डेंगू से बचाव के लिए एहतियात बरतें लोग

DHARAMSALA,09.08.18-बरसात के मौसम में अनेक बीमारियां पांव पसार लेती हैं। आम तौर पर बरसात में तेज बुखार से पीड़ित रोगियों की संख्या बढ़ जाती है। इसीलिए लोगों को बरसात के दिनों में होने वाली बीमारियों से सावधान रहना चाहिए। इस मौसम में फैलने वाली एक बीमारी हैै डेंगू। डेंगू एक वायरस से होने बाली बीमारी का नाम है जो एडीज नामक मच्छर के काटने से होता है। इस मच्छर के काटने पर विषाणु तेजी से मरीज के शरीर पर अपना असर दिखाते हैं जिससे तेज बुखार और सिर दर्द जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसे हड्डी तोड़ ‘‘बुखार’’ या ब्रेक बोन बुखार भी कहा जाता है। डेंगू होने पर मरीज के खून में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से घटती है जिसके कारण कई बार जान का जोखिम भी बन जाता है। डेंगूू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को नहीं फैलता है। यह केवल मच्छर के काटने से ही होता है।
गर्मी और बरसात के मौसम में यह बीमारी तेजी से पनपती है। डेंगू के मच्छर हमेशा दिन में काटते हैं।
डॉक्टर बताते हैं कि यदि किसी व्यक्ति को तेज ठंड और बुखार हो, कमर मांसपेशियों, जोड़ों और सिर में दर्द, हल्की खांसी, गले में दर्द और खराश, शरीर पर लाल-लाल दाने, थकावट, भूख न लगना और कमजोरी, उल्टी और दस्त होना डेंगू के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे किसी भी लक्षण पर मरीज को नजदीक के स्वास्थ्य केन्द्र में जांच करवा लेनी चाहिए।
अगर किसी भी व्यक्ति को ऊपर दिये गये लक्षणों में से कोई भी लक्षण दिखाई देता है तो तुरन्त डॉक्टर के पास जाएं डेंगू की जांच के लिए एनएस1 या एलाइजा टेस्ट किया जाता है जिसके आधार पर डॉक्टर तय करते हैं कि मरीज को डेंगू हुआ है या नहीं।
डेंगू से कैसे करें बचाव
डेंगू एक मच्छर से होने वाली बीमारी का नाम है अतः सभी को अपना बचाव मच्छर से करना है। डेंगू का घर एक जगह जमा साफ पानी है इसीलिए घर या आस-पास पानी 2 या 3 दिन से ज्यादा जमा न होने दें। कूलरों में मिट्टी के तेल का छिड़काव करें तथा घड़ों तथा बाल्टियों में जमा पानी को बदलते रहें। बुखार आने पर स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर जांच जरूर करवाएं। बच्चों को पूरी बाजू के कपड़े पहनाएं। इस मौसम में घरो की खिड़कियां बन्द रखें तथा कूड़े के डिब्बे में कूड़ा जमा न होने दें।
क्या कहते हैं उपायुक्त
उपायुक्त संदीप कुमार का कहना है कि लोगों को डेंगू और अन्य जीवाणु तथा वायरस जनित रोगों से बचाव को लेकर शिक्षित एवं जागरूक करने पर बल दिया जा रहा है। उन्होंने इस लोकोन्मुखी प्रयास में सभी से सक्रिय भागीदारी तथा इन रोगों से बचाव के लिए एहतियात बरतने का आग्रह किया है। उन्होंने सभी लोगों से जल स्त्रोतों को साफ-सुथरा रखने में सहयोग करने तथा अपने आस-पास के परिवेश में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने का आग्रह किया। उन्होंने लोगों से अपने घरों में पानी की टंकियों, कूलरों, गमलों की समय-समय पर सफाई करने का भी आग्रह किया।
===============================================
टंग से उथड़ाग्रां सड़क यातायात के लिए बंद
धर्मशाला, 9 अगस्त- लोक निर्माण विभाग उपमंडल नम्बर दो के सहायक अभियंता ने जानकारी देते हुये बताया कि टंग से उथड़ाग्रां की सड़क पर सीमेंट कंकरीट के प्रस्तावित कार्य के चलते यह सड़क पर वाहनों की आवाजाही 10 अगस्त से 9 सितम्बर, 2018 तक बंद रहेगी।
