सोलन-दिनांक 10.10.2018-सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि किसी समाज के निर्माण में अनुशासन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। अनुशासन ही मनुष्य को श्रेष्ठता प्रदान करता है तथा उसे समाज में उत्तम स्थान दिलाने में सहायता करता है। डॉ. सैजल आज सोलन में एक निजी स्कूल के 15वें वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।
डॉ. सैजल ने कहा कि विद्यार्थी जीवन में अनुशासन की उपयोगिता और भी बढ़ जाती है क्योंकि यह वह समय होता है जब उसके व्यक्तित्व का निर्माण प्रारंभ होता है। विद्यार्थी जीवन को किसी भी मनुष्य के जीवनकाल की आधारशिला कह सकते हैं क्योंकि इस समय वह जो भी गुण अथवा अवगुण आत्मसात करता है उसी के अनुसार उसके चरित्र का निर्माण होता है।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा खेलकूद विद्यार्थी जीवन में मानसिक बोझ और शारीरिक थकान को हलका करने का एक साधन है तो वह है खेल और यह खेल हमारे शारीरिक क्रिया कलापों से जुड़े हो यह बेहद जरूरी है।
उन्होंने कहा कि खेल हमारे सम्पूर्ण विकास का एक अहम हिस्सा है जिनसे हम अपने दिन भर की थकान को नई ऊर्जा में बदल सकते हैं। खेल हमें अपने जीवन में कर्तव्यों और हमारे अंदरूनी हुनर को हमारे सामने रखते हैं जिनसे हमारे अंदर एक नया जोश नई उमंग पैदा होती है।
डॉ. सैजल ने इस अवसर पर मेधावी छात्रों को पुरस्कार भी वितरित किए। उन्होंने छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। स्कूली छात्रों द्वारा इस अवसर पर रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
इस अवसर पर एपीएमसी के अध्यक्ष संजीव कश्यप, नगर परिषद सोलन की उपाध्यक्ष मीरा आनंद, भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष शकुंतला शर्मा, स्कूल के चेयरमेन कंवर राजेश्वर सिंह, स्कूल के प्रबंध निदेशक टिकम सिंह, स्कूल के प्रधानाचार्य संतोष सहित विद्यालय के छात्र उपस्थित थे।
.0.