गुरुग्राम, 10 जुलाई : फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य के नाम पर प्रधानमंत्री ने किसानों के साथ धोखा करने का काम किया है। यह बात नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर-नलवी के निर्माण के लिए गुरुग्राम हो रहे ‘जेल भरो आंदोलन’ में कही। उन्होंने कहा कि एमएसपी के नाम पर किसान के साथ हुए विश्वासघात को सरकार विज्ञापनों के जरिए बहुत बड़ी उपलब्धि घोषित करने में लगी है। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, कृषि मंत्री ओपी धनखड़ और वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु द्वारा समर्थन मूल्य बढ़ाने पर ढोल बजाने को किसानों की बर्बादी का जश्र कहा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार इसलिए भी खुश है कि केंद्र की सरकार ने उनके किसान विरोधी षडय़त्र पर मोहर लगा दी है।
विपक्ष के नेता ने कहा कि भ्रष्टाचार का पर्याय रह चुकी कांग्रेस ने भाजपा से पूर्व केंद्र और प्रदेश में दस साल राज किया। कांग्रेस के घोटालों से जनता तंग आ चुकी थी लेकिन तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने के कारण देश व प्रदेशवासियों को मजबूरी में भाजपा को चुनना पड़ा था। लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और लोगों के पास आज अपनी सरकार चुनने का विकल्प मौजूद है। उन्होंने यह भी कहा कि जनता ने जो हश्र कांग्रेस का किया था, आगामी चुनाव में भाजपा को भी वही होगा। केंद्र में तीसरे मोर्चे की और हरियाणा में इनलो-बसपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी। नेता विपक्ष ने कहा कि इनेलो एसवाईएल निर्माण के लिए वचनबद्ध है और जब तक सरकार इस नहर के निर्माण के लिए कदम नहीं उठाती उनका यह आंदोलन जारी रहेगा।
उन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास करने वाले, विदेशों से कालाधन लाने वाले आज केवल जनता को मुद्दों से भटकाने का प्रयास कर रह हंै। इतना ही नहीं जनता उनसे सवाल न पूछ ले तो उसके लिए कभी स्वच्छ भारत अभियान, कभी बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओं तो कभी जयंतियों और गाय व गीता के नाम पर लोगों का ध्यान बांटने का काम किया है। इनेलो नेता ने याद दिलाया कि खट्टर सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र में एसवाईएल नहर निर्माण के साथ-साथ 24 घंटे बिजली, स्वामीनाथन आयोग की पूरी रिपोर्ट लागू करने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का और पक्के कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान देने का वादा किया था जो केवल चुनावी घोषणा बनकर रह गया। वहीं केंद्र की सरकार ने भी जनधन खातों में 15-15 लाख देने की बात कही तो कभी दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की। जो केवन जुमला बनकर रह गई।
इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर किसानों व छोटे दुकानदारों का ऋण माफ व स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी व रोजगार और बेरोजगारी भत्ता 15000 रुपए प्रति माह दिया जाएगा। वहीं गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि व बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन मिला करेगी। उन्होंने सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाने का भी वादा किया।
इस मौके पर बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा नेताओं का दलितों के घर खाना केवल ढोंग है। भाजपा राज में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन पर विरोधियों की खीज इस बात का सबूत है कि प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनने जा रही है।
एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर-नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, विधायक रणबीर गंगवा, जाकिर हुसैन, वेद नारंग, केहर सिंह रावत, अनूप धानक, नसीम अहमद, पूर्व विधायक राव बहादुर सिंह, सुभाष चौधरी, मोहम्मद इलियास, गंगाराम, इनेलो प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय सहित 12436 गठबंधन कार्यकर्ता शामिल थे।