कुल्लू, 08 जुलाई। संत निरंकारी सत्संग भवन गांधीनगर में सत्संग का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता कुल्लू के संयोजक बीआर रवि ने की। इस अवसर पर भुंतर ब्रांच के संयोजक जालफूराम ने मंच से संगत को संबोधित करते हुए सत्गुरू माता सविंद्र हरदेव का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि संगत चंदन का वृक्ष है और संत इस पेड़ की छाया है। उन्होंने कहा कि जब संतों का उस निरंकार परमात्मा पर पूरा विश्वास हो जाता है तो परमात्मा उनकी हर जगह सहायता करता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि जिस तरह द्रोपदी ने कृष्ण भगवान को सहायता के लिए पुकारा था तो भगवान उनकी सहायता के लिए पहुंचे थे ठीक उसी तरह परमात्मा अपने एक सच्चे भक्त के हर मुश्किल समय में हमेशा उसके साथ खड़े होते हैं। इस अवसर पर कुल्लू के संयोजक बीआर रवि ने कहा कि सत्संग सुनना ही काफी नहीं है बल्कि उस पर अमल करना भी बेहद आवश्यक है। परमात्मा तो हर जगह मौजूद है लेकिन पूर्ण ज्ञान नहीं होने के कारण वह हर इंसान को नजर नहीं आते, ज्ञान के साथ ही हमें कर्म को भी आगे रखना होगा तभी हम उस परमपिता परमात्मा के दर्शन कर सकते हैं। इस मौके पर महात्मा अजय और छेदन ने भी अपने-अपने विचार रखे और भजन-कीर्तन से संगत को निहाल किया। मिशन के सहायक मीडिया प्रभारी जीत कपूर ने बताया कि 14 जुलाई शनिवार को कुल्लू के निरंकारी सत्संग भवन में प्रचार विभाग की बैठक रखी गई है। उन्होंने बताया कि इस बैठक में जिला कुल्लू व लाहुल-स्पीति के ज्ञान प्रचारक व संयोजक मुखी व संचालक और शिक्षक भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि इस बैठक में मिशन की विचारधार को आगे ले जाने सहित अन्य गतिविधियों पर विस्तारपूर्व चर्चा की जाएगी। जीत कपूर ने बताया कि इस बैठक की अध्यक्षता जोनल इंचार्ज तेज सिंह चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित की जाएगी।
=============================================
15 जुलाई को मनाली में रक्तदान शिविर का आयोजन
संत निरंकारी मिशन की ओर से रविवार 15 जुलाई को पर्यटन नगरी मनाली में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। मिशन के जोनल इंचार्ज तेज सिंह चौधरी ने बताया कि संत निरंकारी मिशन की ओर से देश व प्रदेश में स्वच्छता अभियान के साथ-साथ समाजिक गतिवधियों में भी अपना पूर्ण सहयोग हमेशा दिया जाता है। इसके अलावा समय-समय पर रक्तदान शिविरों का भी आयोजन किया जाता है। इसी कड़ी में रविवार को मनाली में भी रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। तेज सिंह चौधरी ने बताया कि इस शिविर में लाहुल-स्पीति के शूलिंग, केलंग व उदयपूर सहित कुल्लू व मनाली, ब्राण, कटराईं, बैंची, भुंतर, सैंज, बंजार, चवाई, बागीपुल से मिशन के सदस्य रक्तदान करके इस पुनित कार्य में अपनी सहभागिता दर्ज करवाएंगे। उन्होंने मिशन से जुड़े सभी सदस्यों से इस शिविर में बढ़चढ़ कर भाग लेने की अपील की है।