हिसार , 22 जून : एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल के निर्माण व प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए हो रहे जेल भरो आंदोलन के तहत इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने 41,637 गिरफ्तारियां दी। इससे पूर्व एसवाईएल के मुद्दे पर राज्य सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि खट्टर सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र में नहर निर्माण की बात कही थी लेकिन सत्ता हासिल करने के बाद केवल इस नहर निर्माण को कैसे रोका जाए, इस बात को लेकर साजिश रचने का काम किया।  उन्होंने कहा कि एसवाईएल निर्माण पर कांग्रेस और भाजपा, दोनों सरकारों ने राजनीति की है।
नेता विपक्ष ने प्रधानमंत्री पर भी वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी ने सत्ता हासिल करने के लिए जनता को कभी 15 लाख देने की बात कही, तो कभी युवाओं के दो करोड़ रोजगार की। लेकिन आज तक एक भी वादा ऐसा नहीं है जो केंद्र सरकार ने पूरा किया हो। भाजपा ने हर वर्ग को धोखा दिया है। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी जी किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने की बात किया करते थे आज उनकी बातें केवल जुमला बनकर रह गई है।
अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर किसानों व छोटे दुकानदारों का ऋण माफ किया जाएगा। किसानों को फसल का सही मूल्य मिले उसके लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन मिला करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी और प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की।
जेल भरों आंदोलन में गिरफ्तारी से पूर्व हिसार के युवा सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला कहा कि भाजपा सरकार और पंजाब कांग्रेस की मिलीभगत के कारण हरियाणा के हिस्से जो 1500 क्यूसिक पानी था उसमें से भी 400 क्यूसिक की कटौती कर राजस्थान को देने का काम किया गया है। जिसके कारण विशेषकर हिसार जिला जो भूजल संकट से जूंझ रहा है उसके नलवा और आदमपुर के चालीस गांव ऐसे हैं जिनको पीनें कीे लिए भी पानी राजस्थान से टैंकरों के जरिए पैसे देकर मंगवाना पड़ता है। उन्होंने यह भी कहा कि एसवाईएल, दादुपुर नलवी और मैवात कैनाल की यह लड़ाई कुछ हजार या कुछ लाख लोगों की नहीं रही यह अब प्रदेश की ढाई करोंड जनता के हक की लड़ाई बन चुकी है। उन्होंने प्रदेश सरकार के वित्तिय कुप्रबंधन की निंदा करते हुए कहा कि आज राज्य 1लाख 61 हजार करोंड का कर्जदार है जबकि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के राज में प्रदेश का खजाना लबालब भरा हुआ था।
इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा जिस कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखती है उसकी शुरूआत बहुजन समाज पार्टी ने की थी। साहेब काशीराम ने सबसे पहले कांग्रेस को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाया था।
एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक रणबीर गंगवा, परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार, बलवान सिंह दौलतपुरिया, प्रो. रविंद्र बलियाला, अनूप धानक, ओमप्रकाश बरवा, रामचंद कम्बोज,  पूर्व विधायक सरोज मोर, इनेलो नेत्री शीला भ्यान व प्रवीण आत्रेय सहित हजारों गठबंधन नेता थे।