युवाओं को स्वरोजगार से जुड़ने के लिए प्रेरित करें शिक्षक: उपायुक्त
कहा.......बच्चों को नशे से दूर रखने में अभिभावकों तथा शिक्षकों की अहम भूमिका
धर्मशाला, 10 अक्तूबर-: जिलाधीश कांगड़ा संदीप कुमार ने स्वरोजगार सृजन की अपार संभावनाओं का उल्लेख करते हुए कॉलेजों-स्कूलों के अध्यापकों से युवाओं को स्वरोजगार लगाने के लिए प्रोत्साहित करने पर जोर देने को कहा है। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार जैसी गतिविधियों की ओर युवाओं का रूझान बढ़ाने और उन्हें इनसे जुड़ने को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष प्रयास आवश्यक हैं। इनसे उनकी ऊर्जा सही दिशा में उपयोग में लाई जा सकेगी और उन्हें नशे की गिरफ्त से फसंने से भी बचाना संभव होगा। वे आज धर्मशाला में राजकीय महाविद्यालय के सभागार में नशीली दवाओं के दुरूपयोग पर संवेदनशीलता बढ़ाने तथा नशे के दुष्प्रभावों को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में बोल रहे थे। कार्यशाला का आयोजन कांगड़ा जिला प्रशासन नेे क्षेत्रीय संसाधन एवं प्रशिक्षण संस्थान गुंजन के सहयोग से यह कार्यक्रम आयोजित किया।
संदीप कुमार ने कहा कि युवा देश का भविष्य है। युवा वर्ग यदि स्वस्थ, सशक्त होगा तभी देश प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि कई बार युवा पीढ़ी आधुनिक दिखने की होड़ में नशे को अपना लेती है। इन सब अवस्थाओं में जीवन से भटक कर मनुष्य गलत आदतें अपना लेता है। उन्होंने कहा कि नशा एक धीमा जहर है जो व्यक्ति को मानसिक, शारीरिक सामाजिक एवं आर्थिक रूप से कमजोर करता है। इसके लगातार सेवन से व्यक्ति अनेक प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाता है। नशा कोई भी हो, वह व्यक्ति के शारीरिक एवं बौद्धिक विकास व स्मरण शक्ति को क्षीण बनाकर उसकी रचनात्मकता को दुर्बल बनाता है। उन्होंने बच्चों से नशे से दूर रहने का आग्रह किया।
उन्होंने कहा कि नशे के सेवन से व्यक्ति सदैव चिन्तित व उदासीन रहता है तथा हाथों में पसीना, अकेले में रहने की प्रवृति, भूख न लगना, वजन कम होना, आंखों में लाली, सूजन का होना, आवाज का लड़खड़ाना, शरीर में इन्जेक्शन लगाने के निशान तथा कपडे़ मे रक्त के धब्बे, उल्टी आना, शरीर में दर्द रहना, चक्कर आना, सुस्त रहना, अत्यधिक नींद आना, थकान एवं चिडचिड़ापन, याददाशत कमजोर होने, काम में मन न लगना, दैनिक कार्यो और खेलकूद में रूचि कम होना मुख्य रूप से नशे के ही लक्षण है।
उपायुक्त ने कहा कि नशे के सेवन से शारिरक विकार जैसे मुंह, गले, लीवर, फेफड़े, दिल, गुर्दे व त्वचा में संग्रमण हो सकता है। इसके अतिरिक्त मुंह, गले, आंत, लीवर व फेफड़ों का कैंसर हो सकता है। नशा परिवारिक कलह व झगड़ों को जन्म देता है। नशे के सेवन वाला व्यक्ति चोरी, डकैती, व्यभिचार, तस्करी जैसे अपराधों में संलिप्त हो जाते हैं तथा समाज ऐसे व्यक्तियों की गणना बुरे व्यक्तियों में करता है जिससे व हीन भावना से ग्रस्त हो जाते हैं। धुम्रपान से जहां कैंसर, सांस का रोग, दमा, खांसी इत्यादि, हृदय रोग तथा गैंगरीन जैसे लाईलाज रोग पैदा होते हैं, वहीं बीड़ी,
======================================================================================
सिगरेट से फैलने वाले धुएं से अप्रत्यक्ष रूप से गर्भवती महिलाएं व मासूम बच्चे भी भयानक रोगों की चपेट में आ जाते हैं।
संदीप कुमार ने कहा कि बच्चों को नशे से दूर रखने के लिए अभिभावकों का अहम रोल होता है। माता-पिता को चाहिए की वह बच्चों का पूरा-पूरा ध्यान रखें तथा उनके साथ अधिक से अधिक समय बिताएं तथा बच्चों व उनके साथियों की गतिविधियों पर पूरा-पूरा ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि अभिभावक घर का माहौल सकारात्मक बनाएं ताकि बच्चे घर में ही खुश रह सकें। बच्चों की भावनाओं व रूचियों का पूरा-पूरा ध्यान रखें। मां-बाप को चाहिए कि वह बच्चों के लिए आदर्श बनें तथा जहां तक संभव हो सके नशे का सेवन न करें। उन्होंने कहा कि अभिभावक बच्चों से नशे से होने वाली बीमारियों बारे विस्तार से चर्चा करें ताकि बच्चों को नशे से होने वाली बीमारियों का ज्ञान हो सके। यदि बच्चा नशे का शिकार है तो तुरन्त डाक्टर से परामर्श लें। समय पर उपचार से नशे से मुक्ति पाई जा सकती है।
