जिला प्रशासन का दल पहुंचा बड़ा भंगाल, वितरित की सहायता सामग्री
धर्मशाला, 15 अक्तूबर : उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला प्रशासन द्वारा भेड़ पालकों की सहायता के लिए होली की तरफ से भेजा गया एक दल रविवार शाम को बड़ा भंगाल पहुंच गया है। आज उनकी दल के सदस्यों से बात हुई जिन्होंने उन्हें अवगत करवाया कि क्षेत्र में भेड़ पालक सुरक्षित हैं और उन्हें राशन की कोई कमी नहीं है। इसके अलावा दल ने भेड़पालकों के लिए भेजे गए डकबैक जूते सहित अन्य सहायता सामग्री वितरित की। उन्होंने बताया कि यह टीम बडा भंगाल में ही कैम्प करेगी तथा भेड़ पालकों के साथ निरन्तर सम्पर्क में रहेगी और प्रशासन को समय-समय पर वास्तविक स्थिति से अवगत करवाती रहेगी। गौरतलब है कि शुक्रवार को बैजनाथ से होली होते हुए बड़ा भंगाल के लिए रवाना किए गए इस दल में बड़ा भंगाल के पटवारी एवं 4 पर्वतारोहियों सहित तीन स्थानीय लोग शामिल हैं। दल के साथ 20 जोड़ी डकबैक जूते भी भिजवाए गये थे। इसके अलावा भेड़ पालकों को आर्थिक सहायता की जरूरत पड़ने की स्थिति में दल के पास प्रशासन द्वारा सहायता राशि भेजी गई है ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की तंगी न हो।
दूूसरा दल कल करेगा रिर्पोट
उपायुक्त ने बताया रविवार को मुलथान-थमसर की ओर से भेजा गया 15 सदस्यीय दूसरा दल सोमवार शाम तक अपने गणतव्य तक पहुंचेगा तथा मंगलवार को वस्तुस्थिति से अवगत करवाएगा। इस दल में मनाली से पर्वतारोही प्रशिक्षण संस्थान के 3 प्रशिक्षक तथा 12 स्थानीय लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि दल के सदस्यों के पास पर्याप्त मात्रा में खाद्य पदार्थ तथा कम्बल भेजे गए हैं।
तीसरा दल भी किया रवाना
संदीप कुमार ने बताया कि इसके अलावा सोमवार को स्थानीय लोगों का एक और दल थमसर पास की ओर रवाना किया गया है।यह दल बीड़-राजगुंधा-बड़ा गांव-पलाचक की ओर से जाएगा। प्रशासन को यह सूचना मिली है कि कुछ डेरे थमसर की ओर से आगे बढ़े हैं उन्हें राशन इत्यादि सहित अन्य सामग्री प्रदान करने के लिए दल रवाना किया गया है। इसके अलावा मौसम साफ होने के चलते नकोड़ी पास, मुरालधार और थमसर की ओर से कुछ डेरे प्रस्थान कर गए हैं तथा एक-दो दिनों में घाटी पार कर लेंगे।
उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन बड़ा भंगाल की स्थिति पर हर समय नजर बनाए हुए है तथा पंचायत प्रधान, सचिव और सहायता दल के सदस्यों के माध्यम से लगातार सम्पर्क में है। प्रशासन की ओर से भेड़पालकों को हर सभंव सहायता मुहैया करवाई जा रही है और आगे भी सभी भेड़पालकों की सुरक्षा तय होने तक प्रशासन निरंतर प्रयासों में जुटा रहेगा।
==================================================
आरकेएस के तहत सिविल अस्पताल भवारना में व्यय होंगे 37.71 लाख: परमार
शीघ्र बनाया जायेगा अस्पताल का नया भवन
गरीब-जरूरतमंद की सहायता के लिए बनाया मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष
धर्मशाला, 15 अक्तूबर: रोगी कल्याण समिति (आरकेएस) के तहत भवारना सिविल अस्पताल की बैठक की अध्यक्षता करते हुये स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि वर्तमान वित्त वर्ष में आरकेएस के तहत अस्पताल में विभिन्न सुविधाओं को उपलब्ध करवाने के लिए 37.71 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिये कि अस्पताल के प्रस्तावित भवन की औपचारिकताओं को शीघ्र पूर्ण करवाना सुनिश्चित करें ताकि भवन निर्माण कार्य आरंभ करवाया जा सके।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को मुफ्त ईलाज और मुफ्त दवाई उपलब्ध करवाने की दिशा में गंभीर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीब लोगों को चिकित्सा सहायता के लिये मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष का गठन किया गया है जिसके लिये वर्तमान वित्त वर्ष में 10 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है।
उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना में प्रदेश के 22 लाख लोगों को 5 लाख रुपये तक मुफ्त ईलाज की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है । उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल आस-पास की पंचायतों का केंद्र स्वास्थ्य संस्थान है। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल को सुदृढ़ कर सभी प्रकार की आधुनिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाना उनकी प्राथमिकता रही है।
परमान ने कहा कि प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षा योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए प्रदेश को देश में पहला स्थान प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता का सुनिश्चित किया जा रहा है। प्रदेश में लोगों की सुविधा के लिए 108 और 102 निःशुल्क एंबुलैंस सुविधा संचालित की जा रही है, संबंधित कंपनी को इनका सुचारू संचालन सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए गए हैं।
इस अवसर पर एसडीएम पंकज शर्मा, सुलह भाजपा मण्डलाध्यक्ष देश राज शर्मा, महामंत्री चन्द्रवीर, आरकेएस सदस्य तनु भारती, डॉ0 राजेश गुलेरी, बीएमओ डॉ0 सुभाष शर्मा, डॉ0 आभा गौतम, लोक निर्माण विभाग के एसई एसके शर्मा, अजय गौतम, बीडीओ केएस राणा, पूर्व भाजपा अध्यक्ष माधो राम व अन्य उपस्थित थे।
=================================================
धर्मशाला दशहरा उत्सव में हिमाचली कलाकार मचाएंगे धमाल
धर्मशाला, 15 अक्तूबर: पुलिस मैदान धर्मशाला में आयोजित होने वाले चार दिवसीय जिला स्तरीय दशहरा मेले का शुभारम्भ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार 16 अक्तूबर को सायं 7 बजे करेंगे। इस संदर्भ में जानकारी देते हुये सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि उत्सव के दौरान आयोजित होने वाली सांस्कृतिक संध्याओं में जहां प्रसिद्ध हिमाचली नाटी किंग ठाकुर दास राठी धमाल मचाएंगे वहीं स्थानीय कलाकारों को भी अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन का मंच मिलेगा। 16 अक्तूबर को हिमाचली नाटी किंग ठाकुर दास राठी धमाल मचाएंगे जबकि बॉलीबुड में हिमाचल की आवाज का जादू बिखेरने वाले कुमार साहिल और प्रसिद्ध गायक सतीश ठाकुर लोगों को नचाएंगे।
प्रवक्ता ने बताया कि 17 अक्तूबर की सांस्कृतिक संध्या में उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर सायं 7 बजे कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शामिल होंगे। इस दौरान सांस्कृतिक संध्या में इंडियन आइडल फेम पार्श्व गायक अनुज शर्मा अपनी मखमली आवाज से लोगों को मंत्रमुग्ध करेंगे। इस दौरान प्रसिद्ध पहाड़ी गायक करनैल राणा अपनी कला का जौहर बिखेरेंगे, जबकि गायक नीतिश राजपूत, मांडव्य कला मंच मंडी तथा एनजैडसीसी पटियाला के कलाकार अपनी प्रस्तुति से समा बांधेंगे।
प्रवक्ता ने बताया कि 18 अक्तूबर को आयोजित होने वाली सांस्कृतिक संध्या में खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर मुख्यातिथि के रूप में शिरकत करेंगे। सांस्कृतिक संध्या में जिला चम्बा के सांस्कृतिक दल जहां अपनी कला का जादू बिखेरेंगे वहीं सुप्रसिद्ध गायक सुनील राणा अपनी मधुर आवाज से पहाड़ी गायकी से लोगों का मनोरंजन करेंगे। इसके अलावा 18 अक्तूबर को प्रातः 11 बजे डॉग शो, सायं 4 बजे फ्लावर शो तथा 6 बजे लंका दहन के साथ अतिशबाजी के कार्यक्रम होंगे। 19 अक्तूबर को खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर सायं 7 बजे दशहरा उत्सव के समापन समारोह में रावण दहन कार्यक्रम में शामिल होंगे । इस दिन सायं 5 बजे महिला म्युजिकल चेयर प्रतियोगिता भी आयोजित की जायेगी ।
जिला प्रशासन ने जनसहयोग से मेले के सफल आयोजन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली हैं।
===============================================
निजी विद्यालय द्वारा बच्चों को सजा देने पर हो सकती है मान्यता रद्द
धर्मशाला, 15 अक्तूबर -- हिमाचल प्रदेश प्रारम्भिक शिक्षा विभाग से मान्यता प्राप्त पहली से आठवीं कक्षा वाले सभी निजी विद्यालयों के संचालक उनके स्कूल में शिक्षारत किसी भी विद्यार्थी को सजा नहीं दे सकते हैं। यह जानकारी देते हुए उपनिदेशक प्रारम्भिक शिक्षा दीपक किनायत ने बताया कि शिक्षा का अधिकार 2009 एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार हिमाचल प्रदेश नियम 2011 के तहत यह प्रावधान किया गया है।
