चंडीगढ़.11.07.18-महर्षि दयानंद पब्लिक स्कूल दरिया चंडीगढ़ में विश्व जनसंख्या दिवस पर पौधारोपण और नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया। पौधारोपण के दौरान त्रिवेणी फाउंडेशन के सचिव प्रदीप त्रिवेणी ने आचार्य अशोक कुमार की अध्यक्षता में स्कूल के स्टूडेंट्स के साथ मिलकर विद्यालय में अमरूद का पौधा तथा पंचायत घर के पास खुले क्षेत्र में जामुन और आम के पौधे लगाए। ग्राम पंचायत के सरपंच ग्रुपप्रीत सिंह हैप्पी ने महर्षि दयानंद पब्लिक स्कूल और त्रिवेणी फाउंडेशन की गांव में पौधारोपण की इस पहल का स्वागत किया। उन्होंने सराहना करते हुए कहा कि इससे पर्यावरण शुद्ध होगा। उन्होंने बढ़ती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि जनसंख्या में बढ़ोतरी होने के कारण समस्याएं अधिक बड़ी है और प्रकृति के साथ अंधाधुंध खिलवाड़ हो रहा है।

इससे पूर्व महर्षि दयानंद पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने गांव की गलियों में जाकर नुक्कड़ नाटक पेश किया। विद्यार्थियों ने लोगों को जागरुक करते हुए बताया कि जनसंख्या के बढ़ने से पर्यावरण में असंतुलन पैदा हुआ है। वातावरण को शुद्ध बनाए रखने के लिए छोटा परिवार का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जनसंख्या बढ़ने से धरती पर खतरा मंडरा रहा है यह मानव, पशुओं और पक्षियों के लिए भी घातक है। उन्होंने बताया कि जनसंख्या बढ़ने से लगातार पेड़ों की कटाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि जनसंख्या कम होती है तो पर्यावरण भी साफ सुथरा रह सकता है। इसलिए सुरक्षित और शुद्ध पर्यावरण के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण अति आवश्यक है। पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए अधिक पेड़ पौधे लगाए जाने चाहिए।
स्कूल के प्रिंसिपल डॉ. विनोद कुमार ने कहा कि जनसंख्या वृद्धि के कारण मनुष्य अपने स्वार्थ के वशीभूत होकर पेड़ काटता है। इसी मूर्खता से वह खुद और दूसरों के जीवन को खतरे में डाल रहा है। असंतुलित पर्यावरण को संतुलित बनाने के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाए जाने अति आवश्यक हैं।