NEWS FROM SOLAN

सोलन-दिनांक 13.06.2018      
मस्तिष्क ज्वर पर जागरूकता कार्यशाला आयोजि
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन द्वारा आज यहां मस्तिष्क ज्वर से संबंधित जागरूकता कार्यशाला आयोजित की गई। यह जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनके गुप्ता ने दी। 
डॉ. गुप्ता ने कहा कि कार्यशाला में इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान चिकित्सा संस्थान के शिशु रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अश्विनी सूद ने मस्तिष्क ज्वर से संबंधित विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि यह बुखार क्यूलिकस मच्छरों के काटने से फैलता है। इस ज्वर का विषाणु सूअर एवं जंगली पक्षियों में पाया जाता है। उन्होंने मस्तिष्क ज्वर के लक्षणों एवं बचाव के उपायों पर सारगर्भित जानकारी प्रदान की। 
कार्यशाला में पशुपालन विभाग के पशु चिकित्सक डॉ. ललित कुमार एवं वन विभाग के क्षेत्रीय वन अधिकारी मुकेश कुमार विशेष रूप से उपस्थित रहे। 
डॉ. एनके गुप्ता ने सभी खंड चिकित्सा अधिकारियों, स्वास्थ्य शिक्षा पर्यवेक्षकों एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में लक्षणों के आधार पर मस्तिष्क ज्वर पर नजर रखें और लोगों को इस संबंध में जागरूक बनाएं।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मस्तिष्क ज्वर के संबंध में पूरी तरह सजग है और विशेष रूप से धर्मपुर विकास खंड के विभिन्न गांवों में पूर्ण एहतियात बरती जा रही है। उन्होंने जिले के सभी चिकित्सा खंडों में इस संबंध में चौकस रहने के निर्देश दिए।
.===================================================================================
 सोलन-दिनांक 13.06.2018          

 शूलिनी मेले के संबंध में निर्देश जारी           

 राज्य स्तरीय शूलिनी मेला-2018 के दृष्टिगत जिला दण्डाधिकारी विनोद कुमार ने आमजन की सुविधा तथा यातायात व्यवस्था को बनाए रखने की दृष्टि से महत्वपूर्ण निर्देश जारी किए हैं। जिला दंडाधिकारी द्वारा भारतीय मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 तथा 117 के अंतर्गत प्रदत शक्तियों का उपयोग करते हुए यह आदेश जारी किए गए हैं। 

 इन आदेशों के अनुसार सोलन में 20 जून, 2018 से 24 जून, 2018 तक प्रातः 8.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक पुराने उपायुक्त कार्यालय चौक से पुराना बस अड्डा सोलन तक सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही पर पूर्ण प्रतिबन्ध रहेगा। यह आदेश दोपहिया तथा तिपहिया वाहनों पर भी लागू होंगे। ===============================================

22 जून, 2018 को शूलिनी माता की झांकियां ला रहे वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे। 

 Solan,13.06.18-22 जून, 2018 से 24 जून, 2018 तक ठोडो मैदान में वाहनों का प्रवेश वर्जित रहेगा। इस अवधि में राजगढ़ मार्ग पर पुराने उपायुक्त कार्यालय चौक से मेला स्थल तक किसी भी प्रकार का वाहन खड़ा नहीं किया जा सकेगा। 

 22 जून, 2018 से 24 जून, 2018 तक प्रातः 11.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक राजगढ़-ओच्छघाट से सोलन की तरफ आने वाले सभी भारी वाहन कोटलानाला तक आएंगे एवं वहीं से वापिस जायेंगे। 

 सिरमौर जिले के बड़ूसाहिब की ओर जाने वाले सभी भारी वाहन एवं बसें कुम्हारहट्टी से ओच्छघाट होकर जाएंगी। इस क्षेत्र से चण्डीगढ़ की ओर जाने वाले सभी वाहन एवं बसें भी ओच्छघाट से होकर कुम्हारहट्टी जाएंगी। 

