प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत जिला में 10,085 नए लाभार्थीः हरिकेश मीणा

उपायुक्त की अध्यक्षता में किया गया साप्ताहिक समीक्षा बैठक का आयोजन

हमीरपुर, 22 जुलाई। उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा की अध्यक्षता में आज यहां हमीर भवन में साप्ताहिक समीक्षा बैठक (मंडे मीटिंग) का आयोजन किया गया। इसमें विभिन्न विभागों के माध्यम से जिला में संचालित योजनाओं व कार्यों के क्रियान्वयन की समीक्षा की गई।

श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा किसानों, युवाओं तथा अन्य वर्गों के कल्याणार्थ चलाई जा रही योजनाओं का हमीरपुर जिला में समयबद्ध क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत जिला में लाभार्थियों को चिह्नित करने का कार्य प्रगति पर है और 10,085 नए लाभार्थी चिह्नित किए गए हैं। इस योजना के अंतर्गत अब तक कुल 51,581 पात्र किसानों के रिकॉर्ड पीएम-किसान पोर्टल पर अपलोड किए जा चुके हैं। इसी प्रकार प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के अंतर्गत 2700 पात्र लाभार्थियों को चिह्नित किया गया है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत 47 पंचायतों के एक हजार नए लाभार्थी जोड़े गए हैं जिन्हें सस्ती दरों पर खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जा रहा है। पंचायत स्तर पर ग्राम सभाओं के माध्यम से लाभार्थियों का चयन किया जा रहा है। उन्होंने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग से इसमें गति लाने को कहा।

उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम में पौधारोपण के लिए सभी विभाग स्वयंसेवी भावना से आगे आकर कार्य करें। उपमंडल स्तर पर सभी उपमंडलाधिकारी (ना.) इसमें एक लक्ष्य तय करें और लोक निर्माण विभाग भी सड़कों के किनारे पौधारोपण के लिए सार्थक प्रयास करें। वन, उद्यान, कृषि सहित संबंधित विभाग अपने कार्यक्षेत्रों में इस अभियान को आगे बढ़ाएं।

उन्होंने नगर परिषद से आग्रह किया कि वे अपनी संपत्तियों के उचित रख-रखाव और इनके दोहन के लिए एक कार्य योजना तैयार करें, ताकि नगर परिषद की आय में बढ़ोतरी की जा सके। उन्होंने उपमंडलाधिकारी (ना.) तथा नगर परिषद को बस अड्डे के समीप दुकानों तथा रेहड़ी-फड़ी वालों के मामले प्राथमिकता के आधार पर हल करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने जिला में गौसदन की स्थापना के लिए भूमि इत्यादि की चयन प्रक्रिया तथा सुजानपुर में सैनिक स्कूल के मरम्मत कार्य में तेजी लाने के भी निर्देश संबंधित विभागों को दिए।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त श्री रत्तन गौत्तम, सहायक आयुक्त श्री राजकिशन, उपमंडलाधिकारी (ना.) डॉ. चिरंजी लाल, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री सुनील कनोत्रा सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

==========================

29 जुलाई तक आयोजित किए जाएंगे परिवार नियोजन शिविर
हमीरपुर 22 जुलाई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 अर्चना सोनी ने सूचित किया है कि जुलाई माह में विभिन्न स्थानों पर परिवार नियोजन शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। तय कार्यक्रम के अनुसार 23 जुलाई को विकास खण्ड नादौन के नागरिक अस्पताल में , 24 जुलाई को बड़सर के नागरिक अस्पताल बड़सर में , 26 जुलाई को विकास खण्ड टौणी देवी के नागरिक अस्पताल टौणी देवी में , 27 जुलाई को विकास खण्ड गलौड़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गलौड़ में तथा 29 जुलाई को सुजानपुर के नागरिक अस्पताल सुजानपुर में यह शिविर आयोजित किए जांएगे। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि प्रभारी चिकित्सा अधिकारी सभी मामलों की उचित रूप से जांच-पड़ताल करना सुनिश्चित करें तथा सभी सम्बंधित दस्तावेजों पर कैंप शुरू होने से पहले स्वीकर्ता के हस्ताक्षर होना भी सुनिश्चित करें। साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे आपातकालीन और पोस्ट-ऑपरेटिव चेकअप की उचित व्यवस्था भी सुनिश्चित करें।

===========================

उद्यम स्थापित करने में युवाओं का सहायक बना प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रमः उपायुक्त

जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक में 67 मामलों का अनुमोदन, 6 करोड़ रुपए का होगा निवेश
हमीरपुर, 22 जुलाई। उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा की अध्यक्षता में आज यहां प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड तथा महाप्रबंधक, जिला उद्योग केंद्र की ओर से अनुमोदन के लिए प्रस्तुत आवेदनों सहित अन्य मदों पर चर्चा की गई।
श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य लोगों और विशेषतौर पर युवाओं को नया व्यवसाय प्रारंभ करने में उनकी आर्थिक सहायता करना है। जिला स्तर पर इस योजना के सुचारू क्रियान्वयन के लिए खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड तथा जिला उद्योग केंद्र मिलकर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 18 साल से अधिक आयु का कोई भी व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकता है।
आज की बैठक में कुल 67 मामले प्रायोजक एजेंसियों के माध्यम से विचार एवं अनुमोदन हेतु प्रस्तुत किए गए। इनमें से 29 मामले जिला उद्योग केंद्र, 21 खादी आयोग तथा 17 मामले खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के माध्यम से प्राप्त हुए, जिन्हें विभिन्न वित्तियन बैंकों को प्रेषित करने पर चर्चा की गई। इन सभी उद्योगों पर लगभग 6 करोड़ रुपए का कुल निवेश प्रस्तावित है एवं लगभग 300 लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा। इन उद्योगों के लिए सरकार की ओर से एक करोड़ 80 लाख रुपए की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
इनमें सेवा, मैन्यूफैक्चरिंग, इंजीनियरिंग वर्क्स, ब्यूटी पॉर्लर, गंदम प्रसंस्करण (प्रोसेसिंग), सायबर कैफे, हेयर सैलून, इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक सर्विस वर्कशॉप, डीजे सिस्टम, मिठाई, पेपर प्लेट्स एवं कप इंडस्ट्री, फर्नीचर,फैशन बूटिक व टेलरिंग सहित विभिन्न क्षेत्रों में उद्यम स्थापित करने के लिए आवेदन शामिल हैं।
उपायुक्त ने उद्योग विभाग व खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अधिकारियों से आग्रह किया कि वे ग्रामीण स्तर पर इस कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार कर अधिक से अधिक युवाओं को उद्यम स्थापित कर स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें।
बैठक में महाप्रबंधक, जिला उद्योग केंद्र श्री विजय चौधरी, अग्रणी जिला प्रबंधक (पीएनबी) श्री जी.सी. भट्टी, खादी बोर्ड के विकास अधिकारी श्री अश्वनी शर्मा, खादी आयोग के संयोजक श्री सुरेश सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।
=============================
-A brief press conference (at site) will be held at 11:30am on 23/07/2019, by Sh. Sandeep Kadam, MD-cum-CEO, Dharamshala Smart City Ltd. (DSCL)
KANGRA,22.07.19-A brief press conference (at site) will be held at 11:30am on 23/07/2019, by Sh. Sandeep Kadam, MD-cum-CEO, Dharamshala Smart City Ltd. (DSCL) regarding its recently completed Root-Zone Treatment Plant Project. The venue of the conference will be Old Chadi Road (Bypass Dharamshala to Mc Leodganj). This project has been completed under the supervision of I&PH Deptt., Himachal Pradesh. For Details contact Er. Vishal, Manager, DSCL, Mob. 9805073054
========================
एक नवंबर से आठ नवंबर तक आयोजित किया जाएगा त्रिगर्त उत्सव: डीसी
ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक विरासत की दिखेगी झलक
धर्मशाला, 22 जुलाई। कांगड़ा जिला में त्रिगर्त उत्सव एक नवंबर से लेकर आठ नवंबर तक आयोजित किया जाएगा, उत्सव में कांगड़ा जिला की ऐतिहासिक तथा संास्कृतिक विरासत के बारे में पर्यटकों तथा युवा पीढ़ी को अवगत करवाया जाएगा। यह जानकारी उपायुक्त राकेश प्रजापति ने सोमवार को नैनसुख सभागार में त्रिगर्त उत्सव की तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
उन्होंने कहा कि त्रिगर्त उत्सव के माध्यम से कांगड़ा चित्रकला, पुरातन किलों का इतिहास की जानकारी, पारंपरिक लोक नृत्यों पर आधारित कार्यक्रमों का प्लान भी तैयार किया गया है।
उन्होंने कहा कि त्रिगर्त उत्सव भाषा-संस्कृति विभाग, पर्यटन विभाग व जिला प्रशासन कांगडा के सहयोग से जिला भर में बडे पैमाने पर मनाया जाएगा। त्रिगर्त उत्सव में नूरपूर किला, नन्दपुर किला, कांगडा किला, पालमपुर अन्द्रेटा, बैजनाथ व धर्मशाला मकलोडगंज में विभिन्न संस्थाओं द्वारा विभिन्न कार्यक्रम करवाए जाएगें इसमें कांगडा लोक साहित्य परिशद नेरटी द्वारा कवि सम्मेलन, हरिकृष्ण मुरारी द्वारा चीड पत्ती हस्त शिल्प उत्पाद तैयार करने बारे कार्यशाला, ड्रिफ्ट रीड व कहानी संवाद, बुडलैंड सोसाइटी द्वारा चाली नृत्य, कैप्स द्वारा कांगडा पंेटिंग प्रदर्शनी व राघव शर्मा के संरक्षण में स्कूली बच्चों की कांगडा पेंटिग कार्यशाला तथा स्कूली बच्चों को पुरातात्विक किलों का भ्रमण भी करवाया जाएगा जिसमें उन्हें किले के इतिहास से रू ब रू करवाया जाएगा। त्रिगर्त उत्सव में जीआईसी मैप व सैलानियों की सुविधा के लिए बसों का प्रावधान भी किया जाएगा।
बैठक में सुनयना शर्मा, उप-निदेशक पर्यटन, विनय शर्मा जिला लोक सम्पर्क अधिकारी,ड्रिफ्ट से सान्या जैन, हरिकृष्ण मुरारी, गौतम व्यथित, जगवीरपाल सिंह बुडलैंड सोसाईटी अन्द्रेटा, कैप्स से अक्षय व श्री सुरेश राणा जिला भाषा अधिकारी कांगडा स्थित धर्मशाला उपस्थित रहे।