सोलन-दिनांक 15.07.2018-सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी तथा सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल की विविध जलवायुगत अनुकूलता से लाभान्वित होने के लिए कृषि वैज्ञानिकों को अनुसंधान तथा नवीन तकनीक के लाभों को खेतों तक पहुंचाना होगा। महेन्द्र सिंह ठाकुर आज डॉ. यश्वन्त सिंह परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी में विभिन्न निरीक्षण करने के उपरान्त विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों एंव अन्य को सम्बोधित कर रहे थे।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की जलवायुगत परिस्थितियां विभिन्न फलों, फूलों तथा बेमौसमी सब्जियों के उत्पादन के लिए सर्वथा अनुकूल हैं। उन्होंने कहा कि इस दिशा में हमारे प्रयासों की सफलता कृषि वैज्ञानिकों के योगदान पर निर्भर करेगी। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों को न केवल अनुसंधान तथा नवीन तकनीक को खेतों तक पहुंचाना होगा अपितु किसानों एवं बागवानों को इनके उपयोग की दिशा में प्रशिक्षित भी करना होगा।
बागवानाी मंत्री ने कहा कि मुख्यमन्त्री जयराम ठाकुर के ऊर्जावान नेतृत्व में प्रदेश सरकार 6 माह की अल्पावधि में ही केन्द्र सरकार से प्रदेश के लिए विकास की सशक्त योजनाएं स्वीकृत करवाने में कामयाब रही है। प्रदेश के कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बागवानी विकास के लिए केन्द्र सरकार ने 1688 करोड़ रुपए की महत्वाकांक्षी परियोजना स्वीकृत की है। यह परियोजना कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बागवानी विकास की नई इबारत लिखने में कामयाब होगी।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के सभी क्षेत्रों में श्रेष्ठ पेयजल एंव सिंचाई सुविधाएं प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है। राज्य सरकार के सत्त प्रयासों एवं केन्द्र सरकार की उदार सहायता से हिमाचल को पेयजल एवं सिंचाई क्षेत्र के लिए अनेक परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं। उन्होंने कहा कि सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के लिए वर्ष 2000 से पूर्व निर्मित पेयजल योजनाओं के सवंद्धन एवं आवश्यकतानुसार पुनः निर्माण के लिए 800 करोड़ रुपए की परियोजना स्वीकृत की गई है। वर्षाजल संग्रहण, पेयजल तथा सिंचाई क्षेत्र के लिए 4751 करोड़ रुपए की एक परियोजना केन्द्र सरकार के पास विचाराधीन है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही यह परियोजना भी स्वीकृत हो जाएगी।
सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल योजनाओं के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 3267 करोड़ रुपए की परियोजना स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए केन्द्र सरकार द्वारा लगभग 1900 करोड़ रुपए की परियोजना स्वीकृत की गई है।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने इससे पूर्व विश्वविद्यालय के विभिन्न उत्पादन एवं प्रशिक्षण केन्द्रों का निरीक्षण किया तथा वैज्ञानिकों को इस दिशा में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए।
उन्होंने इस अवसर पर विश्वविद्यालय परिसर में चन्दन का पौधा भी रोपा।
विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एच.सी. शर्मा ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय के सम्बन्ध में एक प्रस्तुतिकरण दिया।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुल सचिव राजेश मारिया, विभिन्न संकायों के अध्यापक, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियन्ता संजीव कौल, अन्य अधिकारी तथा गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
===================================================
कसौली विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाओं की समयबद्ध समीक्षा - महेन्द्र सिंह ठाकुर
विधानसभा क्षेत्र में स्थापित होंगे 50 हैंडपम्प
सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी तथा सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि जनहित एवं विभिन्न पेयजल तथा सिंचाई योजनाओं के सवंर्द्धन के दृष्टिगत सोलन जिले के कसौली विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाओं की समयबद्ध समीक्षा की जाएगी। महेन्द्र सिंह ठाकुर आज कसौली विधानसभा क्षेत्र के तहत कुम्हारहट्टी में स्थानीय भाजपा मण्डल एवं लोगों द्वारा आयोजित स्वागत समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार प्रदेश के सभी क्षेत्रों में बेहतर पेयजल एवं सिंचाई सुविधाएं प्रदान करने के लिए संकल्पबद्ध है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए मुख्यमन्त्री जयराम ठाकुर ने अपने पहले ही बजट में अनेक भविष्योन्मुखी योजनाएं प्रस्तुत की हैं। महत्वाकांक्षी ‘जल से कृषि को बल’ योजना के तहत अगले पांच वर्षों में 250 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। योजना के तहत प्रदेश में चैक बांध एवं तालाब निर्मित किए जाएंगे। प्रदेश में पेयजल योजनाओं पर इस वर्ष 275 करोड़ करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। वर्ष 2018-19 में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 2572 करोड़ रुपए व्यय किए जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में आवश्यकतानुरूप 50 हैंडपम्प भी समयबद्ध सीमा में स्थापित किए जाएंगे।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर का कसौली विधानसभा क्षेत्र में स्वागत करते हुए उन्हें क्षेत्र की पेयजल एवं सिंचाई आवश्यकताओं सें अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न पेयजल तथा सिंचाई योजनाओं का संवर्द्धन किया जाना आवश्यक है ताकि भविष्य की मांग के अनुरूप इन योजनाओं से लाभ प्राप्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र का कसौली न केवल प्रदेश का प्रमुख पर्यटन स्थल है अपितु हिमाचल का प्रवेश द्वार एवं प्रथम औद्योगिक क्षेत्र परवाणु भी यहीं है।
इससे पूर्व सोलन विधानसभा क्षेत्र के ओच्छघाट में भी सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री का भव्य स्वागत किया गया।
इस अवसर पर एपीएमसी सोलन के अध्यक्ष संजीव कश्यप, जिला भाजपा उपाध्यक्ष चितरंजन स्याल, जिला भाजपा महामन्त्री नरेन्द्र ठाकुर, मीडिया प्रभारी दीपक शर्मा, भाजपा मण्डल कसौली के उपाध्यक्ष हीरा नंद कश्यप, सचिव भीम सिंह, मीडिया प्रभारी चंदन शर्मा, शक्ति केन्द्र सुल्तानपुर के प्रधान यशपाल ठाकुर, जोगेन्द्रा केन्द्रीय सहकारी बैंक के निदेशक जोगेन्द्र स्याल, भाजपा महामन्त्री हीरानंद शर्मा, ग्राम पंचायत बोहली की प्रधान कमलेश, ग्राम पंचायत कोरों कैंथली की प्रधान रेखा कश्यप, ग्राम पंचायत चेवा के उपप्रधान मुकेश ठाकुर, भाजपा तथा भाजयुमो के पदाधिकारी, अन्य गणमान्य व्यक्ति, वरिष्ठ अधिकारी तथा क्षेत्रवासी उपस्थित थे।
.0.