NEWS FROM SOLAN

सोलन-दिनांक 28.06.2018

संत कबीर की शिक्षाओं का अनुसरण सभी के लिए आवश्यक-डॉ. सैजल
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने समाज के सभी वर्गों का आह्वान किया कि संत शिरोमणि कबीर की शिक्षाओं का अनुसरण वर्तमान समय में आवश्यक है। डॉ. सैजल आज सोलन जिले के कसौली विधानसभा क्षेत्र के औद्योगिक शहर परवाणू के टकसाल स्थित कबीर मंदिर में आयोजित संत गुरू कबीर जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे।
डॉ. सैजल ने कहा कि संत कबीर का प्रादुर्भाव जिस समय हुआ वह काल अनेक सामाजिक विषमताओं, असमानताओं एवं ऊंच-नीच के भाव से ग्रस्त था। संत कबीर ने ऐसे समय में न केवल अपनी वाणी के माध्यम से समाज को जागृत करने का कार्य किया अपितु विभिन्न सामाजिक कुरीतियों पर कड़ा प्रहार भी किया। उन्होंने कहा कि संत कबीर ने विभिन्न सामाजिक विषमताओं को समाप्त करने तथा जात-पात से ऊपर उठकर कार्य करने का आह्वान किया।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि भौतिकतावाद के वर्तमान युग में संत कबीर की शिक्षाएं विशेष रूप से प्रासंगिक हैं। उन्होंने कहा कि आज के युवा वर्ग को सही रास्ता दिखाने तथा समाज को सांप्रदायिक सौहार्द एवं राष्ट्रीय एकता के पथ पर ले जाने में संत कबीर का साहित्य महत्वपूर्ण है। उन्हांेने सभी से आग्रह किया कि विभिन्न माध्यमों में उपलब्ध संत कबीर की वाणी को पढ़ें एवं सुनें तथा इस पर अमल करें। उन्होंने कहा कि संत कबीर ने अत्यंत सरल बोली में जीवन के वास्तविक मूल्यों को समझाया है।
डॉ. सैजल ने कहा कि भारत को विश्व में अपनी आध्यात्मिकता के लिए जाना जाता है। भारतीय धार्मिक पद्धति प्राणी को प्राणी से तथा मानव को प्रकृति से जोड़ती है। हमें आज अपनी विशुद्ध भारतीय पद्धति का अनुसरण करना होगा ताकि सामाजिक समरसता, सौहार्द एवं वसुधैव कुटुम्बकम की अवधारणा पल्लवित एवं पोषित होती रहे।
इस अवसर पर अखिल भारतीय कबीर सभा के संत बनी साहिब ने अपने प्रवचन से श्रद्धालुओं को भाव-विभोर किया। उन्होंने मानव जीवन को सरल बनाने की प्रेरणा दी।
इस अवसर पर भजन-कीर्तन का आयोजन भी किया गया।
राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. डेज़ी ठाकुर, भारतीय जनता पार्टी कसौली मंडल की अध्यक्ष दौलत ठाकुर, सचिव कृपाल सिंह, ग्राम पंचायत टकसाल के प्रधान अमरनाथ, उपप्रधान कमल कुमार, सदगुरू कबीर मंदिर टकसाल समिति के प्रधान उदय राम, सचिव वीरेंद्र कुमार, कोषाध्यक्ष अमर दास, सदस्य सुभाष कुमार, भगवान दास, ओमदत्त, राकेश कुमार, कार्यकारी सहायक आयुक्त परवाणू मुकेश शर्मा, विद्युत बोर्ड परवाणू के अधिशाषी अभियंता राहुल वर्मा, सीडीपीओ धर्मपुर वीना कश्यप, अन्य अधिकारी, गणमान्य व्यक्ति तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालु इस अवसर पर उपस्थित थे।
.=================================================================================

सोलन- दिनांक 28.06.2018

महिला सशक्तिकरण की दिशा में गृहिणी सुविधा योजना महत्वपूर्ण-विवेक चंदेल

कार्यकारी उपायुक्त सोलन विवेक चंदेल ने कहा कि प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी गृहिणी सुविधा योजना पर्यावरण संरक्षण एवं महिला सशक्तिकरण की दिशा में कारगर सिद्ध होगी।

विवेक चंदेल कहा कि गृहिणी सुविधा योजना का मुख्य लक्ष्य जिला के परिवारों को रसोई गैस सुविधा उपलब्ध करवाना है। योजना के तहत प्रदेश में इस वर्ष 12 करोड़ रुपए व्यय किए जा रहे हैं।