उपायुक्त ने कहा कि बच्चों को नशे से दूर रखने में शिक्षकों की भी अहम भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि शिक्षक छात्र-छात्राओं से खुलकर अनौपचारिक बातचीत कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं की गतिविधियों में खुद भी संलग्न रहें और उनकी अभिरूचियों में भी दिलचस्पी रखें। उन्होंने शिक्षकों से आग्रह किया कि युवावस्था की शरूआत से सम्बन्द्ध मुद्दों पर अपने छात्र-छात्राओं के साथ चर्चा करें और यदि कोई समस्या हो तो निपटने का सुझाव दें तथा उनके करियर का चुनाव करने और वास्तविक लक्ष्य तय करने में सहायता और मार्गदर्शन करें।
इससे पूर्व राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य तथा नोडल अधिकारी सुनील मेहता ने मुख्यातिथि का स्वागत किया।
इस दौरान उपायुक्त ने गुजंन के सभी पदाधिकारियों का इस मुहिम में बढ़चढ़ कर सहयोग देने के लिए धन्यावाद किया।
इस अवसर पर केन्द्रीय विश्वविद्यालय से सोनम देचन ने नशीली दवाओं के दुरूपयोग की रोकथाम तथा नशे से सम्बन्धित अन्य मुद्दों पर विस्तार से बताया।
गुजंन के निदेशक विजय कुमार ने मंच का संचालन किया तथा दवाओं के सेवन से होने वाले नुकसान, निकासी लक्षणों और उपचार सेवाओं, नशे से बच्चो को दूर रखने में परिवार, शिक्षण संस्थानों, सामुदायिक आधारित, गैर सरकारी, पावर रिएक्टर सूचना प्रणाली संगठनों की भूमिका पर प्रकाश डाला। इस दौरान नशे से होने वाले प्रभावों पर फिल्म दिखाई गई।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल, उपनिदेशक उच्च शिक्षा के.के.शर्मा, उपनिदेशक प्रारम्भिक शिक्षा दीपक किनायत, सामाजिक उत्थान संस्था गुजंन के संस्थापक संदीप परमार सहित शैक्षिणक संस्थानों के प्रमुख, पीटीए अध्यक्ष व छात्र प्रबन्धन समितियों के सदस्य, गुंजन के पदाधिकारियों सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।
=========================================================================================
कांगड़ा में नवम्बर में होगा त्रिर्गत उत्सव
धर्मशाला, 10 अक्तूबर: उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि कांगड़ा जिला में नवम्बर महीने में त्रिर्गत उत्सव का आयोजन किया जाएगा। महीने भर चलने वाले इस उत्सव में लोगों को कांगड़ा की कला, संस्कृति एवं इतिहास के विविध पहलुओं से रूबरू करवाने के लिए जिलेभर में विभिन्न कार्यक्रमों की श्रृंखला आयोजित की जाएगी। संदीप कुमार ने आज यहां त्रिर्गत उत्सव के आयोजन को लेकर कार्ययोजना बनाने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों एवं संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की।
उपायुक्त ने कहा कि इतिहास के पन्नों में त्रिगर्त के नाम से दर्ज कांगड़ा का रोम रोम प्रकृति, कला-संस्कृति, इतिहास और धर्म के विविध आख्यानों से सराबोर है। देष-विदेश के सैलानियों के साथ साथ स्थानीय लोगों को भी अपनी समृद्ध कला-संस्कृति एवं इतिहास से अवगत करवाने एवं इसके संरक्षण व संवर्द्धन के लिए त्रिर्गत उत्सव का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह उत्सव पहली नवम्बर से 30 नवम्बर तक चलेगा। महीने भर में पूरे जिला में विभिन्न स्थलों पर अलग अगल कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इसे लेकर 16 अक्तूबर को होने वाली बैठक में कार्यक्रमों के लिए स्थलों एवं समय का निर्धारण किया जाएगा।
त्रिर्गत उत्सव में होंगे ये कार्यक्रम