 इस समयावधि में सपरून चौक से पुराने उपायुक्त कार्यालय एवं मालरोड़ की तरफ किसी भी बस एवं भारी वाहन के आने पर पाबन्दी रहेगी। 

 शिमला-चायल-कण्डाघाट इत्यादि की ओर से पुराना बस अड्डा की ओर आने वाली सभी बसें इस समयावधि में अम्बुशा होटल सोलन तक आयेंगी तथा यहीं से अपने गंतव्य स्थलों की ओर रवाना होंगी। 

 एम्बुलेंस, अग्निशमन वाहन, कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने में उपयुक्त हो रहे वाहन, मेला अवधि में शहर की सफाई व्यवस्था के लिए प्रयोग में लाए जा रहे वाहन तथा मेला डियूटी के लिए स्टीकर सहित प्रयुक्त हो रहे वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे। 

 यह निर्णय आमजन की सुरक्षा एवं सुविधा के दृष्टिगत लिये गए हैं। 

 इस संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों तथा ट्रक, मिनी ट्रक, स्वराज माजदा, पिकअप तथा तिपहिया वाहन संघों के अध्यक्षों को इस संबंध में समुचित निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 

-----------------------------------------------------------------------------------
NEWS FROM KULLU
Kullu,13.06.18 ( NEW PLUS DR GAUTAM )रा.क.व.मा.पाठशाला सुल्तानपुर कुल्लू में जिला स्तरीय युवा संसद का आयोजन किया गया जिसमें शिक्षा खंड बंजार से सिनीयर सकैन्डरी स्कुल सैंज, शिक्षा खंड नगर से सीनीयर सकैन्डरी स्कूल कटराई,  शिक्षा खंड कुल्लू एक से रा.व.मा.पा.शियाह ,शिक्षा खंड कुल्लू दो से रा.क.व.मा. पाठशाला सुल्तानपुर , शिक्षा खंड आनी से रा.व.मा.पाठशाला कोठी व शिक्षा खंड निरमंड से रा.व.मा.पाठशाला वागीपुल के छात्रों ने भाग लिया जिसमें  सैंकडों छात्र-छात्राओं ने अभिनय के माध्यम से वर्तमान राजनीति कर करारी चोट की बताते चलंे कि हर वर्ष राजनीतिक विज्ञान के छात्रों द्वारा राजनीति की समझ को बढ़ाने के उदेश्य से आयोजित किया जाता है इस कार्यक्रम में लोकसभा तथा विधानसभा में होने वाली कार्यवाही पर अभिनय के माध्यम से युवा सासंद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है जिससे जिसके तहत रा.क.व.मा.पाठशाला सुल्तानपुर में जिला स्तरीय युवा सांसद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें रा.क.व.मा.पा.सुल्तानपुर कुल्लू की छात्राओं ने प्रथम स्थान तथा द्वितीय तथा तृतया स्तर पर क्रमशःआनी खंड का कोठी,तथा निरमंड खंड का वागीपुल स्कुल रहे कार्यक्रम का शुभारंभ पाठशाला के प्रधानाचार्य रविन्द्र सिहं ने किया शुभारंभ के अवसर पर प्रधानाचार्य ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज का छात्र ही कल का भविष्य है और आज यदि छात्रों में रारनीति की समझ होगी आने वाले समय में एक बहतर भारत का निर्माण होगा। साथ ही उन्होने कहा कि खास कर महिलाओं की राजनिती में भागीदारी एक अच्छा प्रयास है और आज महिलायें हर क्षेत्र में आगे है और ऐसे में राजनीति में महिलाओं की भागीदारी होना अपने आप में एक सराहनीय प्रयास है वहीं कार्यक्रम के समापन अवसर पर स्कुल प्रंबंधन समीती के अध्यक्ष डी.आर.