उन्होंने कहा कि सड़क कार्य के दौरान लोगों को असुविधा से बचाने के लिए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने लोगों से इस दौरान सहयोग की अपील की है।
==============================================
सोलन -दिनांक 09.08.2018
डॉ. बिंदल 10 अगस्त को सवागांव में
हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल 10 अगस्त 2018 को सोलन जिले के कंडाघाट उपमंडल के प्रवास पर आ रहे हैं।
डॉ. बिंदल 10 अगस्त 2018 को प्रातः 11.00 बजे कंडाघाट उपमंडल के गौड़ा के सवागांव में संपूर्ण शिव मंदिर प्रतिष्ठा समारोह में भाग लेंगे।
.=====================================================================================
सोलन-दिनांक 09.08.2018
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री 10 अगस्त को सोलन में
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आयुर्वेद, चिकित्सा शिक्षा तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री विपिन सिंह परमार 10 अगस्त 2018 को सोलन के प्रवास पर आ रहे हैं।
विपिन सिंह परमार इस दिन प्रातः 11.00 बजे सोलन में क्षेत्रीय अस्पताल सोलन के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण करेंगे।
.0======================================================================================  
SOLAN दिनांक 09.08.2018
साक्षात्कार 16 अगस्त, 2018 को
विकास खण्ड कार्यालय कुनिहार में चालक के रिक्त पद को भरने के लिए साक्षात्कार 16 अगस्त 2018 को उपमण्डलाधिकारी कार्यालय अर्की में प्रातः 10.00 बजे से आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी खण्ड विकास अधिकारी कुनिहार ने दी।
उन्होेंने कहा कि यह पद अनुबंध आधार पर भरा जाएगा।
खण्ड विकास अधिकारी ने कहा कि साक्षात्कार के लिए आवेदक 16 अगस्त, 2018 को अपने साथ दसवीं अथवा अधिक योग्यता के प्रमाणपत्र, सरकार द्वारा चिन्हित पिछड़ा क्षेत्र से सम्बन्धित प्रमाण पत्र, मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय व संस्थान से चालक पद के लिए 6 माह का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र, अनुभव प्रमाण पत्र, यदि आवेदक बीपीएल परिवार से सम्बन्ध रखता है तो बीपीएल प्रमाण पत्र की मूल एवं छाया प्रतियां तथा भारी/ एलएमवी लाईसैंस मूल रूप से साथ लेकर आएं।
अधिक जानकारी के लिए विकास खण्ड कार्यालय कुनिहार से सम्पर्क किया जा सकता है।
=========================================================================================
सोलन =दिनांक 09.08.2018
आंनगबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के रिक्त पदों के लिए आवेदन आमंत्रित
बाल विकास परियोजना सोलन के अंतर्गत विभिन्न आंगनवाड़ी केंद्रों में आंगनबाड़ी कार्यकताओं व सहायिकाओं के रिक्त पदों को भरने के लिए साक्षात्कार 10 सितंबर, 2018 को प्रातः 11.00 बजे बाल विकास परियोजना अधिकारी सोलन के कार्यालय में आयोजित होंगे। यह जानकारी आज यहां एक विभागीय प्रवक्ता ने दी।
उन्होंने कहा कि इन पदों के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित मानदेय देय होगा।
उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत सलोगड़ा के तहत आंगनबाड़ी केंद्र मनसार, ग्राम पंचायत शमरोड़ के तहत आंगनबाड़ी केंद्र धर्जा तथा ग्राम पंचायत कोठों के तहत आंगनबाड़ी केंद्र डमरोग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के पद भरे जाएंगे। ग्राम पंचायत डांगरी के अंतर्गत आंगनवाड़ी केन्द्र कायलर तथा ग्राम पंचायत भारती के अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्र मंझोलटी में आंगनवाड़ी सहायिका के पद भरे जाएंगे।