कार्यकारी उपायुक्त ने कहा कि योजना से लाभान्वित होने पर महिलाओं को रसोई गैस सिलैंडर तथा गैस चूल्हे के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। योजना के पूरा होने पर हिमाचल, देश का ऐसा पहला राज्य बनेगा जहां सभी परिवारों के पास प्रदूषण मुक्त रसोई ईंधन सुविधा उपलब्ध होगी।

विवेक चन्देल ने कहा कि गृहिणी सुविधा योजना के प्रथम चरण में सोलन जिले में 2328 पात्र परिवारों को लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभी तक जिले में 801 लाभार्थियों का चयन किया गया है। इनमें सोलन विकास खण्ड में 82, कण्डाघाट विकास खण्ड में 250, धर्मपुर विकास खण्ड में 125, अर्की विकास खण्ड में 54 तथा नालागढ़ विकास खण्ड में 290 लाभार्थियों का चयन किया गया है।

उन्होंने कहा कि गृहिणी सुविधा योजना के अर्न्तगत उन सभी परिवारों को सम्मिलित किया जाएगा जो केन्द्र सरकार की उज्जवला योजना में शामिल नहीं हैं। इससे सोलन जिले के सभी परिवारों के पास रसोई गैस सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित परिवार भी गृहिणी सुविधा योजना से लाभ प्राप्त करने के पात्र होंगे।

विवेक चन्देल ने कहा कि योजना के तहत ऐसे परिवारों को गैस कुनैक्शन प्रदान नहीं किया जाएगा जिनके परिवार से कोई सदस्य सरकारी, अर्धसरकारी, निगम, बोर्ड अथवा किसी स्वायत्त संस्थान में कार्यरत हो। ऐसे परिवारों को भी कुनैक्शन नहीं दिए जाएंगे जिनके परिवार से कोई भी सदस्य केंद्र अथवा प्रदेश सरकार तथा सरकार द्वारा शासित बोर्डों, निकायों, निगमों अथवा बैंक इत्यादि से पैंशन प्राप्त कर रहा हो।

कार्यकारी उपायुक्त ने कहा कि पात्र परिवारों का चयन संबंधित ग्राम पंचायत अथवा शहरी निकाय द्वारा प्राप्त आवेदन पर किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रथम जुलाई 2018 को सोलन विधानसभा क्षेत्र के तहत कंडाघाट विकासखंड की ग्राम पंचायत छावशा में आयोजित होने वाले जन मंच कार्यक्रम में गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत पात्र परिवारों के चयन पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। अभी तक ग्राम पंचायत छावशा से इस योजना के लिए 40, ग्राम पंचायत वाकना से 14 तथा ग्राम पंचायत पौधना से 51 आवेदन प्राप्त हुए हैं।

===============================================

सोलन -दिनांक 28.06.2018

जिला प्रशासन रोगियों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध-विवेक चंदेल

हिमाचल प्रदेश आवश्यक सेवाएं (रखरखाव) अधिनियम 1973 के तहत चालकांे एवं ईएमटी की हड़ताल पर पाबंदी

कार्यकारी उपायुक्त सोलन विवेक चंदेल ने कहा कि जिला प्रशासन रोगियों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है तथा राष्ट्रीय एंबुलेंस सेवा 108 एवं 102 की हड़ताल के कारण रोगियों को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। विवेक चंदेल आज क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में राष्ट्रीय एंबुलेंस सेवा 108 की हड़ताल से निपटने के लिए बुलाई गई बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

विवेक चंदेल ने कहा कि जिला प्रशासन ने राष्ट्रीय एंबुलेंस सेवा 108 के चालकों एवं आपाताकालीन चिकित्सीय सहायकों की हड़ताल से प्रभावी रूप से निपटने के लिए सभी एहतियाती उपाय अपनाए हैं। जिला प्रशासन यह सुनिश्चित बनाएगा कि इस हड़ताल के कारण रोगियों को परेशानी न हो।