गौतम ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिन भी छात्रों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया वह बधाई के पात्र हैं वहीं उन्होने स्कुल प्रबंधन को बधाई देते हुऐ कहा कि स्कुल प्रबंधन इस तरह के आयोजन के लिए बधाई का पात्र हैं जिन्होने इस जिला स्तरीय प्रतियोगिता का सफल आयोजन किया उन्होने कहा कि वर्तमान में छात्रों को राजनीति की जितनी समझ किताबों से मिलती है उससे कहीं ज्यादा समझ इस तरह के आयोजन से मिलती है अतः समय समय पर इस तरह के आयोजन से छात्रों का मानसिक तथा वौद्यिक विकास होता है । इस अवसर पर पार्षद अनिता शर्मा ने कहा कि जिस तरह से यह छात्रों ने यहां प्रस्तुति द ीवह अपने आप में एक सराहनीय प्रयास है उन्होने इस अवसर पर सभी छात्रों को कार्यक्रम की वधाई दी वहीं इस कार्यक्रम में निर्यणायक के रूप में रा.व.मा.पा. ढालपुर कुल्लू से आंगमों मासुम ,रा.व.मा.पा.जलुग्रां विनया शर्मा ,रा.व.मा.पा.गड़सा से अनिता शर्मा उपस्थित रहे। साथ ही इस कार्यक्रम में चंसारी से रमेश शर्मा सहित कार्यक्रम कोर्डिनेटर राजनीतिक विज्ञान के प्रवक्ता धीरज सागर ,सुन्दर श्याम महन्त ,प्रकाश सिंह,वटुकेश्वर एवं मनदीप शर्मा ने विशेष भागीदारी दर्ज करवाई !
===============================================
कुल्लू  - 13 जून 2018
मनाली में ईको टूरिजम पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न 
   हिमाचल प्रदेश में ईको टूरिजम की संभावनाओं को लेकर मनाली के अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान के परिसर में आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन बुधवार को संपन्न हो गया। इस सम्मेलन में ईको टूरिजम से संबंधित देश-विदेश के विशेषज्ञों और स्थानीय पर्यटन व्यवसायियों ने हिमाचल प्रदेश में ईको टूरिजम की संभावनाओं पर व्यापक विचार-विमर्श किया। 
 सम्मेलन के समापन सत्र को संबोधित करते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन, आवास, शहरी विकास) तरुण कपूर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में ईको टूरिजम की अपार संभावनाएं मौजूद हैं। वन संपदा और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए बगैर यहां पर्यटन उद्योग का विस्तार किया जा सकता है। इसके लिए ईको टूरिजम को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। प्रदेश सरकार और वन विभाग की ओर से इस दिशा में गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं। वन विभाग की ईको टूरिजम सोसाइटी के माध्यम से तेजी से कार्य किया जाएगा। इसी के परिणामस्वरूप मनाली में यह अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया। तरुण कपूर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में ईको टूरिजम के विस्तार की दिशा में यह सम्मेलन एक मील का पत्थर साबित होगा। सम्मेलन के दौरान देश-विदेश के विशेषज्ञों ने हिमाचल के पर्यटन व्यवसायियों से सीधा संवाद करके ईको टूरिजम के महत्वपूर्ण पहलुओं की जानकारी दी। 
   सम्मेलन के समापन सत्र में प्रधान मुख्य अरण्यपाल अजय कुमार, ईको टूरिजम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं वन अरण्यपाल डा. संजय सूद और वन विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। 
