हमीरपुर 20 जुलाई। पूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने ग्राम पंचायत बस्सी झनियारा के अंतर्गत आज नडियाणां-सडियाणां गांव के साथ लगते वन क्षेत्र में केन्द्रीय विद्यालय के बच्चों के साथ लोकाट का पौधा रोपित कर पौधारोपण अभियान का शुभारंभ किया। जिला परिषद अध्यक्ष राकेश ठाकुर ने भी इस अवसर पर आमले का पौधा रोपित किया। केन्द्रीय विद्यालय के बच्चों ने भी हरड़, आमला, बेहड़ा तथा रीठा प्रजातियों के 120 से भी अधिक पौधे रोपित किए।
प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि वन प्रकृति का एक अनुपम उपहार है जो मानव जाति के साथ-2 वन्य जीव-जंतुओं को सुरक्षित स्थान प्रदान करते हैं। वन भू संरक्षण के साथ भू-जल स्तर को बनाए रखने में भी सहायक सिद्ध होते हैं। अधिक से अधिक पौधारोपण से जहां हमारी धरती हरी-भरी रहेगी वहीं पर्यावरण प्रदूषण को कम करने में सहायता मिलेगी। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति अपने घर के आस-पास तथा अन्य खुले स्थानों पर अपने व अपने बच्चों के जन्म दिन तथा अन्य महत्वपूर्ण समारोहों के अवसर पर कम से कम पांच-पांच पौधे रोपित कर उनका संरक्षण सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि धरती का तापमान आज 5 डिग्री तक बढ़ गया है जो कि मानव जाति के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती है। वन्य जंतुओं तथा प्राकृतिक संपदा को आग से बचाने के लिए हमें अधिक संवेदनशील होने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि जिला हमीरपुर में बरसात मौसम के दौरान पर में 33 स्थानों 152 हैक्टेयर भूमि पर पौधारोपण किया जाएगा। बुजुर्गोंे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बुजर्ग निष्काम भावना से रास्तों के किनारे आम, पीपल तथा बट वृक्ष के पौधे रोपित करते थे। हमें उनसे सीख लेकर पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने तथा वनों के संबद्र्धन व संरक्षण में अपना शत-प्रतिशत योगदान देना होगा। उन्होंने कहा कि पौधारेपण अभियान में स्कूली बच्चों की भागीदारी सुनिश्चित होने से यह संदेश घर-घर तक जाएगा तथा बच्चों में भी पौधारोपण तथा पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता बढ़ेगी।
जिला परिषद अध्यक्ष राकेश ठाकुर ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए उनका इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वन ही जीवन है इसलिए वनों को बचाने के साथ-2 इनका संबद्र्धन व संरक्षण प्रत्येक व्यक्ति का उत्तरदायित्व है। उन्होंने कहा कि विगत तीन महीनों में प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने बस्सी- झनियारा पंचायत में विकासात्मक कार्यों को ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री के माध्यम से लगभग 45 लाख रूपए की राशि स्वीकृत करवाई है जो कि क्षेत्र के विकास के प्रति उनकी सकारात्मक सोच को परीलक्षित करता है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लिए 3 करोड़ 53 लाख से बनने वाली पेयजल योजना भी प्रो0 प्रेम कुमार धूमल ने ही स्वीकृत करवाई है जो जनवरी,2021 तक बनकर तैयार हो जाएगी जिससे क्षेत्र की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा।
वन मंडल अधिकारी संगीता चंदेल ने भी वन विभाग द्वारा वनों के संरक्षण तथा पौधारोपण अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने वनों की महता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वनों से हमें लकड़ी, फल,पशुओं के लिए चारा तथा अन्य वहुमूल्य जड़ी-बूटियां प्राप्त होती हैं। वन वर्षा लाते हैं तथा तथा भू संरक्षण व भू-जल स्तर को बनाए रखने में सहायक सिद्ध होते हैं।
इस अवसर पर मंडलाध्यक्ष सुजानपुर कैप्टन रणजीत सिंह, महासचिव अनिल शामा, मीडिया प्रभारी विनोद ठाकुर, जिला परिषद सदस्य पवन कुमार बीडीसी मैंबर निर्मला देवी, स्थानीय ग्राम पंचायत की प्रधान उमा देवी, पूर्व प्रधान भगवंत सिंह, मतदान केन्द्र प्रभारी अनिल कुमार के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।