उन्होंने बताया कि अगर किसी स्कूल से सम्बन्धित इस प्रकार का कोई मामला उनके कार्यालय के ध्यान में पाया जाता है तो उस निजी विद्यालय की मान्यता रद्द कर दी जायेगी।
इस विषय के सम्बंध में अगर बच्चों के अभिभावक शिकायत करना चाहते हैं तो वे चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर 1098 पर काल करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। सम्बन्धित जानकारी विभाग की बेवसाइट ूूूण्ककममांदहतंण्पद पर उपलब्ध है।
===============================================
गुणात्मक शिक्षा पर जोर दे रही सरकार: परमार
धर्मशाला, 15 अक्तूबर: स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने आज पालमपुर के समीप लोहना पंचायत में सैनफोर्ड प्ले स्कूल का शुभारंभ करते हुये कहा कि सरकारी स्कूलों में ढांचागत संरचना उपलब्ध करवाने पर सरकार द्वारा विशेष बल दिया जा रहा है। स्कूलों में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने तथा विद्याार्थियों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने के साथ उनके सर्वांगीण विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस वर्ष मे शिक्षा क्षेत्र के सरकार ने 7044 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया है।
परमार ने कहा कि सरकार प्रदेश के प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद कर रही है। सरकार यह सुनिश्चित बना रही है कि उचित मार्गदर्शन के अभाव में अथवा आर्थिक तंगी के कारण किसी भी विद्यार्थी की तैयारी प्रभावित न हो। उन्होंनेे कहा कि स्कूलों में बच्चों को अटल वर्दी योजना के तहत प्रति वर्ष दो वर्दियां देने के साथ ही इस वर्ष से पहली, छठी तथा 9वीं कक्षा के विद्याार्थियों को एक स्कूल बैग भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने शिक्षा के स्तर को उठाने के लिए अनेक योजनाएं आरंभ की हैं। बच्चों के लिए मुख्यमंत्री आदर्श विद्या केन्द्र, अखंड शिक्षा ज्योति, मेरे स्कूल से निकले मोती, युवा विज्ञान पुरस्कार योजना इत्यादि नवीन योजनाएं आरंभ की गई हैं।
इस अवसर पर स्कूल की निदेशक सुरभि सोनी ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और स्कूल में विद्यार्थियों को उपलब्ध करवाई जा रही सुविधाओं की जानकारी दी।
इस अवसर पर पालमपुर जिला भाजपा अध्यक्ष विनय शर्मा, मण्डलाध्यक्ष संजीव सोनी, ग्राम पंचायत लोहना की प्रधान अंजना सोनी, अतिरिक्त महाधिवक्ता हिमांशु मिश्रा, तनु भारती, शहीद कैप्टन विक्रम बतरा के पिता जीएल बतरा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष बृज बिहारी लाल बुटेल, एसडीएम पालमपुर पंकज शर्मा सहित गणमान्य उपस्थित थे।
===============================================
सरकार सौर ऊर्जा परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत: सरवीन चौधरी
धर्मशाला, 15 अक्तूूबर: शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीन चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में सौर ऊर्जा परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पारिस्थिति को देखते हुए सौर ऊर्जा नीति तैयार की गई है, स्पिति क्षेत्र में पहले ही 1000 मैगावॉट सोलर पार्कों की पहचान की जा चुकी है और निकट भविष्य में 200 मैगावाट क्षमता की विभिन्न परियोजनाएं भी प्रस्तावित हैं।
वे आज इंदौरा विधानसभा की डैंकवा पंचायत में पिनाकिन सोलर पावर यूनिट का शुभारंभ करने के उपरांत जनसभा को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि इस सोलर पावर यूनिट में 5 मेगावाट तक के सोलर पैनल तथा घरों में प्रयोग किये जाने वाले विभिन्न घरेलू उपकरण भी बनाये जाएंगे।
सरवीन चौधरी ने कहा कि सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना पर केंद्र एवं प्रदेश सरकार पर्याप्त अनुदान दे रही है। उन्होंने कहा कि सौर ऊर्जा एक वैकल्पिक नवीकरणीय ऊर्जा है जो कम लागत और अपनी उच्च क्षमता की वजह से तेजी से मुख्य धारा का विकल्प बनती जा रही है। सौर ऊर्जा के जरिए कार्य स्थलों एवं घरों के उपयोग के लिए विधुत उत्पादन के साथ साथ सौर ऊर्जा के इस्तेमाल से अन्य अनेक उपकरण भी चला सकते हैं।