==============================================
कुल्लू -13 जून 2018
जन्म-मृत्यु के पंजीकरण में न हो कोई विलंब: डा. जैन
हिमाचल, पंजाब व चंडीगढ़ के जनगणना निदेशक ने की पंजीकरण कार्यों की समीक्षा
    हिमाचल प्रदेश, पंजाब व चंडीगढ़ के क्षेत्रीय जनगणना निदेशक एवं संयुक्त रजिस्ट्रार डा. अभिषेक जैन ने बुधवार को क्षेत्रीय अस्पताल परिसर कुल्लू में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं जन्म-मृत्यु पंजीकरण अधिकारियों के साथ बैठक करके पंजीकरण से संबंधित कार्यों की समीक्षा की। हिमाचल प्रदेश कैडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी डा. जैन ने कहा कि जन्म और मृत्यु का पंजीकरण एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया है और इसमें कोई विलंब नहीं किया जाना चाहिए। 
   बच्चे के जन्म और परिवार में किसी व्यक्ति की मृत्यु की सूचना तुरंत पंजीकरण अधिकारी को दी जानी चाहिए और 21 दिन के भीतर जन्म या मृत्यु का पंजीकरण करवाया जाना चाहिए। इस अवधि में पंजीकरण पूरी तरह निशुल्क किया जाता है। 21 से 30 दिन तक 2 रुपये, एक माह से एक साल तक 5 रुपये और इसके बाद 10 रुपये शुल्क के साथ जन्म व मृत्यु का पंजीकरण करवाया जा सकता है। पंजीकरण के लिए इससे अधिक शुल्क की वसूली नहीं की जा सकती है। अतिरिक्त वसूली करने वाले पंजीकरण अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है। 21 दिन के भीतर पंजीकरण के बाद जन्म प्रमाणपत्र भी निशुल्क प्राप्त किया जा सकता है। 
    डा. जैन ने कहा कि कुल्लू जिला में कुल 204 ग्राम पंचायतों और 4 नगर निकाय क्षेत्रों सहित कुल 216 पंजीकरण अधिकारी हैं, जबकि जिला स्तर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मुख्य पंजीकरण अधिकारी की शक्तियां दी गई हैं। उन्होंने बताया कि अब जन्म-मृत्यु पंजीकरण के सभी आंकड़ों को आॅनलाइन किया जा रहा है। कुल्लू जिला में वर्ष 2015 के बाद आंकड़ों को आॅनलाइन कर दिया गया है लेकिन इससे पहले आंकड़ों का कंप्यूटरीकरण अभी किया जाना है। डा. जैन ने सीएमओ को निर्देश दिए कि वह इस दिशा में ठोस कदम उठाएं। उन्होंने कहा कि इन कार्यों के लिए जनगणना निदेशालय स्वास्थ्य विभाग को आर्थिक मदद भी जारी कर सकता है। डा. जैन ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी जन्म-मृत्यु का पूरा रिकार्ड रखा जाना चाहिए तथा इन अस्पतालों में जन्म-मृत्यु के पंजीकरण से संबंधित सूचना के बोर्ड प्रदर्शित किए जाने चाहिए। पंजीकरण से संबंधित दस्तावेजों के सभी काॅलम भरे जाने चाहिए तथा इनमें सही एंट्री हो। 
  इस अवसर पर सीएमओ डा. सुशील चंद्र ने बताया कि कुल्लू जिला में इस वर्ष अभी तक 2510 बच्चों के जन्म और 1238 लोगों की मृत्यु का पंजीकरण किया जा चुका है। हिमाचल प्रदेश के जनगणना निदेशालय के सहायक निदेशक आशीष चैहान ने अधिकारियों को पंजीकरण से संबंधित विभिन्न प्रक्रियाओं की जानकारी दी। बैठक में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. विक्रम कटोच और विभिन्न खंडों के बीएमओ भी उपस्थित थे।
 =========================================================================================
कुल्लू -13 जून 2018