संदीप कुमार ने कहा कि त्रिर्गत उत्सव में अलग-अलग कलाओं से जोड़ने के उद्देश्य से कार्यक्रम की श्रृंखला आयोजित की जाएगी। इसके तहत कांगड़ा कला एवं साहित्य परिषद के सहयोग से कवि सम्मेलन, त्रिर्गत की कला, संस्कृति एवं इतिहास पर सेमीनार, स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका एवं अन्य कला विधाओं पर बनी डॉक्यूमेंट्री का प्रदर्षन एवं लोक कथाआंे पर आधारित थियेटर प्ले इत्यादि आयोजित किए जाएंगे।
उपायुक्त ने कहा कि इसके अलावा कांगड़ा आर्ट्स प्रमोशन्ज संस्था एवं निफ्ट के सहयोग से विभिन्न स्थलों पर कांगड़ा कमल पेंटिग्स की प्रदर्शनी एवं फैशन शो जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। ड्रिफ्ट संस्था के सहयोग से कहानी पाठ और स्कूलों में ड्रामा प्ले इत्यादि आयोजित किए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त भाषा कला विभाग के सहयोग से म्यूजिकल कंर्सट और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहयोग से लोक नृत्य एवं गायन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। साथ ही ‘टिप्पा’ के कलाकार ‘थैंक्यू इंडिया’ मुहिम के तहत तिब्बती कला संस्कृति पर आधारित कार्यक्रम आयोजित करेंगे। इसके अलावा त्रिर्गत उत्सव के दौरान पर्यटन विभाग के सहयोग से ‘फूड फेस्टिवल’ का आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने लोगों से त्रिर्गत उत्सव को सफल बनाने के लिए अपने सुझाव जिला भाषा अधिकारी कार्यालय के दूरभाष नंबर 01892-223240 पर देने का आग्रह किया है।
इस दौरान अतिरिक्त जिलादंडाधिकारी मस्त राम भारद्वाज, जिला पर्यटन विकास अधिकारी डॉ. मधु चौधरी, प्रख्यात साहित्यकार गौतम शर्मा व्यथित, टिप्पा एवं निफ्ट के निदेशक व अन्य विभागों के अधिकारी तथा संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
=========================================================================================
सोलन -दिनांक 10.10.2018
डॉ. राजीव सैजल के 11 अक्तूबर के प्रवास में आंशिक परिवर्तन
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल के 11 अक्तूबर 2018 के सोलन प्रवास में आंशिक परिवर्तन किया गया है।
डॉ. सैजल 11 अक्तूबर को कसौली विधानसभा क्षेत्र में लोगों की समस्याएं सुनेंगे।
==========================================================================================
सोलन -दिनांक 10.10.2018
डॉ. बिंदल 14 अक्तूबर को सोलन के प्रवास पर
हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल 14 अक्तूबर, 2018 को सोलन जिला के प्रवास पर होंगे।
डॉ. बिंदल 14 अक्तूबर को सांय 4.00 बजे सूर्या विहार सोलन में वार्ड नंबर 11 व 15 वैल्फेयर एसोसिएशन द्वारा आयोजित नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम में भाग लेंगे। तदोपरांत डॉ. बिंदल रात्रि 8.00 बजे अग्रवाल सभा सोलन द्वारा सोलन में आयोजित किए जा रहे महाराज अग्रसेन जयंती के वार्षिक उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेंगे।
इसके उपरांत विधानसभा अध्यक्ष रात्रि 9.30 बजे गंज बाजार सोलन में रामलीला आयोजन समिति द्वारा आयोजित किए जा रहे रामलीला उत्सव में भाग लेंगे।
=======================================================================================
सोलन -दिनांक 10.10.2018
मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना के अंतर्गत जागरूकता शिविर आयोजित
विकास खण्ड सोलन के सभागार में मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना वर्ष 2018 के अंतर्गत एक दिवसीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर की अध्यक्षता खण्ड विकास अधिकारी सोलन ललित दुल्टा ने की।
उन्होंने कहा कि योजना के माध्यम से बेरोजगार युवाओं को सरकार द्वारा चलाई जा रही सस्ते ऋण की योजनाओं का ग्रामीण युवाओं को लाभ उठाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि 18 से 40 वर्ष के बीच बेरोजगार हिमाचली ग्रामीण युवाओं के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा 30 लाख रुपये तक कि परियोजना लागत पर पुरुषों को 25 प्रतिशत और महिलाओं को 30 प्रतिशत तक कि सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