इस अवसर पर स्थानीय विधायक रीता धीमान ने इंदौरा पधारने पर शहरी विकास मंत्री का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में इंदौरा क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं को तेज गति से कार्यान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इंदौरा विधानसभा क्षेत्र का सर्वांगीण विकास उनकी प्राथमिकता है।
इस अवसर पर एसडीएम इंदौरा गौरव महाजन, कम्पनी के प्रबंध निदेशक विकास शर्मा, रविन्द्र शर्मा, विधायक रीता धीमान के पति शाम लाल, अधिवक्ता दीपक अवस्थी, किसान मोर्चा के सुखपाल सिंह, महिला मोर्चा की रेणु भन्द्राल, कमल शर्मा, परविंदर सिंह, युवा मोर्चा के आदर्श के इलावा बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित रहें।
==============================================
सोलन -15.10.2018
समाज एवं देशहित के लिए महाराजा अग्रेसन द्वारा दिखाए गए मार्ग का करें अनुसरण -डॉ. राजीव बिंदल
सोलन में महाराजा अग्रसेन जयंती पर वार्षिकोत्सव आयोजित
हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने युवाओं का आह्वान किया है कि वे समाज एवं देशहित के लिए महाराजा अग्रेसन द्वारा दिखाए गए मार्ग का अनुसरण करें। डॉ. बिंदल गत सांय यहां अग्रवाल सभा सोलन द्वारा महाराजा अग्रसेन की जयंती के अवसर पर आयोजित वार्षिक उत्सव को संबोधित कर रहे थे।
डॉ. बिंदल ने कहा कि महाराजा अग्रसेन को समाज के समग्र कल्याण के लिए स्मरण किया जाता है। उन्होंने कहा कि महाराजा अग्रसेन ने समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए आर्थिक सफलता एवं कृषि आधारित सफलता की परिकल्पना की। उन्होंने कृषि क्षेत्र को स्थापित करने एवं इसे आर्थिक रूप से लाभप्रद बनाने के लिए अनेक योजनाएं सफलतापूर्वक कार्यान्वित की। उन्होंने कहा कि महाराजा अग्रसेन ने अपनी कार्यप्रणाली से एक नवीन विचार एवं चिंतन को सभी के सामने रखा। इस चिंतन ने वैश्य एवं अग्र परंपरा को मूर्त रूप दिया। आज अग्र वंश को अपने योगदान के लिए भारत सहित पूरे विश्व में जाना जाता है।
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि महाराजा अग्रसेन ने आज से 5000 वर्ष से भी अधिक समय से पूर्व समाजवाद को सही अर्थों में सार्थक करके दिखाया था। महाराजा अग्रसेन को सही मायने में समाजवाद का सच्चा प्रणेता कहा जा सकता है। उन्होंने पुनः वैदिक सनातन आर्य संस्कृति की मूल मान्यताओं को लागू कर राज्य के पुनर्गठन में कृषि, व्यापार, उद्योग, गौपालन के विकास के साथ-साथ नैतिक मूल्यों की पुनः प्रतिष्ठा की।
डॉ. बिंदल ने कहा कि इतिहास साक्षी है कि समाज केवल उसी व्यक्ति का स्मरण करता है जिसने सर्व वर्ग कल्याण के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर किया हो, समर्पण एवं त्याग के साथ देशहित में कार्य किया हो तथा स्वयं कल्याण से अधिक समाज एवं राष्ट्र के कल्याण को महत्व दिया हो। उन्होंने कहा कि देश आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एवं पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ऐपीजे अब्दुल कलाम को उनके इन्हीं गुणों के लिए याद करता है।
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आज देश में सभी इन्हीं गुणों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद कर रहे हैं। देश में भ्रष्टाचार मुक्त समाज की परिकल्पा को साकार करने तथा स्वच्छता के माध्यम से स्वास्थ्य एवं विकास को जन-जन तक पहुंचाने की दिशा में प्रधानमंत्री ने सभी देशवासियों को एक किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की परिकल्पना को साकार करते हुए हम सभी को स्वच्छ सोलन, स्वच्छ हिमाचल तथा स्वच्छ भारत बनाने का प्रण लेना होगा।
उन्होंने इस अवसर पर सभी को महाराजा अग्रसेन जयंती की बधाई दी और आशा जताई कि अग्र जयंती जीवन में नई ऊर्जा का संचार करेगी और समाज कल्याण की भावना को पुष्ट करेगी।
