करनाल,13.06.18- ग्रामीण क्षेत्र में बिजली और पानी की व्यवस्था बेहतर बनाने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। इस प्रतिबद्धता का एक परिणाम और प्रमाण यह है कि आज प्रदेश के दो हजार से अधिक गांवों में म्हारा गांव जगमग गांव योजना के तहत 24 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति की जा रही है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और ग्रामोदय अभियान के संयोजक प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने क्षेत्र के अरड़ाना गांव में आयोजित एक ग्रामोदय सभा में यह टिप्पणी की। सभा का आयोजन गांव के एक हिस्से में पीने के पानी की किल्लत पर चर्चा करने के लिए किया गया था। समाजसेवी सुनील कौशिक के संयोजन में हुई सभा में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के 4 वर्ष के कार्यकाल की उपलब्धियों पर भी विस्तार से बातचीत हुई।

मुख्य अतिथि प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कार्यक्रम के प्रारंभ में ग्राम वासियों से पेयजल की अपनी समस्या का कारण और उसके निवारण का रास्ता सुझाने के लिए कहा। ग्रामवासियों की ओर से बिशनी देवी ने बताया कि गांव के एक बड़े हिस्से में जन स्वास्थ्य विभाग की पानी आपूर्ति व्यवस्था का लाभ टेल पर होने के कारण नहीं पहुंच पाता है। पहले क्योंकि लोगों के घरों में समर्सिबल चलते थे इसलिए परेशानी अधिक नहीं होती थी। भूजल का स्तर नीचे जाने के कारण समर्सिबल फेल हो गए हैं और टेल पर पड़ने वाले घरों को पानी पहुंचाने के लिए अतिरिक्त ट्यूबवेल लगाए जाने की आवश्यकता है। समाजसेवी सुनील कौशिक ने कहा कि 2,000 से अधिक घर पानी के संकट से प्रभावित हो सकते हैं। ग्रामीणों ने पशुओं के लिए पीने के पानी का मसला भी उठाया।
अपने संबोधन में प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि गांव की आवश्यकता के अनुसार अतिरिक्त ट्यूबवेल जल्द से जल्द स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा। पशुओं के पेयजल का मामला भी संबंधित विभागीय अधिकारियों के संज्ञान में लाकर तत्काल कार्यवाही के लिए कहा जाएगा। चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में राज्य सरकार प्रदेश के सभी हिस्सों का समान विकास करवा रही है। विकास कार्यों में राजनीति को आड़े नहीं आने दिया जा रहा। उन्होंने सरकारी नौकरियों में पारदर्शिता को राज्य सरकार की बड़ी उपलब्धि करार दिया।
केंद्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि 12 करोड़ से अधिक नौजवानों को मुद्रा योजना के तहत स्वरोजगार के लिए बिना गारंटी ऋण दिया जाना अपने आप में ऐतिहासिक है। करीब 4 करोड़ गरीब परिवारों की रसोई उज्ज्वला योजना के तहत दिए गए कनेक्शन के कारण धुएं से मुक्त हुई है। 7 करोड़ से अधिक शौचालय बनने से गरीब आदमी के जीवन में स्वच्छता का संचार हुआ है। चौहान ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रयासरत है और स्वामीनाथन आयोग की कई सिफारिशों को लागू कर दिया गया है। वीरेंद्र सिंह चौहान के अनुसार खरीफ की अगली फसल से किसानों को उनकी लागत से डेढ़ गुना समर्थन मूल्य मिलना प्रारंभ हो जाएगा। इस अवसर पर सतीश राणा पंचायत मेंबर, सुनील कौशिक अरड़ाना समाजसेवी , राजेश राणा, पाला राणा, रोहताश रोहिल्ला, श्याम रोहिल्ला, संदीप कुमार, सुरेंद्र प्रजापति, शिवकुमार शर्मा, वेदपाल, विक्रम आदि मौजूद रहे।