उन्होंने कहा कि योजना का उद्देश्य सेवा तथा व्यापार क्षेत्र को प्रोत्साहित करना है। इसके तहत युवाओं को व्यापार अथवा दुकान, रेस्टोरेंट, टूर ऑपरेटर, साहसिक पर्यटन तथा परम्परागत शिल्प इत्यादि कार्य शामिल किए गए हैं।
जिला प्रबंधक अग्रणी बैंक सोलन, सोलन विकास खंड की समस्त पंचायतों के प्रधान तथा ग्रामीण क्षेत्रों से आए बेरोजागर युवा इस अवसर पर उपस्थित थे।
=======================================================================================

ग्रास रूट अंडर-13 फुटबॉल टूर्नामेंट 13 से

सोलन-10102018-यहां ठोड़ो ग्राऊंड में लडक़ों के वर्ग की ग्रास रूट स्तर की प्रादेशिक अंडर-13 फुटबॉल प्रतियोगिता 13 से 15 अक्टूबर को करवाई जा रही है। यह प्रतियोगिता हिमाचल प्रदेश फुटबॉल एसोसिएशन द्वारा जिला फुटबॉल संघ सोलन के साथ मिलकर आयोजित कर रहा है। यह जानकारी प्रदेश फुटबॉल संघ के महासचिव दीपक शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में प्रदेश के सभी जिलों तथा फुटबॉल क्लबों की टीमें शिरकत कर रही हैं। शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिता लीग-कम नॉट आऊट आधार पर खेली जाएगी। प्रतियोगिता में भाग लेने वाला हर खिलाड़ी का हिमाचल फुटबॉल संघ के साथ पंजीकृत होना अनिवार्य है। तीन दिवसीय प्रतियोगिता में वर्ष 2006 से पहले जन्में बच्चे ही भाग ले सकते हैं। हर खिलाड़ी अपना मूल जन्म प्रमाण पत्र अथवा पंचायत सचिव या नगर पार्षद से सत्यापित करवाकर लाएगा। दीपक शर्मा ने बताया कि ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के दिशा-निर्देश पर प्रदेश में ग्रास रूट फुटबॉल के तहत ही इस प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जा रहा है। प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिए विभिन्न कमेटियों का गठन किया गया है।

डॉ. बिंदल करेंगे शुभारंभ

दीपक शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिता का शुभारंभ हिमाचल विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल करेंगे। प्रतियोगिता का आगाज 13 अक्टूबर को सुबह 11 बजे सोलन के ऐतिहासिक ठोड़ो ग्राऊंड में किया जाएगा। इस दौरान प्रदेश भर से आई सभी जिलों तथा फुटबॉल क्लबों की टीमें उचित पोशाक तथा अपने जिले के ध्वज के साथ होंगे।

प्रौढ़ वर्ग का प्रदर्शनी मैच

इस प्रतियोगिता के दौरान रविवार 14 अक्टूबर को प्रौढ़ वर्ग का एक प्रदर्शनी मैच भी करवाया जा रहा है। जिला फुटबॉल संघ के महासचिव करणजीत ने बताया कि यह मैच मेजबान सोलन बनाम ऊना के बीच खेला जाएगा। इसमें 40 प्लस आयु वर्ग के पूर्व फुटबॉलर अपनी फिटनेस और खेल प्रतिभा का मुजाहिरा करेंगे। इन टीमों में कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ी भी शामिल हैं।
=======================================================================================
कुल्लू -10 अक्तूबर 2018
17 अक्तूबर से 10 नवंबर तक हथियार लेकर चलने पर प्रतिबंध
अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के मद्देनजर कुल्लू जिला में 17 अक्तूबर से 10 नवंबर तक हथियार लेकर चलने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। सीआरपीसी की धारा-144 के तहत आदेश जारी करते हुए जिलाधीश यूनुस ने बताया कि डयूटी पर तैनात पुलिस, सेना और अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारियों-कर्मचारियों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा। जिलाधीश ने सभी नगर निकायों और पंचायतीराज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों से भी अपील की है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में बाहर से आने वाले कामगारों, व्यवसायियों, विदेशी नागरिकों और अन्य लोगों पर भी नजर रखें और नजदीकी थाने या पुलिस चैकी में इनकी सूचना दें।