 21 जून को ढालपुर में सैकड़ों लोग करेंगे योग

 जिला प्रशासन ने शुरू की विश्व योग दिवस की तैयारियां

 सुबह 6 बजे आरंभ होगा कार्यक्रम, सभी कुल्लूवासियों को किया आमंत्रित

 विश्व योग दिवस के उपलक्ष्य पर 21 जून को ढालपुर मैदान में सैकड़ों लोग योगाभ्यास करेंगे। जिला प्रशासन ने इस जिला स्तरीय योगाभ्यास कार्यक्रम के लिए विभिन्न विभागों और संस्थाओं के सहयोग से सभी तैयारियां आरंभ कर दी हैं। इस सिलसिले में सहायक आयुक्त सन्नी शर्मा ने बुधवार को जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के सम्मेलन कक्ष में विभिन्न विभागों के अधिकारियों तथा संस्थाओं के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। 

  सहायक आयुक्त ने बताया कि 21 जून को यह कार्यक्रम ढालपुर के रथ मैदान में सुबह 6 बजे आरंभ होगा और इसमें सैकड़ों लोग योगाभ्यास करेंगे। इसमें केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा तय किए गए कार्यक्रम के अनुसार ही लोगों को योगाभ्यास करवाया जाएगा। सहायक आयुक्त ने कहा कि योग को आम दिनचर्या का अभिन्न हिस्सा बनाकर शारीरिक, मानसिक और अध्यात्मिक रूप से स्वस्थ जीवन सुनिश्चित किया जा सकता है। विश्व योग दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को यही संदेश दिया जाएगा तथा उन्हें योग के माध्यम से ओवरआल फिटनेस के लिए प्रेरित किया जाएगा। सन्नी शर्मा ने सभी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों के अलावा योग से जुड़ी विभिन्न संस्थाओं के कार्यकर्ताओं और समस्त कुल्लूवासियों से भी इस कार्यक्रम में भाग लेने की अपील की। उन्होंने योग से जुड़ी सभी संस्थाओं के पदाधिकारियों से सामूहिक रूप से अपना योगदान देने का आग्रह किया। सहायक आयुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन, विभिन्न विभागों और सभी संस्थाओं की सामूहिक भागीदारी से ही यह कार्यक्रम सफल होगा तथा अधिक से अधिक लोग योग के लिए प्रेरित होंगे।

 बैठक में विश्व योग दिवस से संबंधित अन्य प्रबंधों पर भी विस्तार से चर्चा की गई। इस अवसर पर नेहरू युवा केंद्र के जिला समन्वयक लाल सिंह ने इन प्रबंधों का विस्तृत ब्यौरा पेश किया। जिला आयुर्वेद अधिकारी, उच्चतर शिक्षा उपनिदेशक जगदीश, प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक कुलवंत पठानिया, अन्य अधिकारियों तथा विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों ने भी महत्वपूर्ण सुझाव रखे। =============================================

NEWS FROM KANGRA

15 को फिर होगी नृत्य-संगीत की ‘फुहार’
धर्मशाला 13 जून: जिला पर्यटन विकास अधिकारी मधु चौधरी ने कहा कि धर्मशाला शहर में सांस्कृतिक पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला ‘फुहार’ का पुनः आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस कड़ी में अगला कार्यक्रम शुक्रवार अर्थात् 15 जून को नड्डी में मुख्य पार्किंग परिसर में सायं 5ः30 बजे आयोजित किया जाएगा। इसी प्रकार 16 जून को भी नड्डी में सायं 5ः30 बजे से सायं 7ः30 बजे तक फुहार का आयोजन किया जाएगा। पर्यटन विभाग यह कार्यक्रम सूचना एवं जनसंपर्क और कला संस्कृति विभाग के सहयोग से आयोजित करेगा। 
गौरतलब है कि पर्यटन विभाग द्वारा 7 से 10 जून तक धर्मशाला के शहीद स्मारक परिसर में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘फुहार’ ने लोगों की खूब तारीफ बटोरी थी। पर्यटकों ने इन कार्यक्रमों का खूब आनंद उठाया और पर्यटन विभाग के इस प्रयास की भरपूर सराहना की।
मधु चौधरी ने बताया कि 15 एवं 16 जून को होने वाले कार्यक्रमों के मुख्य आकर्षण शहनाई वादन, झमाकड़ा, गोरखाली एवं गद्दी नृत्य और तिब्बतीयन लॉयन नृत्य रहेंगे। 

