हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग ने योगा, बैडमिण्टन, फुटबॉल, क्रिकेट, वॉलीबॉल, कबड्डïी, बेसबॉल, बॉक्सिंग, जूडो और कुश्ती में अंतर महाविद्यालय स्टेट टूर्नामैंट/चैम्पियनशिप 2018-19 के आयोजन के लिए वार्षिक कलैण्डर जारी किया है।
चंडीगढ़, 14 जुलाई- हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग ने योगा, बैडमिण्टन, फुटबॉल, क्रिकेट, वॉलीबॉल, कबड्डïी, बेसबॉल, बॉक्सिंग, जूडो और कुश्ती में अंतर महाविद्यालय स्टेट टूर्नामैंट/चैम्पियनशिप 2018-19 के आयोजन के लिए वार्षिक कलैण्डर जारी किया है।
विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां टूर्नामैंट/चैम्पियनशिप की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि योगा (महिला व पुरूष) का आयोजन 20 से 21 अगस्त 2018 तक राजकीय महाविद्यालय, जाटौली हेली मण्डी, गुरूग्राम में किया जाएगा। इसके लिए टीम को 14 अगस्त 2018 को रिपोर्ट करना होगा। बैडमिण्टन (महिला व पुरूष) खेल का आयोजन 19 से 22 सितम्बर 2018 तक हिंदू कॉलेज, सोनीपत में किया जाएगा। इस प्रतिस्पर्धा के लिए खिलाडिय़ों को 12 सितम्बर 2018 को रिपोर्ट करना होगा।
फुटबॉल (महिला व पुरूष) का आयोजन 15 से 18 जनवरी 2019 को जाट कॉलेज, हिसार में किया जाएगा। इसके लिए खिलाडिय़ों को 10 जनवरी 2019 को रिपोर्ट करना होगा। इसी प्रकार, क्रिकेट (पुरूष) का आयोजन 4 से 9 फरवरी 2019 को डीएवी कॉलेज, अम्बाला शहर में किया जाएगा और खिलाडिय़ों को 31 जनवरी 2019 को रिपोर्ट करना होगा तथा 13 से 16 फरवरी 2019 को वॉलीबॉल(महिला व पुरूष) का आयोजन आईजी नैशनल कॉलेज, लाडवा (रादौर) में किया जाएगा। खिलाडिय़ों को 8 फरवरी 2019 को रिपोर्ट करना होगा। इसी प्रकार, कबड्डïी (महिला व पुरूष) का आयोजन 25 से 28 फरवरी 2019 को एमएम कॉलेज, फतेहाबाद में किया जाएगा और खिलाडिय़ों को 20 फरवरी 2019 को रिपोर्ट करना होगा। उन्होंने बताया कि बेसबॉल (महिला व पुरूष) खेल का आयोजन 6 से 9 मार्च 2019 को राजकीय महाविद्यालय, कालका (पंचकूला) में किया जाएगा और खिलाडिय़ों को 28 फरवरी 2019 को रिपोर्ट करना होगा।
प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय विश्वविद्यालय संघ (एआईयू) द्वारा अपनाए गए और भारतीय बॉक्सिंग फैडरेशन के नियमानुसार पुरूष बॉक्सिंग 46-49 किलोग्राम भार श्रेणी, 52 किलोग्राम, 56 किलोग्राम, 60 किलोग्राम, 64 किलोग्राम, 69 किलोग्राम, 75 किलोग्राम, 81 किलोग्राम, 91 किलोग्राम और 91+ किलोग्राम भार श्रेणी में आयोजित की जाएगी। पुरूष श्रेणी का वजन लेने का कार्यक्रम 4 सितम्बर 2018 को प्रात: 8 बजे से 10 बजे तक होगा और खिलाडिय़ों को 31 अगस्त 2018 को राजकीय महाविद्यालय, भूना (फतेहाबाद) में रिपोर्ट करनी होगी। इसी प्रकार, महिला बॉक्सिंग 45-48 किलोग्राम भार श्रेणी, 51 किलोग्राम, 54 किलोग्राम, 57 किलोग्राम, 60 किलोग्राम, 64 किलोग्राम, 69 किलोग्राम, 75 किलोग्राम, 81 किलोग्राम और 81+ किलोग्राम भार श्रेणी में आयोजित की जाएगी। महिला बॉक्सिंग खिलाडिय़ों के वजन लेने का आयोजन 4 सितम्बर 2018 को प्रात: 8 बजे से 10 बजे तक होगा और खिलाडिय़ों को 31 अगस्त 2018 को राजकीय महाविद्यालय, भूना (फतेहाबाद) में रिपोर्ट करनी होगी।