जिलाधीश ने 19 से 25 अक्तूबर तक अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के आयोजन स्थल पर और सांस्कृतिक संध्याओं के दौरान लाउड स्पीकरों व अन्य ध्वनि यंत्रों के प्रयोग को भी अनुमति प्रदान कर दी।
------------
कुल्लू -10 अक्तूबर 2018
दशहरा उत्सव के दौरान नो पार्किंग जोन घोषित
19 से 25 अक्तूबर तक आयोजित किए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के दौरान यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए जिलाधीश यूनुस ने नो पार्किंग जोन और पार्किंग स्थल घोषित किए हैं।
इस संबंध में अधिसूचना जारी करते हुए जिलाधीश ने बताया कि रामशिला-कुल्लू-मौहल मुख्य मार्ग पर वाहनों की पार्किंग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। ढालपुर चैक से उपायुक्त कार्यालय, क्षेत्रीय अस्पताल, कालेज गेट, कला केंद्र और बीडीओ कार्यालय का सर्कुलर रोड भी टोअवे जोन व नो पार्किंग जोन रहेगा। ये आदेश 18 से 26 अक्तूबर तक लागू रहेंगे। जिलाधीश ने उक्त सड़कों के किनारे रहने वाले लोगों से भी अपने वाहनों को अपने निजी परिसरों के भीतर या चिह्नित पार्किंग स्थलों पर ही खड़े करने की अपील की है।
जिलाधीश ने बताया कि बजौरा-रामशिला मार्ग पर मालवाहक वाहनों से सामान उतारने या चढ़ाने का कार्य रात 11 बजे से सुबह 7 बजे तक ही किया जा सकेगा। मनाली से भंुतर की ओर आने-जाने वाले सभी वाहन रामशिला पुल से लैफ्ट बैंक सड़क होकर ही निकलेंगे। हर वर्ष की तरह कालेज गेट के पास पशु मैदान में लोकल बसों के लिए अस्थायी बस स्टैंड स्थापित किया जाएगा, लेकिन लगघाटी और मनाली की ओर जाने वाली बसें सरवरी बस स्टैंड से ही चलेंगीं। जिलाधीश ने कहा कि भुंतर के बेली पुल के लिए निर्धारित क्षमता के अनुसार ही भारी वाहनों को इस पुल से गुजरने की इजाजत दी जाएगी।
------------
कुल्लू -10 अक्तूबर 2018
दशहरा उत्सव के लिए पार्किंग स्थल निर्धारित
अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के दौरान यातायात सुचारू बनाए रखने के लिए जिलाधीश यूनुस ने पार्किंग स्थल निर्धारित किए हैं। उन्होंने बताया कि इन पार्किंग स्थलों में सर्किट हाउस के पास वन विभाग का परिसर, मोनाल कैफे, कालेज मैदान, अखाड़ा बाजार सब्जी मंडी, अखाड़ा बाजार टापू पुल, सरवरी, पुराना बस स्टैंड अखाड़ा बाजार, डीएवी मौहल, पैट्रोल पंप गांधीनगर, महंत बेहड़, मिनी सचिवालय, शनि मंदिर लैफ्ट बैंक, महिला पुलिस स्टेशन सरवरी, पुलिस लाइन बाशिंग, पिरडी, कैलाश थिएटर, शांगरी बाग और लैफ्ट बैंक में कुल्लू वैली शाल शोरूम के पास भी पार्किंग स्थल चिह्नित किए गए हैं।
------------
कुल्लू -10 अक्तूबर 2018
ढालपुर में होगी माॅक ड्रिल
हिमाचल प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा एक से 13 अक्तूबर तक आपदा जोखिम न्यूनीकरण पर आयोजित किए जा रहे प्रदेशव्यापी जागरूकता अभियान ‘समर्थ-2018’ के तहत 11 अक्तूबर को कुल्लू में माॅक ड्रिल आयोजित की जाएगी। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा यह माॅक ड्रिल ढालपुर स्थित उपायुक्त कार्यालय परिसर में सुबह 11 बजे की जाएगी। इसके बाद दोपहर बाद लगभग ढाई बजे एलएमएस स्कूल ढालपुर में भी माॅक ड्रिल होगी। एडीएम एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सीईओ अक्षय सूद ने बताया कि इन दोनों माॅक ड्रिल्स के दौरान आगजनी की घटनाओं से बचाव कार्यों का अभ्यास किया जाएगा।
=========================================================================================
कुल्लू - 10 अक्तूबर 2018
मुफ्त कानूनी सहायता योजना का लाभ उठाएं: राकेश चैधरी
जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने कला केंद्र में लगाया मैगा विधिक साक्षरता शिविर
जिला प्रशासन, विभिन्न विभागों और स्वयंसेवी संस्थाओं ने भी शिविर में लिया भाग
जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने बुधवार को कुल्लू के लाल चंद प्रार्थी केंद्र में जिला प्रशासन, विभिन्न विभागों और संस्थाओं के सहयोग से एक मैगा विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया। राष्ट्रीय विधिक सेवाएं प्राधिकरण (नालसा) के दिशा-निर्देशों के अनुसार तथा हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के तहत राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण की अनुमति से आयोजित किए गए इस शिविर के दौरान लोगों को कई कानूनी जानकारियों के साथ-साथ विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं से भी अवगत करवाया गया।
शिविर की अध्यक्षता करते हुए जिला एवं सत्र न्यायधीश और जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के अध्यक्ष राकेश चैधरी ने कहा कि आम लोगों को सुलभता से न्याय सुनिश्चित करने के लिए नालसा ने कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं चलाई हैं। इन योजनाओं में मुफ्त कानूनी सहायता योजना बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि एससी-एसटी वर्ग के लोग, विकलांग, महिलाएं, बच्चे, श्रमिक, किसी भी तरह की आपदा से पीड़ितों और सालाना एक लाख रुपये से कम आय वाले लोग मुफ्त कानूनी सहायता योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया भी बहुत ही सरल है। पात्र लोगों को इसका लाभ उठाना चाहिए। जिला एवं सत्र न्यायधीश ने कहा कि अक्सर जागरूकता के अभाव में कई लोग सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं उठा पाते हैं। उन्हें कई महत्वपूर्ण नियमों व अधिनियमों की जानकारी भी नहीं होती। इसी के मद्देनजर जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने जिला प्रशासन, विभिन्न विभागों व संस्थाओं के सहयोग से यह विधिक साक्षरता शिविर आयोजित करने का निर्णय लिया।
इस अवसर पर प्राधिकरण के सचिव एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी हकीकत ढांडा ने मुख्य अतिथि, प्रशासनिक व विभागीय अधिकारियों तथा सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा शिविर के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, बाल आश्रम कलैहली, चंद्रआभा स्कूल फाॅर ब्लाइंड्स और अन्य संस्थाओं के कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इन कलाकारों को प्राधिकरण की ओर से पुरस्कृत किया गया। पशुपालन विभाग की उत्तम पशु पुरस्कार योजना के तहत 24 पशुपालकों को एक-एक हजार रुपये के चैक दिए गए। शिविर के दौरान विभिन्न विभागों ने प्रदर्शनियां भी लगाईं। इसमें महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य, पशुपालन, कृषि, उद्यान, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, श्रम एवं रोजगार, वन, आयुर्वेद, उद्योग विभाग, हिमऊर्जा, डीआरडीए, रैडक्राॅस सोसाइटी, डीडीएमए और अन्य संस्थाओं ने भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित की।
इस मौके पर अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश जिया लाल आजाद, सीजेएम कुल्लू नरेश ठाकुर, सीजेएम लाहौल-स्पीति कांता वर्मा, सहायक आयुक्त सन्नी शर्मा, डीएसपी आशीष शर्मा, डीपीओ वीरेंद्र सिंह आर्य और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
=============================================
कुल्लू - 10 अक्तूबर 2018
दशहरे में होगी वालीबाल, कबड्डी और रस्साकशी प्रतियोगिता
अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के दौरान इस वर्ष भी ग्रामीण खेल उत्सव का आयोजन किया जाएगा। इसमें पुरुषों की वालीबाल व कबड्डी और महिलाओं की रस्साकशी प्रतियोगिता होगी। एसपी एवं दशहरा खेल उत्सव उपसमिति की समन्वयक शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि 21 से 23 अक्तूबर तक रथ मैदान में आयोजित की जाने वाली इन प्रतियोगिताओं में केवल कुल्लू जिला की टीमें ही हिस्सा ले सकती हैं।