उन्होंने कहा कि हड़ताल के दृष्टिगत प्रदेश सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश आवश्यक सेवाएं (रखरखाव) अधिनियम 1973 लागू कर दिया गया है। जिला प्रशासन ने रोगियों की सहायता के लिए जिला रैडक्रॉस समिति के वाहनों को आपाताकालीन चिकित्सीय सेवाओं के लिए तैनात कर दिया है। समुचित संख्या में चालकों की भी इन वाहनों पर तैनाती की गई है। उन्होंने कहा कि महर्षि मारकंडेश्वर चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के प्रधानाचार्य को भी उनके रोगी चिकित्सा वाहन तैयार रखने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रभावी संचालन के लिए विभिन्न विभागों के चालकों एवं गृह रक्षकों की सेवाएं भी ली जाएंगी। उन्होंने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर सोलन जिले के विभिन्न निजी अस्पतालों की एंबुलेंस की सेवाएं भी ली जाएंगी।

विवेक चंदेल ने कहा कि हड़ताल से प्रभावी रूप से निपटने के लिए 108 एवं 102 एंबुलेंस के आवागमन नियमन के लिए नोडल अधिकारी तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में डॉ. महेश गुप्ता (मोबाईल नंबर-94598-21444), सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नालागढ़ में डॉ. केडी जस्सल(मोबाईल नंबर-94181-42327), नागरिक अस्पताल अर्की में डॉ. ताराचंद नेगी(मोबाईल नंबर-94184-54934), सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चंडी में डॉ. संगीता उप्पल(मोबाईल नंबर-94184-71895), नागरिक अस्पताल कंडाघाट में डॉ. पीएस नंदा(मोबाईल नंबर-98160-68959) तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धर्मपुर में डॉ. अल्पना कौशल (मोबाईल नंबर-94184-58742) नोडल अधिकारी के रूप में तैनात रहंेगे।

उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी आपातकालीन सेवाओं के बेहतर संचालन के लिए जिला प्रशासन तथा जीवीके ईएमआरआई के साथ समन्वय स्थापित करेंगे। वे रोगियों को लाने ले जाने के समय फार्मासिस्ट तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की तैनाती में मुख्य चिकित्सा अधिकारी की सहायता करेंगे। सभी नोडल अधिकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राज्य मुख्यालय के संपर्क में भी रहेंगे।

जिला दंडाधिकारी सोलन ने हिमाचल प्रदेश आवश्यक सेवाएं (रखरखाव) अधिनियम 1973 की धारा-4 के तहत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए एंबुलेंस सेवा 108 एवं 102 के चालकों एवं ईएमटी द्वारा किसी भी प्रकार के आंदोलन तथा हड़ताल करने पर तुरंत प्रभाव से पाबंदी लगा दी है। इन आदेशों के अनुसार चालकों तथा ईएमटी को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने रोजगार के दौरान दिए गए किसी भी वैध आदेश का उल्लंघन नहीं करेंगे। उचित कारण के बिना कार्य से अनुपस्थित नहीं रहेंगे। आदेशों की उल्लंघना पर आवश्यक सेवाएं (रखरखाव) अधिनियम 1973 के प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

=========================================================================================सोलन दिनांक 28.06.2018

विवेक चंदेल ने किया जन मंच की तैयारियों का जायज़ा
कार्यकारी उपायुक्त सोलन विवेक चंदेल ने आज जिले के कंडाघाट उपमंडल की ग्राम पंचायत छावशा की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला डूमैहर में प्रथम जुलाई 2018 को आयोजित किए जाने वाले जन मंच कार्यक्रम की तैयारियों का जायज़ा लिया।
इस जन मंच कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज करेंगे। कार्यक्रम में कंडाघाट उपमंडल की विभिन्न पंचायतों की समस्याओं का निवारण किया जाएगा।
विवेक चंदेल ने इस अवसर पर उपमंडलाधिकारी कंडाघाट डॉ. संजीव धीमान को निर्देश दिए कि जन मंच के सफल आयोजन के लिए पूरी तैयारियां नियत समय पर की जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि जन मंच में विभिन्न विभागों के स्टॉल लगाने, समस्याओं के पंजीकरण के लिए उचित कंप्यूटर एवं इंटरनेट व्यवस्था तथा अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध रहें।
उपमंडलाधिकारी कंडाघाट डॉ. संजीव धीमान ने विभिन्न तैयारियों की विस्तृत जानकारी दी तथा विश्वास दिलाया कि जन मंच का पूर्ण रूप से सफल आयोजन किया जाएगा।
==============================================
सोलन दिनांक 28.06.2018
डॉ. राजीव बिंदल 30 जून को सोलन के प्रवास पर
प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल 30 जून 2018 को सोलन के प्रवास पर आ रहे हैं।
डॉ. बिंदल 30 जून को दोपहर बाद 2.00 बजे सोलन में सोलन, अर्की तथा कसौली विधानसभा क्षेत्र के लिए ई-विधानसभा क्षेत्र प्रबंधन कार्यशाला की अध्यक्षता करेंगे। कार्यशाला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सोलन में आयोजित की जाएगी।
==============================================