एआईयू द्वारा अपनाए गए और भारतीय जूडो फैडरेशन के नियमानुसार जूडो खेल का आयोजन पुरूष वर्ग में 56 किलोग्राम, 60 किलोग्राम, 66 किलोग्राम, 73 किलोग्राम, 81 किलोग्राम, 90 किलोग्राम, 100 किलोग्राम और ओपन भार श्रेणी में किया जाएगा। महिला वर्ग के अन्तर्गत जूडो की भार श्रेणी में 44 किलोग्राम, 48 किलोग्राम, 52 किलोग्राम, 57 किलोग्राम, 63 किलोग्राम, 70 किलोग्राम, 78 किलोग्राम और ओपन भार श्रेणी में आयोजन किया जाएगा। महिला एवं पुरूष (जूडो) में वजन लेने का कार्यक्रम 10 सितम्बर 2018 को प्रात: 8 बजे से 10 बजे तक आयोजित किया जाएगा और खिलाडिय़ों को 4 सितम्बर 2018 को जाट कॉलेज, कैथल में रिपोर्ट करना होगा।
एआईयू द्वारा अपनाए गए और भारतीय कुश्ती फैडरेशन के नियमानुसार यह प्रतिस्पर्धा पुरूष भार वर्ग 57 किलोग्राम, 61 किलोग्राम, 64 किलोग्राम, 65 किलोग्राम, 70 किलोग्राम, 74 किलोग्राम, 84 किलोग्राम, 97 किलोग्राम और +97 किलोग्राम तथा 125 किलोग्राम तक भार वर्ग में कुश्ती का आयोजन किया जाएगा। इसी प्रकार, महिला कुश्ती के लिए भार श्रेणी में 48 किलोग्राम, 53 किलोग्राम, 55 किलोग्राम, 58 किलोग्राम, 60 किलोग्राम, 63 किलोग्राम, 69 किलोग्राम तथा 75 किलोग्राम शामिल हैं। महिला एवं पुरूष (कुश्ती) के वजन लेने का कार्यक्रम 28 अगस्त 2018 को प्रात: 8 बजे से 10 बजे तक आयोजित किया जाएगा और खिलाडिय़ों को 4 सितम्बर 2018 को राजकीय महाविद्यालय, इसराना (पानीपत) में रिपोर्ट करना होगा।
===============================================
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा शैक्षणिक सत्र 2018-19 से प्रदेश के सभी राजकीय/अराजकीय विद्यालयों का कक्षा आठवीं का एनरोलमेंट लगाने का कार्य आरम्भ किया जा रहा है।

चंडीगढ़, 14 जुलाई- हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा शैक्षणिक सत्र 2018-19 से प्रदेश के सभी राजकीय/अराजकीय विद्यालयों का कक्षा आठवीं का एनरोलमेंट लगाने का कार्य आरम्भ किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, कक्षा आठवीं तक के सभी अराजकीय स्थायी मान्यता प्राप्त विद्यालयों को सम्बद्धता आवेदन-पत्र एवं अन्य दस्तावेज 8000 रुपये के सम्बद्धता शुल्क के साथ जमा करवाने के लिए कहा गया है।
बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि सम्बद्धता के लिए 16 जुलाई, 2018 से 30 जुलाई, 2018 तक बिना विलम्ब शुल्क के तथा 5000 रुपये के विलम्ब शुल्क के साथ 31 जुलाई, 2018 से 17 अगस्त, 2018 तक की तिथि निर्धारित की गई है।
उन्होंने बताया कि सभी अराजकीय कक्षा आठवीं तक स्थायी मान्यता प्राप्त विद्यालय समय रहते अपने सम्बद्धता आवेदन-पत्र व शुल्क बोर्ड कार्यालय में जमा करवाएं। सम्बद्धता आवेदन-पत्र के साथ शिक्षा विभाग से प्राप्त मान्यता की प्रति, स्टाफ स्टेटमेंट, दूरभाष नम्बर सहित एवं सोसाईटी के प्रमाण-पत्र की सत्यापित प्रतियों को संलग्न अवश्य करें।
उन्होंने यह भी बताया कि कक्षा आठवीं के लिए सम्बद्धता हेतु आवेदन-पत्र व शुल्क बोर्ड मुख्यालय के अतिरिक्त जिला समन्वय केन्द्र अम्बाला, फरीदाबाद, फतेहाबाद, रोहतक में सचिव, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी के नाम से बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से जमा करवाए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि सम्बद्धता आवेदन-पत्र एवं सम्बन्धित सभी जानकारी बोर्ड की वैबसाइट 222.ड्ढह्यद्गद्ध.शह्म्द्द.द्बठ्ठ पर उपलब्ध है।
