चण्डीगढ़ 20 मई: इन्सान को जब यह ज्ञात होता है कि वह सी सी टी वी कैमरे के अन्तर्गत है तो वह सावधान हो जाता है ताकि उससे कोई भी ऐसा कार्य न हो जाए जो कानूनके विरूद्ध हो क्योंकि उसे इस बात का एहसास होता है कि मेरी हर हरकत कैमरे में रिकार्ड हो रही है लेकिन अज्ञानता के कारण कण-कण में विराजमान अन्तर्यामीपरमात्मा रूपी अदृश्य कैमरे से इन्सान बिल्कुल नहीं डरता, जिस दिन भी इसे यह जानकारी हासिल हो जाती है कि परमात्मा हर समय मेरे साथ है और यह मेरे अन्दर बाहरकी हर हरकत को रिकार्ड कर रहा है तो इससे कोई भी गल्ती नहीं होगी, ये उद्गार आज यहां इंग्लैंड से आई निरंकारी प्रचारिका श्रीमति विमल कुन्दी जी ने यहां सैक्टर 30-ऐमें स्थित सन्त निरंकारी सत्संग भवन में हुए विशाल सत्संग समारोह में हज़ारों की संख्या में उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए ।

 

श्रीमति कुन्दी ने ज़माने की चर्चा करते हुए कहा कि आमतौर पर हम कह देते हैं कि ज़माना खराब है असल में ज़माना खराब नहीं हमारा कर्म खराब होता है यदिब्रह्मज्ञान जीवन में ढल जाए तो इन्सान का जीवन एक सन्तों वाला जीवन बन जाएगा फिर सारा संसार उसे एक ही परिवार के रूप में नज़र आएगा जिससे वह कभी भी नकिसी का बुरा सोचेंगा और न ही करेगा।

 

सत्गुरू माता सविन्द्र हरदेव जी महाराज द्वारा दिए गए उदाहरण को दोहराते हुए श्रीमति कुन्दी ने कहा कि किसी स्थान पर लोगों को आग बुझाने में भाग-दौड़करते देख एक चिडि़या भी अपनी चोंच से पानी भर कर वहां डालने लगी तो उससे किसी ने कहा कि आपके इस प्रयत्न से यह आग बुझने वाली नहीं है तो यह सुन करचिडि़या ने उत्तर दिया कि चाहे इससे आग न बुझे लेकिन मेरा नाम आग बुझाने वालों की लिस्ट में तो आ जाएगा । इसीप्रकार हमें भी जितनी भी अपनी हैसियत हो हमेशादूसरों की भलाई के लिए कार्य करते रहना चाहिए ।

 

इससे पूर्व यहां के ज़ोनल इन्चार्ज श्री के. के. कश्यप व श्रीमति भगवान देवी नन्दवानी ने श्रीमति कुन्दी जी का यहां आने पर धन्यवाद किया तथा यहां के संयोजक श्रीनवनीत पाठक जी ने सर्वत्र साधसंगत की ओर से उनका स्वागत किया ।