धर्मशाला 23 मार्च: उपायुक्त कांगड़ा संदीप कुमार ने कहा कि खेलों का विद्यार्थी जीवन में बहुत महत्व है, जिससे जहां बच्चों का शारीरिक, बौद्धिक और मानसिक विकास होता है, वहीं बच्चों में अनुशासन, प्रतिस्पर्धा, परिश्रम और देशभक्ति की भावना उत्पन्न होती है।
उपायुक्त आज सिन्थेटिक ट्रैक धर्मशाला में आयोजित राजकीय औद्योगिक संस्थानों की तीन दिवसीय 13वीं महिला जिला स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता का शुभारंभ करने के उपरांत बोल रहे थे।
इस दौरान उपायुक्त ने ध्वज फहराया तथा विभिन्न आईटीआई की छात्राओं की टुकड़ियों द्वारा निकाले गये आकर्षक मार्चपास्ट की सलामी ली। इस दौरान छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये।
उन्होंने कहा कि ऐसी प्रतियोगिताएं युवा प्रतिभाओं को अपने खेल कौशल का प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान करती है ताकि वे राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्टता हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से बच्चों को अपनी प्रतिभा निखारने के लिए मंच तो प्राप्त होता है, साथ-साथ बच्चों में आत्मविश्वास की भावना के अतिरिक्त प्रतिस्पर्धा की भावना भी पैदा होती है।
उन्होंने कहा कि विद्यार्थी काल में अनुशासन, परिश्रम की आदत बनानी चाहिए ताकि इसका लम्बे समय तक लाभ मिल सके। उन्होंने बच्चों से आह्वान किया कि वे प्रतिस्पर्धा के दौर में कड़ी मेहनत कर हर चुनौती का सामना करने के लिए अपने आपको तैयार रखें। उन्होंने कहा कि आज के दौर में वही आगे बढ़ पाएगा, जिसमें प्रतियोगिता की भावना होगी एवं हर कला में परम्परागत होगा। उन्होंने विद्यार्थियों से शिक्षा के साथ खेल तथा अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों में भी बढ़-चढ़ कर भाग लेने का आह्वान किया।
उपायुक्त ने कहा 1 जनवरी 2019 को जिन बच्चों ने अपनी 18 साल की उम्र पूरी कर ली है व जिन्होंने अभी तक अपना वोट नहींे बनाया है वह 19 अप्रैल तक अपना वोट जरूर बनाएं। उन्होंने प्रधानाचार्यों से आह्वान किया कि कोई भी छात्र/छात्राएं वोट बनाने से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि मतदान करना प्रत्येक मतदाता का अधिकार भी है और कर्तव्य भी। उन्होंने कहा कि मतदान से एक और जहां लोगों में अपने कर्तव्य के निर्वहन का बोध होता है, वहीं दूसरी ओर वे सरकार के गठन में भी अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर गौरवान्वित होते हैं। उन्होंने कहा कि मतदान करने के लिए मतदाता सूची में नाम दर्ज होना जरूरी है तथा आपका नाम मतदाता सूची में होने से यह साबित होता है कि आप अपने अधिकार और कर्तव्य के प्रति जागरूक हैं। उन्होंने बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि लोकतन्त्र की मतदान प्रक्रिया में पूरे जोश के साथ भागीदारी सुनिश्चित करें।
इस खेल प्रतियोगिता में कांगड़ा जिला के 11 आईटीआई के 250 बच्चे भाग ले रहे हैं। इस प्रतियोगिता में बैडमिंटन, वालीबाल, कबड्डी तथा खो-खो प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।
उपायुक्त ने खेलों के आयोजन के लिए आयोजन समिति को बधाई दी।
आईटीआई खेलकूद समिति के प्रधान एसके लखनपाल ने मुख्यातिथि को सम्मानित किया तथा खेलों के आयोजन बारे विस्तृत जानकारी दी।
आईटीआई धर्मशाला के प्रधानाचार्य मनीष कुमार राणा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा एनथूरियम का पौधा भेंट किया।
इस अवसर पर आईटीआई शाहपुर के प्रधानाचार्य एसके लखनपाल, मनीष कुमार राणा, जिला खेल अधिकारी संजय शर्मा सहित विभिन्न आईटीआई के प्रधानाचार्य तथा बड़ी संख्या में अध्यापक तथा बच्चे मौजूद थे।