हमीरपुर 21 मार्च- समाज में महिलाएं तभी सशक्त होंगी जब बेटा बेटी में फैली असमानता दूर होगी। जिसके लिए जिला हमीरपुर में लिंगानुपात में सुधार कर महिलाओं ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की जिसके लिए नारी शक्ति और जिला प्रशासन बधाई का पात्र है। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने टौणी देवी में आयोजित खंड स्तरीय महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में  उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कही। धूमल ने कहा कि प्रदेश में बेटी बचाओ बेटी पढ.ाओ अभियान शुरू किया गया हेै अभियान की सफलता के लिए  महिलाओं की भागीदारी की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं ने प्रत्येक क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो, राजनीति का क्षेत्र हो, खेलकूद या फिर आसमान में जहाज उड.ाने की बात हो, महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी अमिट छाप छोड.ी है। उन्होंने कहा कि पूर्व में जब भाजपा की सरकार थी तो बेटी है अनमोल और माता शबरी देवी महिला सशक्तिकरण योजना शुरू की थी जिसे अब प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के नाम से जाना जाता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के कल्याणार्थ अनेक  योजनाएं चलाई जा रही हैं जिनका लाभ लेने के लिए महिलाओं को स्वयं जागरूक होकर आगे आना होगा।
       उन्होंने कहा कि महिला ही समाज की अहम कड.ी है यदि महिला सशक्त है तो समाज सशक्त है। महिलाओं ंका जीवन चुनौतियों से भरा पड.ा है लेकिन उनमें चुनौेतियों से मुकाबला करने का साहस है। लोगों से आहवान किया कि वे महिलाओं को मान सम्मान दें और इसकी शुरूआत अपने घर से ही करें। उन्होंने कहा कि यदि महिलाओं को आदर व सम्मान दिया जाएगा तो समाज हमेशा ही उन्नति की ओर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि अपने बच्चों में महिलाओं के प्रति आदर सत्कार की भावना  पैदा करें। उन्हेंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए अनेकों कानून बनाए गए हैं जिनके प्रति सभी महिलाओं को जागरूक होना चाहिए। 
इस मौके पर उन्होंने बेहतरीन कार्य करने वाली आंगनबाड.ी कार्यकर्ताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस मौके पर सीडीपीओ कुलदीप चौहान ने मुख्यातिथि तथा अन्य अतिथितियों का स्वागत किया और विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी तथा पात्र लोगों को इन योजनाओं को लाभ लेने का आग्रह किया। सीडीपीओ कल्याण ठाकुर ने भी विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। उपेन्द्र परमार ने बाल संरक्षण के बारे में विस्त
इस अवसर पर पवन कुमार, विजय बहल के अतिरिक्त अन्य गणमन्य व्यक्ति उपस्थित रहे।