उन्होंने कहा कि इच्छुक उम्मीदवार निर्धारित प्रपत्र पर समस्त प्रमाण पत्रों की छाया प्रतियों सहित 07 सितंबर, 2018 तक बाल विकास परियोजना अधिकारी सोलन के कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि इन पदों के लिए वही महिला उम्मीदवार पात्र हैं जो सम्बन्धित आंगनवाड़ी केन्द्र के लाभान्वित क्षेत्र में प्रथम जनवरी 2018 को सामान्य रूप से रह रहे परिवार से सम्बन्ध रखती हो। उम्मीदवार की आयु 21 से 45 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता दस जमा दो तथा आंगनवाड़ी सहायिका के उम्मीदवार के लिए आठवीं उतीर्ण होनी चाहिए। यदि आंगनबाड़ी सहायिका के लिए कोई 8वीं उतीर्ण महिला आवेदन नहीं करती है तो पांचवी उतीर्ण महिला के मामले में भी विचार किया जाएगा। इसके लिए पांचवीं पास महिला का अन्य शर्तंे पूरी करना अनिवार्य है।
उन्होंने कहा कि इन पदों के लिए उम्मीदवार के परिवार की वार्षिक आय 35 हजार रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। इस संबंध में उम्मीदवार को प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा जो कि तहसीलदार अथवा नायब तहसीलदार द्वारा प्रति हस्ताक्षरित किया होना चाहिए।
उन्होंने कहा कि आवेदक को आयु, शैक्षणिक योग्यता, निवासी प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रतियां साक्षात्कार के समय साथ लानी होंगी अथवा इससे पूर्व कार्यालय में प्रस्तुत करनी होंगी। उम्मीदवार को साक्षात्कार के समय मूल प्रमाण पत्र साथ लाने होंगे।
अधिक जानकारी के लिए इच्छुक उम्मीदवार समीप के आंगनवाड़ी केन्द्र अथवा बाल विकास परियोजना अधिकारी सोलन के कार्यालय दूरभाष नम्बर 01792-221640 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
.======================================================================================
सोलन दिनांक 09.08.2018
जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक आयोजित
राज्य वित्तायोग के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में जिला परिषद द्वारा पंचायत समिति सोलन को 28 कार्यों के लिए 22.57 लाख रुपये, पंचायत समिति नालागढ़ को 88 कार्यों के लिए 67.60 लाख रुपये, पंचायत समिति धर्मपुर को 27 कार्यों के लिए 27.42 लाख रुपये, पंचायत समिति कंडाघाट को 27 कार्यों के लिए 19.77 लाख रुपये तथा पंचायत समिति कुनिहार को 29 कार्यों के लिए 20.91 लाख रुपये आबंटित किए गए हैं। यह जानकारी आज यहां जिला परिषद अध्यक्ष सोलन धर्मपाल चौहान ने जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
धर्मपाल चौहान ने कहा कि जिला परिषद की आज आयोजित बैठक में वर्ष 2018-19 के लिए जिला परिषद एवं पंचायत समितियों की शैल्फों का अनुमोदन भी किया गया है। राज्य वित्तायोग द्वारा जिला परिषद सोलन को एक करोड़ 98 लाख 52 हजार 360 रुपये, पंचायत समिति सोलन को 19 लाख 32 हजार 287 रुपये, पंचायत समिति धर्मपुर को 26 लाख 56 हजार 468 रुपये, पंचायत समिति कंडाघाट को 11 लाख 65 हजार 593 रुपये, पंचायत समिति कुनिहार को 25 लाख 32 हजार 637 रुपये तथा पंचायत समिति नालागढ़ को 49 लाख 47 हजार 910 रुपये की शैल्फ स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि जिला परिषद के सभी 17 वार्डों के लिए जनसंख्या के अनुपात में राशि स्वीकृत की गई है।
जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि जिला परिषद सदस्य एवं पंचायती राज प्रतिनिधि आमजन की समस्याएं सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के क्रियान्वयन एवं जन समस्याएं सुलझाने में सभी स्तरों पर जन प्रतिनिधियों से तालमेल स्थापित करें ताकि समस्याआंे का समाधान शीघ्र किया जा सके।
बैठक में लोक निर्माण, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग, हिमाचल पथ परिवहन निगम, शिक्षा, स्वास्थ्य, राजस्व, राज्य विद्युत बोर्ड, उद्योग तथा दूरसंचार इत्यादि विभिन्न विभागों से संबंधित 62 मदों पर चर्चा की गई। संबंधित विभागों के अधिकारियों ने विभागीय मदों पर हुई कार्यवाही के संदर्भ में सदन में प्रगति बारे जानकारी प्रदान की।
जिला परिषद के उपाध्यक्ष जगन्नाथ शर्मा ने नालागढ़-धरमाणा बस को वाया गावर, मोड़ स्वारघाट करने तथा रात्रि ठहराव स्वारघाट में करने की मांग की। उन्होंने नेरली से चरनग तक सड़क निर्माण, सौर तथा डोली के मध्य गंभर खड्ड पर पुल निर्मित करने तथा भ्यूंखरी-चनौली सड़क पर पुल निर्माण की मांग की।
जिला परिषद सदस्य सुनीता गर्ग ने अर्की-चंडीगढ़ बस सेवा को सुचारू रूप से चलाने, अर्की से हरिद्वार तक सीधी बस सेवा आरंभ करने तथा ग्राम पंचायत बनोह खरड़हट्टी में हैंडपंप स्थापित करने की मांग की।
जिला परिषद सदस्य रामकृष्ण ने दाड़लाघाट में मल निकासी के लिए लाइन स्थापित करने, चांडा-कांगरी पेयजल योजना से स्कोर गांव के लिए पेयजल आपूर्ति आरंभ करने, मांगू से मण्डप तक सड़क निर्माण तथा सरडमरास में सड़क पर पुल निर्माण की मांग की।
जिला परिषद सदस्य सत्या कौशल ने ग्राम पंचायत हरिपुर में हैंडपंप स्थापित करने, सतडोल से बंगयार वाया शारडाघाट मार्ग पर पथ परिवहन निगम की बस सेवा शीघ्र आरंभ करने, क्षेत्रीय की विभिन्न ग्राम पंचायतों में सौर ऊर्जा चलित लाईटें स्थापित करने की मांग की।
अन्य सदस्यांे ने पेयजल आपूर्ति, विद्युत आपूर्ति, सड़क एवं पुल निर्माण इत्यादि के संबंध में क्षेत्र की मांगें प्रस्तुत की।
अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विवेक चंदेल ने जिला परिषद सदस्यों विश्वास दिलाया कि जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न मामलों को समय पर निपटाया जाएगा तथा विकास कार्यों को निर्धारित समय पर पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जन समस्याओं को जन प्रतिनिधियों के साथ बेहतरीन तालमेलन बिठाकर समस्याओं का निपटारा करें।
जिला पंचायत अधिकारी सतीश अग्रवाल ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया।
बैठक में पुलिस उपाधीक्षक सोलन अमित ठाकुर, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सोलन सुरेश कुमार सिंघा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके दरोच, राज्य बिजली बोर्ड के अधिशासी अभियंता सीएस चावल, वन मंडलाधिकारी कुनिहार एसके नेगी, उपनिदेशक उद्यान बीएस गुलेरिया, उपनिदेशक कृषि आरएन ठाकुर, उपनिदेशक उच्च शिक्षा पूनम सूद, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग अर्की के अधिशाषी अभियंता जेएस चौहान, लोक निर्माण विभाग कसौली के अधिशाषी अभियंता रवि भट्टी, लोक निर्माण विभाग अर्की के अधिशाषी अभियंता अजय कुमार सोनी, अधिशाषी अभियंता राष्ट्रीय राजमार्ग अरविंद शर्मा, विभिन्न विकास खंड अधिकारी, जिले के अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
.========================================================================================