इस अवसर पर डॉ. राजीव बिंदल के अग्रज वैद्य राम कुमार बिंदल, बघाट बैंक के अध्यक्ष तथा सोलन जिला भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष पवन गुप्ता, अग्रवाल सभा सोलन के अध्यक्ष माया राम, व्यापार मंडल सोलन के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, प्रख्यात समाज सेवी विनोद गुप्ता, विनीत गोयल, अग्रवाल सभा सोलन के सचिव मनोज गुप्ता, वरिष्ठ उपप्रधान दिनेश गर्ग, उपप्रधान पंकज गुप्ता, संतोष बंसल, सचिव नवीन गर्ग, कोषाध्यक्ष राजीव गुप्ता, संरक्षक रमेश बिदंल, बंसी लाल बंसल, सावल मल अग्रवाल, बिक्रम अग्रवाल, युवा अग्रवाल संगठन के अध्यक्ष राहुल गोयल, उपाध्यक्ष निशांत गोयल, सचिव सुनील गुप्ता, बघाट बैंक के निदेशक राकेश अग्रवाल, राज्य वैश्य समाज के अध्यक्ष विनोद गुप्ता, उपमंडलाधिकारी सोलन रोहित राठौर, पुलिस उपाधीक्षक सोलन अमित ठाकुर सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
==============================================
सोलन दिनांक 15.10.2018
समय पर परीक्षण तथा उपचार से क्षय रोग का पूर्ण उन्मूलन संभव-विवेक चंदेल
अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी सोलन विवेक चंदेल ने कहा कि हिमाचल प्रदेश को पूर्ण रूप से क्षय रोग मुक्त बनाने के लिए चिकित्सकों को इस रोग के समूल नाश के लिए प्रयोग में लाई जा रही दवाओं तथा विभिन्न परीक्षणों की समुचित जानकारी होनी चाहिए। विवेक चंदेल आज यहां सोलन के लिए क्षय रोग मुक्त हिमाचल कार्यशाला के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित चिकित्सकों एवं अन्य को संबोधित कर रहे थे।
कार्यशाला का आयोजन कंटिन्यूड मेडिकल एजूकेशन(सीएमई) कार्यक्रम के तहत किया गया। कार्यशाला राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन तथा हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सौजन्य से आयोजित की गई।
विवेक चंदेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2025 तक देश को क्षय रोग मुक्त बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार इस दिशा में योजनाबद्ध कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 24 मार्च 2018 को ऊना जिला से क्षय रोग मुक्त हिमाचल अभियान का शुभारंभ किया था। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार ने हिमाचल को वर्ष 2021 को पूर्ण रूप से क्षय रोग मुक्त बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए सभी जिलों में क्षयरोग जागरूकता व प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जा रही हैं।
राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ. आरके बारिया ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि सही समय पर जांच एवं दवा आरंभ करने से क्षय रोग को जड़ से समाप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि क्षय रोग के उन्मूलन में 99 डॉटस प्रणाली विशेष रूप से सहायक सिद्ध हो रही है। इसके अंतर्गत रोगी द्वारा दवा लेने, न लेने अथवा भूल जाने की स्थिति में पूर्ण जानकारी मोबाईल अलर्ट के माध्यम से प्राप्त हो जाती है। यह प्रणाली रोगी को दवाई खाने का स्मरण करवाती है। उन्होंने कहा कि क्षय रोग परीक्षण के मामले में हिमाचल देश में केरल के बाद दूसरे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि तपेदिक के रोगी के विषय में आशा कार्यकर्ता अथवा निजी अस्पताल अथवा क्लीनिक द्वारा टोल फ्री नंबर 1800-11-6666 पर जानकारी दी जाती है।
जि़ला तपेदिक अधिकारी डॉ. मुक्ता रस्तोगी ने इस अवसर पर कहा कि सीएमई के तहत कांगड़ा जिला के पालमपुर, सोलन, मंडी तथा शिमला जिलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि सीबीएनएएटी जैसी आधुनिक तकनीक के सहयोग से रोगी की जांच कर सही समय पर दवा आरंभ की जा सकती है। उन्होंने कहा कि सीबीएनएएटी मशीनें प्रदेश में 18 स्थानों पर स्थापित की जा चुकी हैं।
कार्यशाला में जानकारी दी गई कि सरकार द्वारा पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत क्षय रोगियों को उपचार के दौरान पोषण सहायता प्रदान करने के लिए निक्षय पोषण योजना आरंभ की गई है। इसके तहत क्षय रोगियों को पोषण सहायता के लिए प्रतिमाह 500 रुपये देने का प्रावधान है।
कार्यशाला में अवगत करवाया गया कि हिमाचल प्रदेश में वर्ष 2016 के आंकड़ों के अनुसार 14070 क्षय रोगी पंजीकृत हैं।