===========================================
कांग्रेस से मांगे धनखड़ ने जवाब
हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने सुरजेवाला के सवालों पर बोला हमला
: कहा जो आज किसान हितैषी होने का दम भर रहे हैं, क्या कभी किसानों के घर में एक साथ दिए 33,500 करोड़ रुपये
चंडीगढ़, 14 जुलाई- हरियाणा के कृषि मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने आज कांग्रेस के प्रवक्ता श्री रणदीप सुरजेवाला के सवालों पर हमला बोलते हुए कहा कि रणदीप सुरजेवाला और उनकी कांग्रेस पार्टी ये बताए कि वे सात साल तक फसलों का लाभकारी मूल्य देने की किसान आयोग की रिपोर्ट क्यों दबाये बैठी रही?
श्री धनखड़ महेंद्रगढ़ में 21 जुलाई को होने वाली किसान रैली के सिलसिले में आज रेवाड़ी में पार्टी के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों, विधायकों के साथ बैठक करने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि जो आज किसान हितैषी होने का दम भर रहे हैं, क्या उन्होंने कभी भी देश के किसानों को फसलों के भाव के रूप मे एक मुश्त 33,500 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी दी ? उन्होंने कहा कि वर्ष 1965 से बना कृषि मूल्य आयोग, 1980 से कृषि लागत व मूल्य आयोग के आकलन के मानदंडों में किसानों का लाभ क्यों नहीं जोड़ा गया? उन्होंने कहा कि शमशेर सिंह सुरजेवाला कांग्रेस के किसान सैल के वर्षों तक अध्यक्ष रहे और कांग्रेस से ही रहे, परन्तु ये सब नहीं करवा पाए।
धनखड़ ने कहा कि आज किस मुंह से रणदीप सुरजेवाला किसानों के हमदर्द बनने का प्रयास कर रहे हैं। कृषि मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि कांग्रेस हमेशा एमएसपी पर ही अटकी रही और उसने क्यों नहीं एमएसपी को प्रॉफिटेबल बनाया। उन्होंने कहा कि देश में छ: दशक तक राज करने वाली कांग्रेस पार्टी ने किसानों के हित में कभी इतना बड़ा फैसला नहीं लिया, जितना भाजपा की सरकार ने अपने इस कार्यकाल में लिया है।
कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला द्वारा उठाये गए सवालों पर प्रहार करते हुए उन्होंने तीन सवाल दागे। उन्होंने कहा सुरजेवाला सहित कांग्रेस को ये जवाब देना चाहिए कि देश में इतने वर्ष तक शासन करने वाली कांग्रेस आज तक एमएसपी को प्रॉफिटेबल बनाकर क्यों लागू नही कर सकी। श्री धनखड़ ने कहा कि सम्मानीय शमशेर सिंह सुरजेवाला, जो रणदीप सुरजेवाला के पिता हैं, लम्बे समय तक किसान सैल के प्रमुख रहे हैं। रणदीप सुरजेवाला इस बात का जवाब दें कि किसानों को सभी फसलों के अच्छे दाम क्यों नहीं दिलवा पाए।
कृषि मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि वर्तमान मोदी सरकार ने एक मुश्त किसानों के घर में 33 हजार 500 करोड़ भेजने का काम किया है। सभी फसलों के अच्छे दाम मिलें इसे सुनिश्चित किया है। स्वामीनाथन की रिपोर्ट से अधिक किसानों को देने का काम किया है। उन्होंने यह भी कहा कि फसलों की पैदावार के हिसाब से किसानों के हित में कदम उठाए हैं, जिससे किसान प्रसन्न हैं। बाजरे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बाजरे के दाम 96 प्रतिशत वृद्धि से किसानों के यहां खुशहाली आएगी।