=============================================

कौशल विकास कार्यक्रम के तहत दिया जा रहा कढ़ाई का निशुल्क प्रशिक्षण 
धर्मशाला, 13 जून - हिमाचल परामर्श संगठन सीमित (हिमकोन) के वरिष्ठ परियोजना समन्वयक अमित शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत घुरकड़ी (मटौर) में युवतियों के लिए हाथ की कढ़ाई का निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम आरंभ किया गया है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के तहत हिमकोन संस्था द्वारा 60 युवतियों को 2 माह का हाथ की कढ़ाई का प्रशिक्षण दिया जा रहा, ताकि वे अपना काम शुरू करने के साथ-साथ आत्मनिर्भर बन सकें। 
उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास परिषद् के सहयोग से चलाया गया है। इसके तहत बेरोजगारों को प्रशिक्षण देकर अपना कारोबार शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।    
इस अवसर पर राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास परिषद् के उप प्रबन्धक सतीश कुमार, कार्यकारी अधिकारी उद्योग सुभाष कुमार सहित प्रशिक्षु उपस्थित थे।

==============================================

 सुखी जीवन का आधार-नशामुक्त संसार

 बच्चों को नशे से दूर रखने में अभिभावकों का अहम रोल

 सुखी जीवन का आधार नशामुक्त संसार ही है। मानव जीवन अनमोल है। सुख दुख हमारे जीवन के दो पहलू हैं, जिनके अनुभवों से हम अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए निरन्तर प्रयासरत रहते हैं। जीवन में आगे बढ़ते हुए अनेक बार मनुष्य सुख और दःुख की आड़ में किसी न किसी प्रकार के नशे का सहारा लेने लगता है। कई बार युवा पीढ़ी आधुनिक दिखने की होड़ में नशे को अपना लेती है। इन सब अवस्थाओं में जीवन से भटक कर मनुष्य गलत आदतें अपना लेता है जिसके लिए उसे जीवन भर पछताना पड़ता है।

 युवा वर्ग हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। हमारा कुछ युवा वर्ग किशोरावस्था में ही आधुनिकता की चकाचौंध से भ्रमित होकर जिज्ञासावश नशीले पदार्थों के सेवन का शिकार हो जाते हैं। उन्हें यह मालूम नहीं होता है कि वे धीरे-धीरे नशों के आदि होते जा रहे हैं और साथ-साथ लाईलाज बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं। 

 धुम्रपान से जहां कैंसर, सांस का रोग, दमा, खांसी इत्यादि, हृदय रोग तथा गैंगरीन जैसे लाईलाज रोग पैदा होते हैं, वहीं बीड़ी, सिगरेट से फैलने वाले धुएं से अप्रत्यक्ष रूप से गर्भवती महिलाएं व मासूम बच्चे भी भयानक रोगों की चपेट में आ जाते हैं।

 नशा एक धीमा जहर है जो व्यक्ति को मानसिक, शारीरिक सामाजिक एवं आर्थिक रूप से कमजोर करता है। इसके लगातार सेवन से व्यक्ति अनेक प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाता है। नशा करने वाला स्वयं तो मौत का ग्रास बनता ही है, लेकिन वह समाज विशेषकर अपने परिजनों के लिए भी दुख का कारण बनता है। नशा कोई भी हो, वह व्यक्ति के शारीरिक एवं बौद्धिक विकास व स्मरण शक्ति को क्षीण बनाकर उसकी रचनात्मकता को दुर्बल बनाता ह

 नशे के सेवन से व्यक्ति सदैव चिन्तित व उदासीन रहता है तथा हाथों में पसीना, अकेले में रहने की प्रवृति, भूख न लगना, वजन कम होना, आंखों में लाली, सूजन का होना, आवाज का लड़खड़ाना, शरीर में इन्जेक्शन लगाने के निशान तथा कपडे़ मे रक्त के धब्बे, उल्टी आना, शरीर में दर्द रहना, चक्कर आना, सुस्त रहना, अत्यधिक नींद आना, थकान एवं चिडचिड़ापन, याददाशत कमजोर होने, काम में मन न लगना, दैनिक कार्यो और खेलकूद में रूचि कम होना मुख्य रूप से नशे के ही लक्षण है।

