कुल्लू - 13 अगस्त 2018-वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा है कि पिछले एक माह के दौरान प्रदेश भर में 40 लाख से अधिक पौधे लगाए जा चुके हैं। सोमवार को कुल्लू कालेज में ‘अखंड शिक्षा ज्योति, कुल्लू महाविद्यालय से निकले मोती’ कार्यक्रम के तहत आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर वन मंत्री ने बताया कि 12,13 और 14 जुलाई को प्रदेश भर में विशेष अभियान के तहत 10 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन इन तीन दिनों के दौरान साढे 17 लाख से अधिक पौधे लगाए गए। एक माह में यह आंकड़ा 40 लाख से ऊपर पहुंच चुका है।
उन्होंने कहा कि वन विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों के अलावा लगभग 86000 लोग स्वयं पौधारोपण के लिए आगे आए हैं। आम लोगों के इस उत्साह को देखते हुए वन विभाग ने इस साल के अंत तक 90 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है और इस आंकड़े को एक करोड़ तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। गोविंद सिंह ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों की एक विशेष टीम लगातार पौधारोपण कार्यक्रमों पर नजर रख रही है।
पौधारोपण के लिए कुल्लू कालेज की ओर से की गई पहल की सराहना करते हुए गोविंद सिंह ने विद्यार्थियों व शिक्षकों से पौधों की देखभाल सुनिश्चित करने की अपील भी की। वन मंत्री ने कालेज परिसर का निरीक्षण किया और ब्यास के किनारे स्वयं भी देवदार का पौधा लगाया। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को कालेज के साथ ही ब्यास के किनारे दीवार व बाड़ लगाने के लिए एस्टीमेट तैयार करने के निर्देश दिए। कार्यक्रम के दौरान कालेज की एनसीसी, एनएसएस, रोवर्स एंड रेंजर्स की इकाईयों तथा अन्य विद्यार्थियों ने लगभग 500 पौधे लगाए।
इस अवसर पर एचआरटीसी की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए गोविंद सिंह ने बताया कि निगम ने इस वर्ष सात माह के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में अपने राजस्व में 32 करोड़ रुपये की वृद्धि की है। 31 मार्च तक निगम के सालाना राजस्व में 100 करोड़ रुपये का इजाफा करने का लक्ष्य तय किया गया है।
इससे पहले कालेज के प्रधानाचार्य डा. नंदलाल शर्मा ने वन मंत्री का स्वागत किया तथा ‘अखंड शिक्षा ज्योति, कुल्लू महाविद्यालय से निकले मोती’ कार्यक्रम की जानकारी दी। प्रोफैसर डा. अनूप कुमार ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस मौके पर बंजार के विधायक सुरंेद्र शौरी, वरिष्ठ भाजपा नेता युवराज बौद्ध, अखिलेश कपूर, अरविंद चंदेल, दानवेंद्र सिंह, कालेज के प्राध्यापक और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।