NEWS FROM KULLU

KULLU,28.06.18-एहसास कार्यकर्म के तहत जिला रेड क्रॉस सोसइटी और स्वास्थ विभाग ने सैंज घाटी के रोपा गांव में गत दिन वरिष्ठ नागरिको के लिए फॉलो-अप स्वास्थ जांच शिविर का आयोजन किया गया। यह जानकारी उपायुकत कुल्लू यूनुस ने प्रेस बयान जारी करते हुआ कहा। उन्होंने बताया की रोपा में 21 जून को वरिष्ठ नागरिको के लिए स्वास्थ शिविर आयोजन किया गया था, इस शिविर में घाटी के 68 वरिष्ठ नागरिको का स्वास्थ जांच के साथ लैब टेस्ट भी किये गए थे । फॉलो-अप स्वास्थ जांच शिविर में बुजुर्गो को उनके बिमारी के आधार पर मुफ्त दवाइया भी आबंटित की गयी। डॉक्टर रमेश चन्दर गुलेरिया ने कुछ बुजुर्गो को नजदीक के स्वस्थ केंद्र में नियमित स्वास्थ जांच करवाने के सलाह दी अवसर पर रेड क्रॉस सोसिएटी के सचिव बी के मोदगिल सहित अन्य समाज सेवक मौजूद रहे।

==============================================

NEWS FROM KANGRA

कागड़ा में एंबुलैंस सेवा के हडताली कर्मियों पर लगेगा एस्मा

धर्मशाला, 28 जून: कांगड़ा जिला प्रशासन ने हड़ताल पर गए जिला के 108 एवं 102 एंबुलैंस कर्मचारियों पर एस्मा (आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून) लगाने का निर्णय लिया है। एस्मा लागू होने के बाद यदि ये कर्मचारी काम पर नहीं लौटते हैं तो उन पर कानून के अनुरूप कार्रवाई की जाएगी।

जिलादंडाधिकारी कांगड़ा केके सरोच ने वीरवार को इस बारे आदेश जारी किया।

उन्होंने बताया कि इससे पूर्व हड़ताल से उपजी स्थिति का जायजा लेने के लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस प्रशासन एवं 108 व 102 एंबुलैंस सेवा के कांगड़ा प्रभारी एवं अन्य हितधारकों के साथ आपातकालीन बैठक की गई।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग को 108 एवं 102 एंबुलैंस सेवा को सुचारू तौर पर चलाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए, ताकि लोगों को किसी प्रकार की दिक्कतों का समाना न करना पड़े।

सरोच ने बैठक के उपरांत बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर इन एंबुलैंस पर विभागीय चालक तैनात किए हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कार्यरत्त चालकों एवं अन्य कर्मियों को भी विभिन्न स्वास्थ्य खंडों में तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सेवाओं के सुचारू संचालन के लिए गृह रक्षक विभाग से कुछ चालकों की तैनाती की मांग की है।इसे लेकर गृह रक्षक विभाग को तुरंत विभागीय चालक तैनात करने को कहा गया है।

उन्होंने बताया कि धर्मशाला क्षेत्रीय असपताल के चिकित्सा अधीक्षक ने अवगत करवाया है कि 108 और 102 एंबुलैंस सेवा के कुछ चालक गाड़ियों की चाबियां सौंपने में आनाकानी कर रहे हैं, जबकि कुछ ने वाहनों में जानबूझकर मैकेनिकल खराबी लाई है। पुलिस प्रशासन को ऐसे लोगों के विरूद्ध कानून अनुरूप कार्रवाई के लिए कहा गया है।

==============================================

क्यों लगाया जाता है एस्मा

आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा) अनिवार्य सेवाओं को बनाए रखने के लिए लागू किया जाता है। एस्मा लागू होने के उपरान्त कर्मचारियों का हड़ताल पर जाना, अनिवार्य सेवाओं मंे अवरोध पैदा करना, बिना पूर्व अनुमति के ड्यूटी से गैरहाजिर रहना अवैध एवं दण्डनीय है।

एस्मा लागू होने के उपरान्त इस आदेश से सम्बन्धि किसी भी कर्मचारी को बिना किसी वारन्ट के गिरफ्तार किया जा सकता है।इसमें जुर्माने का भी प्रावधान है।