उन्होंने बताया कि वालीबाल व कबड्डी प्रतियोगिता में भाग लेने की इच्छुक टीमें 17 अक्तूबर तक और महिलाओं की रस्साकशी स्पर्धा के लिए 20 अक्तूबर तक जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी कार्यालय या एसपी कार्यालय में पंजीकरण करवाया जा सकती हंै। वालीबाल व कबड्डी की एंट्री फीस 400 रुपये और रस्साकशी की फीस 250 रुपये प्रति टीम निर्धारित की गई है। वालीबाल व कबडडी में प्रथम पुरस्कार 27,000 रुपये और द्वितीय पुरस्कार 20,000 रुपये रखा गया है। दोनों स्पर्धाओं के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को भी पुरस्कृत किया जाएगा। रस्साकशी की विजेता महिला टीम को 11,000 रुपये और उपविजेता को 7100 रुपये के नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। रस्साकशी की सभी प्रतिभागी टीमों को 1100-1100 रुपये दिए जाएंगे।
शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि प्रतियोगिताओं के दौरान सभी खिलाड़ियों को अपने आधार कार्ड या फोटो पहचान पत्र साथ रखने होंगे तथा उन्हें केवल स्पोट्र्स किट में ही मैदान में उतरना होगा। वालीबाल व कबड्डी की टीमों के 12-12 खिलाड़ियों की सूची पंजीकरण के समय या फिर 20 अक्तूबर तक देनी पड़ेगी। खेल उत्सव 21 अक्तूबर को सुबह दस बजे आरंभ हो जाएगा तथा तीनों स्पर्धाओं के मुकाबलों की सूची 21 अक्तूबर को सुबह साढे नौ बजे से पहले ही देव सदन, मेला कार्यालय, खेल स्टेडियम, एसपी कार्यालय और जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी कार्यालय में प्रदर्शित की जाएंगी। मैच के बाद खिलाड़ियों के लिए भोजन की व्यवस्था आयोजन समिति की ओर से की जाएगी।
अधिक जानकारी के लिए एसपी कार्यालय के दूरभाष नंबर 01902-224700 या जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी कार्यालय के दूरभाष नंबर 01902-224702 पर संपर्क किया जा सकता है==============================================
स्वास्थ्य एवम् परिवार कल्याण विभाग द्वारा ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ अजय गुप्ता की अध्यक्षता में मासिक रिव्यू बैठक का आयोजन किया गया
हमीरपुर 10 अक्तूबर। स्वास्थ्य एवम् परिवार कल्याण विभाग द्वारा ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ अजय गुप्ता की अध्यक्षता में मासिक रिव्यू बैठक का आयोजन किया गया । इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सावित्री कटवाल ने जिले की उपलब्धियों को प्रस्तुत किया । स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाये जा रहे टीकाकरण कार्यक्रम,क्षयरोग नियंत्रण कार्यक्रम ,मलेरिया कार्यक्रम,एच् आई वी/एड्स कार्यक्रम तथा जननी सुरक्षा योजना, जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई । ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ अजय गुप्ता ने सभी योजनाओं व कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से चर्चा की एवम् आगामी निर्देश दिए। इस अवसर पर ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ अजय गुप्ता ने 2017-18 मे कार्याकल्प कार्यक्रम के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र-उहल को जि़ला हमीरपुर में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर चिकित्सा अधिकारी डॉ अभिषेक कँवर राणा को पुरस्कृत किया। इस बैठक में जि़ला कार्यक्रम अधिकारी डॉ अरविन्द कौंडल, डॉ अजय अत्री, सभी खंडों के खण्ड चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी, स्वास्थ्य शिक्षक, स्वास्थ्य पर्येवेक्षक, सीनियर असिस्टेंट स्नेहलता, एकाउंटेंट , बी.सी.सी, आशा कॉर्डिनेटरतथा मुख्य चिकित्सा कार्यालय के सभी कार्यकर्मों से संबंधित कर्मचारियों ने भाग लिया।
=============================================
बोहणीं -छियोरीं सड़क सुधारीकरण कार्य के दृष्टिगत यातायात के लिए 12
अक्तूबर तक बंद:- डा0 ऋचा वर्मा
यातायात के लिए रहेगा हरसोन-लंगवान वाया गुधवीं वैकल्पिक सड़क मार्ग
हमीरपुर 10 अक्तूबर। जिला दंडाधिकारी डा0 ऋचा वर्मा ने मोटर वाहन
अधिनियम, 1988 की धारा 188 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते
हुए बोहणीं -छियोरीं सड़क पर चल रहे सुधारीकरण कार्य के दृष्टिगत