सोलन दिनांक 09.08.2018
स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन में व्याख्यान आयोजित
हिमाचल प्रदेश विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं पर्यावरण परिषद ‘हिमकोस्ट’ के तत्वावधान में प्रदेश में महविद्यालयों में लोकप्रिय व्याख्यान श्रृंखला आयोजित की जा रही है। इसी कड़ी में स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन में आज एक व्याख्यान का आयोजन किया गया।
डॉ. यशवंत सिंह परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के कुलपति डॉ. एचसी शर्मा ने ‘सतत फसल उत्पादन और खाद्य सुरक्षा के लिए कृषि में जैव प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोगों पर व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि कीटनाशकों के अधिक प्रयोग के कारण स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याएं उत्पन्न हुई हैं और वनस्पति एवं जीवन जगत पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ा उन्होंने ‘जीन अभिव्यक्ति’ के संदर्भ में जैव प्रौद्योगिकी की उपयोगिता तथा इसके अनुप्रयोगों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की।
पंजाब विश्वविद्यालय के भौतिकी विभाग के डॉ. राजीव कुमार पुरी ने ‘विज्ञान और क्या’ विषय पर व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि विज्ञान एक विश्वास है। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि विचारों से डरे नहीं अपितु उन्हें तलाशें। उन्होंने भौतिकी शास्त्र के विनाशकारी सीमाओं और नवाचारों के संदर्भ में उपयोगी जानकारी प्रदान की।
हिमकोस्ट की वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी परनीता ठाकुर ने हिमकोस्ट की भूमिका पर विस्तार से प्रकाश डाला।
इस अवसर पर राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सोलन की प्रधानाचार्य नीलम कौशिक, विज्ञान पर्यवेक्षक सोलन अमरीश तथा व्याख्यानकर्ताओं के अतिरिक्त बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित थे।
=====================================================================================
कुल्लू -09 अगस्त 2018
क्रिस्टियन नर्सिंग संस्थान में बताईं नालसा की योजनाएं
जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने वीरवार को क्रिस्टियन नर्सिंग संस्थान कुल्लू में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया। शिविर की अध्यक्षता प्राधिकरण के सचिव एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी हकीकत ढांडा ने की।
इस अवसर पर हकीकत ढांडा ने बताया कि सभी लोगों को आसानी से न्याय सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय विधिक सेवाएं प्राधिकरण (नालसा) ने कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं आरंभ की हैं। मुफ्त कानूनी सहायता योजना इन्हीं योजनाओं में से एक है। एससी-एसटी वर्ग के लोग, महिलाएं, विकलांग, वरिष्ठ नागरिक, किसी भी तरह की आपदा से पीड़ित और सालाना एक लाख रुपये से कम आए वाले लोग मुफ्त कानूनी सहायता योजना का लाभ उठा सकते हैं। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने बताया कि तेजाब हमले की शिकार महिलाओं के लिए भी नालसा ने विशेष प्रावधान किए हैं। ऐसे हमलों की पीड़ित महिलाओं को आर्थिक मदद भी दी जाती है। इस अवसर पर क्रिस्टियन नर्सिंग संस्थान के प्रधानाचार्य सुखदेव मसीह ने शिविर के आयोजन के लिए जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण का आभार व्यक्त किया। शिविर में संस्थान की लगभग 100 छात्राओं ने भाग लिया।