कार्यशाला में राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ. आरके बारिया ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से क्षय रोग, परीक्षण, निदान एवं जागरूकता इत्यादि के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की।
कार्यशाला में विश्व स्वास्थ्य संगठन के परामर्शदाता डॉ. रविन्द्र कुमार ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से क्षय रोग उपचार में प्रयुक्त होने वाली आधुनिक तकनीक की जानकारी दी।
.========================================================================================
सोलन दिनांक 15.10.2018
खेल हमारे जीवन का अभिन्न अंग-डॉ. डेजी ठाकुर
राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. डेज़ी ठाकुर ने कहा कि खेल हमारे जीवन का अभिन्न अंग हैं तथा हमें अपने जीवन में किसी न किसी खेल से अवश्य जुड़ना चाहिए। डॉ. डेजी ठाकुर आज सोलन के ऐतिहासिक ठोडो मैदान में आयोजित तीन दिवसीय राज्य स्तरीय बचपन अंडर-13 फुटबाल प्रतियोगिता के समापन अवसर पर उपस्थित खिलाडि़यों एवं अन्य को संबोधित कर रही थीं।
उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे नशे से दूर रहें तथा नशा उन्मूलन में रचनात्मक सहयोग दें ताकि स्वस्थ समाज की नींव सुदृढ़ हो सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिपेक्ष्य में युवा पीढ़ी विभिन्न प्रकार के नशे का सेवन कर अपने भविष्य को बर्बाद कर रही है जो कि चिंतन व चिंता का विषय है। समाज को नशा मुक्त बनाने के लिए सभी लोगों को आगे आना होगा तथा युवाओं को विशेष रूप से नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक करना होगा ताकि युवा अपनी शक्ति का प्रयोग सकारात्मक कार्यों में कर सकें।
उन्हांेने फुटबाल संघ के पदाधिकारियों एवं स्थानीय लोगों को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों से लोगों में आपसी सौहार्द, सद्भाव तथा पारस्परिक सहयोग की भावना सुदृढ़ होने से राष्ट्रीय एकता व अखंडता को बल मिलता है।
तीन दिवसीय प्रतियोगिता के दौरान शिमला फुटबाल संघ की टीम विजेता तथा ऊना फुटबाल संघ की टीम उपविजेता रही। शिमला फुटबाल संघ के अक्षित को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट तथा सोलन जिला फुटबाल संघ के हर्षित को बेस्ट गोलकीपर के पुरस्कार से नवाज़ा गया। मार्च पास्ट में सोलन जिला फुटबाल संघ को पुरस्कृत किया गया।
इससे पूर्व प्रदेश फुटबाल संघ के सचिव दीपक शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा प्रतियोगिता के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर भाजपा मंडल सोलन के अध्यक्ष रविंद्र परिहार, बघाट बैंक की निदेशक पूजा हांडा, वरिष्ठ भाजपा नेता अमर सिंह ठाकुर, सोलन जिला फुटबाल संघ के अध्यक्ष अरूण शर्मा, लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता कैप्टन एसपी जगोता, वन मंडलाधिकारी सोलन राजेश्वर जसवाल, अजय बंसल तथा राज्य एवं जिला फुटबाल संघ के सदस्य उपस्थित थे।
===============================================
कुल्लू -15 अक्तूबर 2018
कुल्लू की 1985 महिलाओं को मिलेंगे गैस कनैक्शन: गोविंद
वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री ने पतलीकूहल में बांटे कनैक्शन
मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना का लाभ उठाएं बेरोजगार युवा
ठाकुर कुंजलाल और दमोदरी ठाकुर ट्रस्ट से जरूरतमंदों को दी 4 करोड़ की मदद
वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा है कि केंद्र व प्रदेश सरकार आम लोगों विशेषकर गरीबों को समर्पित है और इनके उत्थान के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की गई हैं। प्रदेश सरकार ने अपने पहले बजट में ही लगभग 30 नई योजनाएं आरंभ करके समाज के हर वर्ग के कल्याण व उत्थान की दिशा में बहुत बड़ी पहल की है। गोविंद सिंह ठाकुर सोमवार को पतलीकूहल में हिमाचल गृहिणी सुरक्षा योजना के तहत रसोई गैस कनैक्शन वितरण समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे। समारोह के दौरान अन्य विभागों की योजनाओं के लाभार्थियों को भी चैक वितरित किए गए।
