और पात्र लोगों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाना सुनिश्चित बनाने पर जोर दिया शांता कुमार आज जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति ‘दिशा’ की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे । बैठक में खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर, शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार उपस्थित रहे । इसके अलावा जयसिंहपुर के विधायक रविंद्र धीमान, बैजनाथ के विधायक मुल्खराज प्रेमी, ज्वाली के विधायक अर्जुन ठाकुर, नगरोटा बगवां के विधायक अरूण मेहरा और इंदौरा की विधायक रीता धीमान व पूर्व विधायक दूलो राम भी बैठक में मौजूद रहे।
इन योजनाओं की प्रगति का लिया जायजा
बैठक में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना, दीनदयाल अंत्योदय आजीविका मिशन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, स्मार्ट सिटी मिशन धर्मशाला, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना,प्रधानमंत्री कौषल विकास योजना सहित विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन से जुड़े सभी पहलुओं की चर्चा एवं समीक्षा की गई । 
इसके अतिरिक्त बैठक में पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग को फोर लेन बनाने की योजना के तहत सड़क संरेखण कार्य की समीक्षा भी की गई ।
ग्राम सड़क योजना में उपेक्षित गावों को दें प्राथमिकता
शान्ता कुमार ने जिला में चल रही विभिन्न विकास योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा के दौरान प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत ऐसे गावों को सम्पर्क मार्गों से जोड़ने को प्राथमिकता देने पर जोर दिया जो अभी भी सड़क संपर्क से महरूम हैं । उन्होंने संबंधित विभाग को भी सर्वेक्षण कर ऐसे गावों बारे रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए जिन्हें अभी भी किसी प्रकार की सड़क सुविधा से नहीं जोड़ा जा सका है। 
उन्होंने कहा कि पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग को फोर लेन बनाने के कार्य में अधिकारियों को कस्बों के बाहर से बाई पास बनाने और जमीन अधिग्रहण के मामले में लोगों के हितों का पूरा ख्याल रखने के निर्देश दिए गए हैं । उन्होंने जिला प्रशासन को शीघ्र जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया आरंभ करने को कहा। 
उन्होंने कहा कि जिन पंचायतों में घरों में शौचालयों का निर्माण नहीं हुआ है, वहां पर मनरेगा के तहत शौचालयों का निर्माण करवाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत खर्च धन से जमीन पर कितना स्थाई निर्माण हुआ है इस पर ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इस बारे विस्तूत रिपोर्ट सौपने के निर्देश दिए। उन्होंनें सभी विभागाध्यक्षों को अगली बैठक में अपने-अपने विभाग से जुड़ी योजनाओं के लाभार्थियों का विस्तृत ब्यौरा प्रस्ततु करने के भी निर्देश दिये। 
उन्होंने स्वच्छता मिशन के तहत् कूड़ा-कचरा प्रबंधन की व्यापक व्यवस्था सृजित करने पर जोर दिया। उन्होंने राज्य सरकार को कचरा प्रबंधन में नवीनतम तकनीकी का प्रयोग करने और विशेषज्ञों की राय एवं सहायता लेकर प्रभावी कदम उठाने का आग्रह किया । 
उन्होंने शिक्षा विभाग से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा करते हुए सरकारी स्कूलों में बच्चों के दाखिले कम होने और प्राइवेट स्कूलों के प्रति बढ़ते रूझान पर चिंता व्यक्त की । उन्होंने कहा कि इस स्थिति में सुधार के लिए ठोस कदम उठाने जरूरी हैं।
मंत्रियों ने कहा: जमीनी स्तर पर परिवर्तन लाने के लिए करें कार्य
इस दौरान उपस्थित सभी मंत्रियों एवं विधायकों ने योजनाओं को बेहतर तरीके से लागू करने को लेकर बहुमूल्य सुझाव दिए।
 खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर, शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी, और स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने केंद्र सरकार द्वारा योजनाओं के लिए प्रदान किए जा रहे धन का पूरा लाभ आम नागरिकों तक पहुंचाने के लिए प्रभावी तरीके से कार्य करने पर बल दिया। उन्होंने जनकल्याण के कार्यों को प्राथमिकता देने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया।
खाद्य आपूर्ति मंत्री, शहरी विकास मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने सरकार की योजनाओं को जमीन पर पूरा-पूरा पहुंचाने को सभी की सामूहिक जिम्मेदारी बताते हुए जमीनी स्तर पर परिवर्तन लाने के लिए कार्य करने को कहा। 
इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने कहा कि जिला प्रशासन केन्द्र एवं प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए पूरे समर्पण से कार्य कर रहा है। उन्होंने समिति को जिला में चल रही विभिन्न विकास गतिविधियों की प्रगति से अवगत करवाया । उन्होंने विश्वास दिलाया कि समिति द्वारा दिये गये सुझावों एवं निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित बनाई जाएगी।
बैठक में नगर निगम के आयुक्त संदीप कदम ने धर्मशाला मंे 
स्मार्ट सिटी मिशन के कार्यान्वयन सहित शहरी विकास की विभिन्न योजनाओं की स्थिति एवं प्रगति बारे अवगत करवाया। इसके अतिरक्त अन्य विभागाध्यक्षों ने संबंधित योजनाआंे के कार्यान्वयन एवं प्रगति बारे जानकारी दी। 
अतिरिक्त उपायुक्त केके सरोच ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। 
बैठक में समिति के गैर सरकारी सदस्य एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।