धर्मशाला, 15 जुलाई : खाद्य आपूर्ति मंत्री एवं धर्मशाला के विधायक किशन कपूर ने कहा कि धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र में पेयजल एवं सिंचाई व्यवस्था के सुधार पर इस वर्ष 10 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यह धनराशि सभी को पीने का पर्याप्त स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाने, पेयजल वितरण व्यवस्था के सुधार और किसानों, बागवानों को बेहतर सिंचाई सुविधा प्रदान करने के लिए व्यय की जाएगी।
किशन कपूर ने रविवार को धर्मशाला में सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक के उपरांत यह जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि 5 करोड़ रुपए व्यय कर पासू-ढगवार, फतेहपुर-होडल-सिद्धपुर और दाड़ी-बड़ोल पेयजल योजनाओं का स्तरोन्नयन किया जा रहा है। सितंबर महीने तक इनका कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा करीब 5 करोड़ सिंचाई योजनाओं पर खर्चे जा रहे हैं। किसानों-बागवानों को खेतीबाड़ी हेतु बेहतर सिंचाई सुविधा के लिए क्षेत्र में 7 कुहलों का निर्माण किया जाएगा । इसके तहत मच्छन दी कुहल, मच्छल कुहल, चरान दी कुहल, दुंदी कुहल, लोअर सुक्कड़ कुहल, झियोल रसवाला कुहल और फट् और धानी कुहलों का निर्माण किया जायेगा। इन कार्यों लिए टेंडर आमंत्रित कर लिए गए हैं।
किशन कपूर ने कहा कि तीन उठाऊ पेयजल योजनाओं सालिग-जथेड़, खनियारा-दाड़ी-सिद्धबाड़ी और कनेड़-बलवाल का सुधारीकरण व स्तरोन्नयन परियोजना को मंजूरी मिल चुकी है और जल्द ही इसका कार्य आरंभ कर दिया जाएगा।इस कार्य पर सवा 14 रुपए करोड़ खर्च होंगे।
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए और यह सुनिश्चित बनाएं कि किसी भी स्तर पर पैसों का दुरूपयोग न हो। पाईपों की गुणवत्ता का खास ख्याल रखें। उन्होंने जल के बेहतर वितरण पर ध्यान देने को कहा। उन्होंने अधिकारियों को यह तय बनाने के निर्देश दिए कि विभाग का फील्ड स्टाफ जमीन पर काम करे और अपनी डियूटी पूरी जिम्मेदारी से निभाए। उन्होंने पानी का दुरूपयोग रोकने के लिए भी कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने पेयजल भंडारण टैंकों एवं जल स्त्रोतों की साफ सफाई और क्लोरीनेशन पर विशेष ध्यान देने को कहा।
किशन कपूर ने कहा कि वे धर्मशाला क्षेत्र के समग्र विकास के लिए जी जान से जुटे हैं। धर्मशाला में सभी आधारभूत सहुलियतों के साथ ही अत्याधुनिक सुविधाएं विकसित करने एवं उन्हें सुगमता से लोगों को मुहैया करवाने के निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं।
बैठक में अधीक्षण अभियंता सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य लक्ष्मण ठाकुर, अधीशासी अभियंता विकास बक्शी सहित विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।