वन मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत देश भर में करीब 8 करोड़ गरीब महिलाओं को गैस कनैक्शन दिए जा रहे हैं। इस योजना से छूटी महिलाओं को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार हिमाचल गृहिणी सुरक्षा योजना के माध्यम से गैस कनैक्शन देने का निर्णय लिया है। कुल्लू जिला में भी इस योजना के पहले चरण में 1985 महिलाओं को रसोई गैस मिलेगी।
गोविंद सिंह ने कहा कि युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित व प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना चलाई गई है जिसमें बेरोजगार युवाओं को अपना कारोबार शुरू करने के लिए 30 लाख रुपये तक के ऋण 25 से 30 प्रतिशत सब्सिडी पर दिए जा रहे हैं। इस योजना में ग्रामीण पर्यटन, टूर एंड ट्रैवल, रेस्तरां-ढाबा, साहसिक पर्यटन, गो सदन और हिमाचल की परिस्थितियों के अनुसार कई अन्य छोटे-छोटे कार्य भी शामिल किए गए हैं। युवाओं को इस योजना का लाभ उठाना चाहिए। वन मंत्री ने बताया कि मनाली विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न सरकारी योजनाओं के अलावा स्वर्गीय ठाकुर कुंजलाल और दमोदरी ठाकुर मेमोरियल ट्रस्ट के माध्यम से भी जरूरतमंद लोगों की भरपूर मदद की जा रही है। ट्रस्ट से अभी तक जरूरतमंद लोगों को लगभग 4 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान की जा चुकी है।
इस मौके पर वन मंत्री ने 227 महिलाओं को गैस कनैक्शन के दस्तावेज प्रदान किए। उन्होंने एससी-एसटी वर्ग के 8 लोगों को गृह निर्माण अनुदान योजना की पहली किश्त के रूप में 65-65 हजार रुपये के चैक वितरित किए तथा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजनाओं के 6 लाभार्थियों को मकानों की चाबियां सौंपी। गोविंद सिंह ने बेटी है अनमोल योजना के तहत 10 कन्याओं को 10-10 हजार रुपये की एफडी के दस्तावेज और मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की एक लाभार्थी को 40 हजार का चैक भी सौंपा।
इस अवसर पर जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक पुरुषोत्तम सिंह ने वन मंत्री का स्वागत किया तथा हिमाचल गृहिणी सुरक्षा योजना की जानकारी दी। बीडीओ कल्याणी गुप्ता ने मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना के विभिन्न प्रावधानों से अवगत करवाया।
कार्यक्रम में जिला परिषद सदस्य धनेश्वरी ठाकुर, जिला भाजपा महामंत्री बालमुकुंद राणा, मंडल अध्यक्ष दुर्गा सिंह, अन्य पदाधिकारी, एसडीएम रमन घरसंगी और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
-----------------
वन मंत्री ने किया मरम्मत कार्यों का निरीक्षण
वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने सोमवार को मनाली-कुल्लू मुख्य मार्ग पर चल रहे निर्माण व मरम्मत कार्यों का निरीक्षण किया तथा संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि भारी बरसात के कारण इस मार्ग और कुछ पुलों को काफी क्षति पहुंची है। इसके अलावा पतलीकूहल और क्लाथ क्षेत्र में भी सरकारी व निजी संपत्ति को भारी नुक्सान पहुंचा है। वन मंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में सभी मरम्मत व निर्माण कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाएगा।
----------
कुल्लू - 15 अक्तूबर 2018
दशहरा उत्सव के लिए कुल्लू के लोक कलाकारों का आॅडिशन 17-18 को
अंतर्राष्ट्रीय लोकनृत्य कुल्लू दशहरा उत्सव-2018 के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने के इच्छुक कुल्लू जिला के लोक कलाकारों के चयन के लिए 17-18 अक्तूबर को सुबह 11 बजे देव सदन में आॅडिशन रखा गया है। दशहरा उत्सव की सांस्कृतिक उप समिति के अध्यक्ष एवं एडीएम अक्षय सूद ने उप समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी।
एडीएम ने बताया कि 17 अक्तूबर को कुल्लू और मनाली उपमंडल के लोक कलाकारों का आॅडिशन लिया जाएगा, जबकि बंजार व आनी के लोक कलाकारों का आॅडिशन 18 को होगा। अक्षय सूद ने बताया कि केवल 15 अक्तूबर तक आवेदन करने वाले लोक कलाकारों के ही आॅडिशन लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि दशहरा उत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने तथा प्रतिभाशाली लोक कलाकारों को दशहरा उत्सव का मंच प्रदान करने के लिए सांस्कृतिक उप समिति के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से आॅडिशन करवाने का निर्णय लिया है।