 नशे का सेवन घातक है। अनेक परीक्षणों से पता चलता है कि तम्बाकू में करीब 500 ऐसे रसायन पाये जाते हैं जो व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त हानिकारक हैं। नशे के सेवन से शारिरक विकार जैसे मुंह, गले, लीवर, फेफड़े, दिल, गुर्दे व त्वचा में संग्रमण हो सकता है। इसके अतिरिक्त मुंह, गले, आंत, लीवर व फेफड़ों का कैंसर हो सकता है। नशा परिवारिक कलह व झगड़ों को जन्म देता है। नशे के सेवन वाला व्यक्ति चोरी, डकैती, व्यभिचार, तस्करी जैसे अपराधों में संलिप्त हो जाते हैं तथा समाज ऐसे व्यक्तियों की गणना बुरे व्यक्तियों में करता है जिससे व हीन भावना से ग्रस्त हो जाते हैं।

 

 बच्चों को नशे से दूर रखने के लिए अभिभावकों का अहम रोल होता है। माता-पिता को चाहिए की वह बच्चों का पूरा-पूरा ध्यान रखें तथा उनके साथ अधिक से अधिक समय बिताएं तथा बच्चों व उनके साथियों की गतिविधियों पर पूरा-पूरा ध्यान रखें। बच्चों की भावनाओं व रूचियों का पूरा-पूरा ध्यान रखें। मां-बाप को चाहिए कि वह बच्चों के लिए आदर्श बनें क्योंकि वे ही यदि नशे का सेवन करेगें तो बच्चे नकल करेगें ही। यदि बच्चा नशे का शिकार है तो तुरन्त डाक्टर से परामर्श लें। समय पर उपचार से नशे से मुक्ति पाई जा सकती है।

 

रेडक्रास के अध्यक्ष एवं उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार का कहना है कि धर्मशाला में प्रयास भवन में नशा मुक्ति केन्द्र स्थापित किया गया है। यहां नशा निवारण केन्द्र में हजारों की संख्या में आए नशे की बुरी लत की गिरफ्त में फसें व्यक्तियों ने नशे के सेवन से निजात पाई है। इस केन्द्र में नशे के चुगंल से छुटकारा पाने के लिए इस वर्ष 302 व्यक्ति जिनमें से 211 तो उपचार के लिए केन्द्र में भर्ती हुए हैं और 91 व्यक्तियों ने बाह्य रोगी के तौर पर उपचार तथा परामर्श प्राप्त किया है और सभी नशा सेवन की लत से मुक्त हो कर गए हैं।  

 युवा देश का भविष्य है। युवा वर्ग यदि स्वस्थ, सशक्त होगा तभी देश प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा।

===============================================

नवोदय विद्यालय में ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित
धर्मशाला, 13 जून - जवाहर नवोदय विद्यालय पपरोला की प्राचार्य सुषमा गोस्वामी ने जानकारी देते हुए बताया कि विद्यालय में ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए हैं। उन्होंने बताया कि यह आवेदन ग्यारहवीं कक्षा में खाली रह गई कुछ सीटों के लिए पार्श्व प्रवेश पद्धति के तहत आमंत्रित किए हैं। उन्होंने बताया कि आवेदन पत्र अपलोड करने की अन्तिम तिथि 5 जुलाई, 2018 है।

    अधिक जानकारी के लिए विभागीय वेबसाइट www.nvsrochd.gov.in , www.nvshq.orgwww.jnvkangra.org या   प्राचार्य जवाहर नवोदय विद्यालय पपरोला के हैल्पलाईन नंबर 941837-80591 अथवा 0184242110 पर संपर्क किया जा सकता है।