यातायात के लिए 12 अक्तूबर तक बंद करने के आदेश पारित किए हंै। आदेश के
अनुसार इस अवधि के दौरान यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए
हरसोैन-लंगवान वाया गुधवीं सड़क मार्ग वैकल्पिक सड़क मार्ग के रूप में
कार्य करेगा।
==============================================
सेना में नौकरी पूरी न करने वाले भूतपूर्व सैनिकों की बुढ़ापा पैंशन में राज्य सरकार ने किया इजाफा
हमीरपुर 10 अक्तूबर। उप निदेशक सैनिक कल्याण हमीरपुर मेजर रघबीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे भूतपूर्व सैनिक जिन्होंने सेना में किसी कारण नौकरी पूरी नहीं की थी तथा बिना पैंशन घर आ गए थे उन्हें व उनकी विधवाओं के लिए जिनकी आयु 60 वर्ष या इससे अधिक है तथा सालाना आय 35 हजार रूपए तक थी को राज्य सरकार द्वारा बुढ़ापा पैंशन का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि इस वर्ग को 500 रूपए प्रति माह पैंशन प्रदान की जा रही है जिसे अब सरकार ने पहली अक्तूबर, 2018 से बढ़ाकर 3000 रूपए प्रति माह करने के आदेश पारित कर दिए हैं।
उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने नॉन पैंशनर्ज भूतपूर्व सैनिकों तथा उनकी विधवाओं के लिए यह एक बड़ा तोहफा उपहारस्वरूप दिया है। उन्होंने कहा कि यदि कोई नॉन पैशनर्ज भूतपूर्व सैनिक व उनकी विधवाएं इस पैंशन को पाने से वंचित हैं तो वे हमीरपुर स्थित जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में अपने सेना के दस्तावेज लेकर किसी भी कार्य दिवस में आ सकते हैं ताकि उन्हें भी पैंशन का लाभ दिया जा सके।
-----------------------------------------------------------------------------------
सभी राजनैतिक दल मतदान केन्द्रों पर बूथ लेवल एजैंट करें नियुकत:- विकास लाबरू
हमीरपुर 10 अकतूबर। पहली जनवरी, 2019 की अर्हता तिथि के आधार पर जिला में फोटोयुक्त मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप पुनरीक्षण कार्य को लेकर बुद्धवार को मंडलायुक्त मंडी विकास लाबरू की अध्यक्षता में हमीरपुर में विभिन्न राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई। उन्होंने बैठक में उपस्थित राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को प्रत्येक बूथ पर अपने-2 बूथ लेवल एजैंट नियुक्त करने को कहा ताकि फोटोयुक्त मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप पुनरीक्षण कार्य को निर्धारित समय के भीतर पूर्ण किया जा सके। उन्होंने नायब तहसीलदार इलैक्शन को भी निर्देश दिए कि वह जिला के सभी सरकारी व गैर सरकारी कालेजों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों व अन्य बडृ़े शैक्षणिक संस्थानों में सवीप कार्यक्रम के तहत मतदाता जागरूकता शिविरों का आयोजन कर अधिक से अधिक युवाओं का नए मतदाता के रूप में पंजीकरण सुनिश्चित करें। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को एपिक कार्ड मशीनों में खराबी के कारण मतदाता सूचियों में आ रही अशुद्धियों को भी विशेश अभियान के तहत तत्काल ठीक करने के निर्देश दिए।
मंडलायुक्त विकास लाबरू ने कहा कि जिला में सभी मतदान बूथों पर फोटोयुक्त मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप पुनरीक्षण का कार्य तेजी से किया जाए तथा प्रथम जनवरी, 2019 को या इससे पहले 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके युवाओं को नए मतदाता के रूप में पंजीकृत करने के लिए विशेष प्रयास किए जाए। उन्होंने कहा कि जिला के मतदाताओं का महिला/ पुरूष अनुपात 1042 है जो कि प्रदेश में सबसे ज्यादा है परंतु मतदाता/ जनसख्या अनुपात 769 कम है जिसे बढ़ाने की अति आवश्यकता है।
इस अवसर पर राष्ट्रवादी कांगे्रस पार्टी की ओर से जिला अध्यक्ष रविन्द्र सिंह डोगरा, आईएनसी के जिला महासचिव हरीश शर्मा, बीएसपी की ओर से डा0 एल0एस मस्ताना के अतिरिक्त नाएब तहसीलदार इलैक्शन बलवीर बहादुर सिंह तथा सुमन कपूर भी उपस्थित थे।