उप समिति की बैठक में गैर सरकारी सदस्य धनेश्वरी ठाकुर, डा. सूरत ठाकुर, हीरा लाल ठाकुर, शिव चंद और अन्य सदस्यों ने भी भाग लिया।
============================================
एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया
15 अक्तूबर हमीरपुर। जिला भाषा अधिकारी सुनीला ठाकुर ने बताया कि राजकीय महाविद्यालय बड़सर में जिला भाषा विभाग के सौजन्य से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। डा0 संजय कानगो ने कार्यशाला कि अध्यक्षता की जबकि मनोज डोगरा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। अजीत दीवान ने अपने शोध पत्र में हमीरपुर जनपद के संस्कार गीत ‘‘हमारे दर्पण’’ पर अपना शोध पत्र पढ़ते हुए बताया कि मनुष्य के जन्म से मरण पर्यान्त 16 संस्कार होते हैं; इन संस्कारों पर विभिन्न रस्मों के निर्वाहन पर कई तरह के अवसरों अनुसार संस्कार गीत गाए जाते हैं। यह गीत हमारी संस्कृति व सभ्यता के दर्पण हैं। डा0 शकुन्तला शर्मा ने हिमाचली व राजस्थानी गीतों में समानता विषय की प्रस्तुती पर कहा कि संस्कृत सभी भाषाओं की जननी है। इसी कारण इनमें समानता पाई जाती है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि इसके अलावा डा0 राकेश शर्मा , डा0 पुष्पेन्द्र व मनोज ने भी अपने शोध पत्र पढ़े
================================================
हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार हिमाचल प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए कृतसंकल्प है

हमीरपुर 15 अकतूबर। हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार हिमाचल प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए कृतसंकल्प है तथा गत साढ़े चार वषो्रं के दैरान प्रदेश के विकास तथा विभिन्न प्रकार की जन कल्याणकारी योजनाओं में करोड़ों रूपए के आथिर्क पैकेज प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिला हमीरपुर के अणु में 10 करोड़ रूपए की लागत से अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस सिंथैटिक ट्रैक का निर्माण किया गया है जिससे जिला के लोगों को सुविधा उपलब्ध हुई है तथा जिला से अच्छे-2 धावक राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं के लिए तैयार किए जा रहे हैं। इसके अतिरिकत अणु स्थित कालेज के पास ही 7 करोड़ रूपए की लागत से वहुददेशीय स्पोर्टस भवन का निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है जिसमें जूडो, कुश्ती, भारोतोलक , बैडमिन्टन, मुक्केबाजी, वालीबाल, बास्केटबाल तथा कवडडी इत्यादि खेलों की खिलाडिय़ों को इंडोर सुविधाएं उपलब्ध होगी । उन्होंने बताया कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस भव्य भवन को आगामी मार्च माह तक तैयार कर जनता को समर्पित कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि भवन के बेसमैंट में गाडिय़ों को पार्क करने की सुविधा भी उपलब्ध होगी।
अनुराग ठाकुर ने बताया कि खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करनेे वाले खिलाडिय़ों को आकर्षक पुरस्कार प्रदान किए जा रहे हैं तथा सरकारी नौकरियों में भी 3 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है। केन्द्र सरकार के खेलों के प्रति प्रतिबद्धता के कारण ही आज हिमाचल प्रदेश के खिलाडिय़ों ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अपनी शक्ति का लोहा मनवाया है जो प्रदेश ततथा देश के लिए गर्व की बात है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक हासिल करने वाले खिलाडिय़ों को प्रदेश सरकार द्वारा 1 लाख रूपए तथा रजत व कांस्य पदक विजेता को क्रमश: 70 हजार रूपए तथा 50 हजार रूपए की नक्द राशि पुरस्कार स्वरूप प्रदान की जा रही है। इसी प्रकार कॉमनवैल्थ, ओलम्पिक तथा एशियन खेलों में स्वर्ण पदक, रजत तथा कांस्य पदक विजेता खिलाडिय़ां को प्रदान की जाने वाली पुरस्कार राशि में भी केन्द्र सरकार ने इजाफा किया है।