चंडीगढ़,15.07.18- शनिवार को उत्कल सांस्कृतिक संघ की ओर से जगन्नाथ मंदिर सेक्टर-31 से भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा शहर में धूमधाम के साथ निकाली गई। फूलों और मालाओं से सजे भगवान जगन्नाथ ऐसे लग रहे थे मानो उनका साक्षात अवतरण हुआ हो।

रथयात्रा में हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ जय श्री जगन्नाथ के जयकारे लगाते हुए व उनका गुणगान करते हुए चल रही थी। शहर के विभिन्न सेक्टरों से आए बच्चे, वृद्ध और महिलाएं सभी भगवान की रथयात्रा में शामिल हुए। भगवान जगन्नाथ की पूजा- अर्चना के बाद दोपहर 1 बजे भगवान जगन्नाथ की भव्य रथयात्रा की शुरुआत हुई। मुख्य अतिथि श्री देवेश मोदगिल महापौर चंडीगढ़, श्रीसंजय चंडीगढ़ टंडन भाजपा अध्यक्ष, श्री सत्यपाल जैन पूर्व सांसद एवं एडिशनल सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया आदि ने भक्तों के साथ जगनाथ यात्रा में भगवान का आशीर्वाद लिया व यात्रा का शुभारम्भ किया। इस मौके पर पूरा शहर राधे-राधे के जयकारों से गूंज उठा । यात्रा में रथ की रस्सी खींचने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। यात्रा के साथ भक्त नाचते-गाते हुए चल रहे थे। भगवान रथ में सवार थे और भक्त उनकी मस्ती में झूम रहे थे। मान्यता के अनुसार भगवान श्री जगन्नाथ भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ नगर भ्रमण पर निकले। इस रथ यात्रा में भगवान बलराम की पालकी को खींचने से पाप से मुक्ति के द्वार की तरफ प्रस्थान माना जाता है।

रथ को फूल मालाओं से सजाया गया था, जिसकी शोभा देखते ही बनती थी। रथ यात्रा सेक्टर-31 के श्री जगन्नाथ मंदिर से शुरू होकर सेक्टर-29, 30, 20, 21, 22, 23, 35, 36, 34,45, 46 और सेक्टर-47 होते हुए सेक्टर-31 स्थित मंदिर में 9 बजे के करीब दोबारा मंदिर में पहुंची। इस दौरान श्रद्धालुओं के लिए भंडारे का आयोजन भी किया गया। रथयात्रा का जगह-जगह भव्य स्वागत हुआ। श्रद्धालु कीर्तन करते रथयात्रा में चल रहे थे। उत्कल सांस्कृतिक संघ महासचिवएस के नायक ने बताया कि 22 जुलाई को बुहाडा यात्रा निकाली जाएगी।

12 Attachments