=============================================
हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा अकादमी भवन, पंचकूला में साहित्यिक संवाद एवं रचनापाठ कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

चंडीगढ़, 14 जुलाई- हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा अकादमी भवन, पंचकूला में साहित्यिक संवाद एवं रचनापाठ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। संगोष्ठी की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार एवं पूर्व उपाध्यक्ष, हरियाणा साहित्य अकादमी श्री राधेश्याम शर्मा ने की। राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ एवं माँ सरस्वती के दीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ।
श्री राधेश्याम शर्मा ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि औपचारिक भाषणों से हटकर शिक्षाप्रद आत्म मंथन युक्त साहित्यिक संवाद तथा विभिन्न विचारों से ओत-प्रोत कविता पाठ के बाद कुछ भी कहना शेष नहीं रह जाता। इस प्रकार के आयोजन लिए उन्होंने निदेशक महोदया का आभार प्रकट किया। यह साहित्यिक संवाद हमें आत्ममंथन के लिए प्रेरित करते हैं। उन्होंने कहा कि संकट के समय साहित्यकारों ने ही समाज को नई दिशा दी है। साहित्यकारों की आवश्यकता सदैव ही समाज में थी और है तथा हमेशा ही रहेगी। उन्होंने कहा कि जीवन के विविध रंग इस कार्यक्रम के माध्यम से मुझे देखने को मिले हैं। अनेक रचनाकारों की रचनाओं में मुझे काफी प्रभावित एवं आंदोलित किया। निश्चित रूप से परस्पर संवाद करने से अनेक बातों का समाधान मिलता है।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में साहित्य अकादमी निदेशक द्वारा आमंत्रित साहित्यकारों का स्वागत किया गया। उन्होंने सभी साहित्यकारों से हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा आगामी योजनाओं के सम्बन्ध में अपने-अपने सुझाव देने के लिए कहा। उन्होंने साहित्यकारों द्वारा दिये गए सुझावों के सम्बन्ध में तथा विभिन्न प्रकार के उठाए गए सभी प्रश्नों का बहुत ही सटीक एवं भावपूर्ण ढंग से अपने विचारों के माध्यम से आकलन किया।
साहित्यिक संवाद में भाग लेने वाले रचनाकारों के विचारों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि आपकी प्रतिक्रियाएं अकादमी के लिए हमेशा स्वागत योग्य होती हैं। आज की चर्चा से भी अनेक ऐसी बातें निकली हैं जो अकादमी के भावी कार्यक्रम की योजना बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।
कार्यक्रम में श्री प्रेमविज, श्रीमती प्रतिभा माही, श्रीमती संतोष गर्ग, श्रीमती संगीता बेनीवाल ‘बचपन’, श्रीमती उर्मिल कौशिक ‘सखी’ ‘चि_ी’, श्रीमती तरूणा ‘जीने की शर्त’, श्रीमती मोदगिल नूर, श्री बालकृष्ण गुप्ता ‘वक्त’, श्रीमती अनिता सुरभि, श्रीमती जगमोहन कौर ‘थोड़ी सी’, श्री राजेश पंकज ‘उंगलियाँ’, श्री बृजभूषण शर्मा, श्री अनिल चिंतित, श्री विजेन्द्र सिंह, श्री जे.के. सोनी ‘लडक़ी’, श्रीमती संगीता पुखराज, श्रीमती प्रमिन्द्र सोनी ‘सुकून तेरी चाह’, श्री बी.डी. कालिया हमदम आदि लगभग 25 कवियों ने रचनापाठ किया।
===========================================
हरियाणा पुलिस ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने व गर्भपात कराने के मामले में महिला थाना पुलिस ने आरोपी को रेवाड़ी से गिरफ्तार कर लिया है।

