चंडीगढ़, 19 फरवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा की मौलिक सांस्कृतिक व आंचलिक पहचान के संरक्षण व संवर्धन के लिए हरियाणा सरकार द्वारा शीघ्र ही फिल्म नीति की घोषणा करने जा रही है। हरियाणा में एक फिल्म विश्वविद्यालय भी विकसित किया जाएगा। 
नई दिल्ली में भारतीय चित्र साधना द्वारा आयोजित तीन दिवसीय (19-21 फरवरी) चित्र भारती चलचित्र उत्सव को संबोधित किया। तीन दिवसीय चित्र भारती चलचित्र उत्सव को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ने भी संबोधित किया। 
हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि बॉलीवुड में हरियाणवी संस्कृति व हरियाणवी बोली अपना स्थान बनाती जा रही है। ‘दंगल’ व ‘सुल्तान’ जैसी बॉलीवुड की फिल्मों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा में फिल्मों के निर्माण के लिए अपार संभावनाएं हैं। भारत में हिन्दी सिनेमा के साथ सामानांतर रूप से क्षेत्रिय सिनेमा का भी व्यापक विस्तार हुआ है। सिनेमा सांस्कृतिक, सामाजिक, राजनैतिक व आर्थिक परिस्थितियों को अभिव्यक्त करता है। सिनेमा उद्योग से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से लाखों लोगों को रोजगार उपलब्ध हो रहा है। हरियाणा में फिल्म निर्माण उद्योग को प्रोत्साहित करने व बढ़ावा देने की दिशा में हरियाणा सरकार द्वारा शीघ्र ही फिल्म नीति घोषित की जाएगी।
        हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि सिनेमा वर्तमान में जीवन में गहरे से जुड़ा है। पहले फिल्मों में आम जनमानस के जीवनवृत्त तथा विभिन्न सामाजिक संदर्भों का समावेश रहता था। सिनेमा आज प्रयोगात्मक हो गया है। वर्तमान में फिल्मों के निर्माण में व्यवसायिक उदेश्यों की प्राथमिकता बढ़ती जा है। फिल्मों में सामाजिक व नैतिक पहलुओं के सही रूपों में समावेश की ओर अधिक ध्यान देने की भी आवश्यकता है। उन्होंने वर्तमान में उच्च सामाजिक व नैतिक मूल्यों को पोषित करने वाली प्रेरणादायक फिल्मों के अधिकाधिक निर्माण की आवश्यकता पर बल दिया।
       विवरणानुसार तीन दिवसीय चित्र भारती चलचित्र उत्सव में भारतीय संस्कृति, राष्ट्रीय चेतना, सामाजिक चेतना, लोक कलाओं, सामाजिक सौहार्द, महिला उत्थान, पर्यावरण संरक्षण 
 सामाजिक मूल्यों व सांस्कृतिक मूल्यों से युक्त फिल्में शामिल रहेंगी। चित्र भारती चलचित्र उत्सव में 22 प्रदेश प्रतिभागिता कर रहे हैं। चित्र भारती चलचित्र उत्सव में कुल 16 भाषाओं की 750 फिल्में शामिल रहेंगी। 
      भारतीय चित्र साधना के अध्यक्ष श्री आलोक ने तीन दिवसीय चित्र भारती चलचित्र उत्सव में अपने स्वागत संबोधन में हर्ष व्यक्त किया कि हरियाणा सरकार हरियाणा में एक फिल्म विश्वविद्यालय स्थापित करेगी। चित्र भारती चलचित्र उत्सव को भारतीय सिनेमा की ड्रीम गर्ल अभिनेत्री श्रीमती हेमा मालिनी व फिल्म अभिनेता अर्जुन रामपाल ने संबोधित किया। चित्र भारती चलचित्र उत्सव को संस्कार भारती के पूर्व अध्यक्ष श्री राजदत्त, फिल्म निर्माता श्री मधुर भंडारकर फिल्म निर्माता श्रीमती मंजू बोहरा, फिल्म निर्माता श्री प्रियदर्शन ने भी संबोधित किया। चित्र भारती चलचित्र उत्सव में भारतीय चित्र साधना के महासचिव श्री राकेश मित्तल द्वारा सिनेमा पर लिखित पुस्तक का विमोचन भी किया गया।