========================================================================================
कुल्लू -09 अगस्त 2018
शांगरीबाग, चैकी डोभी में बंद रहेगी बिजली
लाइनों की आवश्यक मरम्मत के चलते 10 अगस्त को शांगरीबाग, चैकी डोभी और इसके आस-पास के इलाकों में सुबह दस से सायं पांच बजे तक बिजली बाधित रहेगी। बिजली बोर्ड के सहायक अभियंता रेवत सिंह ठाकुर ने इस दौरान सभी उपभोक्ताओं से सहयोग की अपील की है।
=========================================================================================
कुल्लू - 09 अगस्त 2018
शांगरीबाग, चैकी डोभी में बंद रहेगी बिजली
लाइनों की आवश्यक मरम्मत के चलते 10 अगस्त को शांगरीबाग, चैकी डोभी और इसके आस-पास के इलाकों में सुबह दस से सायं पांच बजे तक बिजली बाधित रहेगी। बिजली बोर्ड के सहायक अभियंता रेवत सिंह ठाकुर ने इस दौरान सभी उपभोक्ताओं से सहयोग की अपील की है।
=======================================================================================
क्षय रोग से बचाव के लिए माइक्रो प्लान तैयार : सीएमओ
हमीरपुर 9 अगस्त। समाज के कमजोर वर्गों ,प्रवासी मजदूरों ,अनाथ ,कुपोषित व अन्य वर्गो में क्षय रोग का पता लगने हेतु टीमों का गठन किया गया है तथा इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार हो चुका है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी सावित्री कटवाल ने वीरवार को स्वास्थ्य विभाग हमीरपुर द्वारा कार्यान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होंने कहा कि विभिन्न कार्यक्रमों के तहत निर्धारित लक्ष्यों को समयबद्व पूरा किया जाएगा। उन्होंने पुरुष नसबंदी को अधिक से अधिक बढ़ावा देने हेतु भी जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने पर बल दिया।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजय जगोता ने बताया की जिला की 4 लाख 70 हजार जनसंख्या में से कुल 55 हजार आवादी क्षय रोग की दृष्टि से संबेदनशील है तथा 48 से 50 हजार की लक्ष्य पर आबादी नक्शे पर चिन्हित है जिन्हें घर -घर भ्रमण कर टीम स्क्रीन करेगी बा अगर टीबी पाई जाती है तो इलाज सुनिश्चित करेगी।
इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजय जगोता ने विभाग द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं तथा कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने जनमंच ,आयुष्मान भारत ,डेंगू ,मलेरिया व स्वच्छता सहित कई विषयों बारे शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने हेतु महत्वपूर्ण टिप्स व सुझाव दिए। जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ अरविन्द कौंडल डॉ अजय अत्री व डॉ आशीष ने भी अपने-2 संभागों से सम्बंधित कार्यक्रमों पर विवेचना की तथा उपस्थित सदस्यों को जानकारी दी।
इस अवसरपर विश्व स्वास्थ्य संगठन के कंसलटेंट डॉ रविंदर , समस्त खंड चिकित्सा अधिकारी, डॉ ललित कालिया ,डॉ आर के अग्निहोत्री ,डॉ अशोक कौशल ,डॉ संजय अवस्थी ,डॉ हेत राम कालिया , डॉ गौतम , जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ अरविन्द कौंडल डॉ अजय अत्री , डॉ आशीष ,जिला जनशिक्षा एवं सूचना अधिकारी सतीश शुक्ला ,समस्त खंडो के स्वास्थ्य शिक्षक सुरेश ,सुनील ,राम प्रशाद , पर्यवेक्षक मोहिंदर ,जोगिन्दर , ब्रहम दास एनएचएम् अकाउंटेंट शीतल ,मुकेश ,मनु व मंजीत उपस्थित रहे।