चंडीगढ़, 14 जुलाई- हरियाणा पुलिस ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने व गर्भपात कराने के मामले में महिला थाना पुलिस ने आरोपी को रेवाड़ी से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी की पहचान गांव रामगढ़ निवासी अशोक कुमार के रूप में हुई है।
पुलिस विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि नाबालिग के पिता ने उक्त आरोपी पर नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने तथा गर्भपात कराने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस को दी शिकायत में पीडि़ता के पिता ने कहा था कि वह सदर थाना क्षेत्र में किराए पर रहता है तथा शादी समारोह व अन्य कार्यक्रमों में बर्तन साफ कर परिवार का गुजारा करता है। करीब तीन माह पूर्व उसकी 15 वर्षीय बेटी दुकान पर सामान लेने के लिए गई थी। इसी दौरान आरोपी उसकी बेटी को डरा धमका कर अपने घर ले गया तथा उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी ने उसकी बेटी को किसी को बताने पर जाने से मारने की धमकी भी दी। घटना के करीब दो माह बाद उसकी बेटी के पेट में दर्द हुआ था। उन्होंने एक नर्स से जांच कराई तो उसने बताया कि नाबालिग गर्भ से है। इसके बाद उन्होंने रेवाड़ी के अस्पताल में जांच कराया तो वहां भी उसकी बेटी के पेट में गर्भ बताया।
उन्होंने बताया कि आरोपी अशोक को पता लगा तो जान से मारने की धमकी देने लगा। इसके बाद अशोक व उसकी पत्नी उसकी बेटी को दिल्ली लेकर गए जहां उसका गर्भपात करा दिया। नाबालिग के पिता की शिकायत पर महिला थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी अशोक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा।
एक अन्य मामले में हरियाणा पुलिस ने महिला को जाल में फंसाकर दिल्ली व राजस्थान में देह व्यपार में धकेलने वाली रेवाड़ी के एक मोहल्ले से महिला को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार की गई महिला की पहचान दिल्ली इंद्रलोक निवासी महिला के रूप में हुई है।
प्रवक्ता ने बताया कि जानकारी अनुसार शहर के एक मोहल्ला से 12 जून को अचानक एक महिला लापता हो गई थी। परिजनों ने अपने स्तर पर तलाश करने के बाद रेवाड़ी शहर थाना पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। 11 जुलाई को महिला ने अपने परिजनों से संपर्क किया तथा चिड़ावा में एक महिला के चुंगल में होने की जानकारी दी। परिजन 12 जुलाई को महिला को वापस ले आए तथा पुलिस को सूचना दी।
महिला ने पुलिस को बताया कि एक महिला ने उसे बातों में फंसाकर दिल्ली बुला लिया था तथा उसे होटलों में देह व्यापार के लिए भेजना शुरू कर दिया। किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी दी जाती रही। पीडि़ता ने बताया कि आरोपी महिला से उसकी मुलाकात सफर के दौरान एक बस में हुई थी तथा उक्त महिला ने उसके मोबाइल नंबर ले लिए थे। इसके बाद से दोनों के बीच कई बार बातचीत भी हो चुकी थी। पुलिस ने पीडि़ता का मेडिकल व बयान दर्ज करने के बाद शुक्रवार की शाम को आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी महिला को शनिवार को अदालत में पेश किया, जहां से उसे दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपी महिला से गहनता से पूछताछ की जाएगी।