23 अगस्त को किया जाएगा पैंशनर अदालत का आयोजन : जसवंत सिंह
HAMIRPUR,19.08.19-उपनिदेशक शिक्षा उच्चतर जसवंत सिंह ने उच्च शिक्षा विभाग के समस्त पैंशनरों को सूचित किया है कि 23 अगस्त 2019 (शुक्रवार) प्रात: 11 बजे से सांय 4 बजे तक उपनिदेशक उच्चतर शिक्षा हमीरपुर के कार्यालय में पैंशन अदालत का आयोजन किया जाएगा जिसमें पैंशनरों की पैंशन सम्बन्धी शिकायतों का निपटारा किया जाएगा। उन्होंने जिला के उच्च शिक्षा विभाग के पैंशनरों से आग्रह किया है कि वे पैंशन सम्बन्धित शिकायतें 21 अगस्त तक उपलब्ध करवाएं । साथ ही जिला में सभी सरकारी स्कूलों के प्रधानाचार्यों व मुख्याध्यापक इस संदर्भ में अपनी-अपनी पाठशालाओं से सम्बन्धित पैंशनरों के साथ सम्पर्क साधकर इस पैंशन अदालत के बारे अवगत करवाएं। अधिक जानकारी के लिए पैंशनर उच्च शिक्षा विभाग के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

================================

शीघ्र ही डीसी ऑफिस का कार्य होगा पेपरलैस

ई-ऑफिस प्रणाली पर हमीर भवन में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित
हमीरपुर 19 अगस्त ।
हमीर भवन में आज उपायुक्त कार्यालय के समस्त अधिकारियों तथा कर्मचारियों के लिए ई-ऑफिस प्रणाली पर आधारित एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उपायुक्त हरिकेश मीणा भी विशेष रूप से उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि डीसी ऑफिस में ई- आफिस प्रणाली शीघ्र ही लागू होगी। इसके अंतर्गत कार्यालय के तमाम सरकारी कार्य डायरी से लेकर डिस्पैच ,नोटिंग, ड्राफटिंग, फाईलिंग तथा विभिन्न प्रकार के पत्राचार तक उपरोक्त प्रणाली के माध्यम से सम्पन्न किए जाएंगे। डीसी ऑफिस के सभी अनुभाग आने वाले समय में इस प्रणाली के माध्यम से एक दूसरे के साथ जुड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे कार्य में दक्षता व पारदर्शिता लाई जाएगी तथा पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने में भी मदद मिलेगी। डीसी ऑफिस के बाद जिला में सभी एसडीएम कार्यालयों को भी इस प्रणाली के तहत लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि ये ट्रेनर एक सप्ताह तक डीसी ऑफिस की विभिन्न शाखाओं में अधिकारियों तथा कर्मचारियों को ई- आफिस प्रणाली की व्यावहारकि रूप से जानकारी देंगे तथा जो भी कठिनाई आएगी उसका मौके पर समाधान करेंगे।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग शिमला से आए ट्रेनिंग मैनेजर अमित कुमार तथा ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर अजय दतयाल ने डीसी ऑफिस के तमाम अधिकारियों तथा कर्मचारियों को ई- ऑफिस से सम्बंधित विस्तार से जानकारी प्रदान की गई।
इस अवसर पर सहायक आयुक्त, राज किशन ठाकुर, जिला राजस्व अधिकारी पवन कुमार शर्मा, जिला नाजिर विकास कौंडल के अतिरिक्त डीसी ऑफिस की विभिन्न शाखाओं के समस्त कर्मचारी उपस्थित थे।
=============================
हमीरपुर जिला में धान व मक्की की फसल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के दायरे में, नुकसान होने पर 72 घंटों के भीतर कंपनी अथवा विभाग को करें सूचितः उपायुक्त

हमीरपुर, 19 अगस्त। उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि हमीरपुर जिला में बरसात के मौसम में फसलों को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत क्षतिपूर्ती की जा रही है। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे नुकसान के बारे में त्वरित सूचना उपलब्ध करवा कर इस योजना का भरपूर लाभ उठाएं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना केंद्र सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है और हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा जिला हमीरपुर में खरीफ-2019 के लिए मक्की एवं धान की फसलों को इस बीमा योजना के अंतर्गत लाया गया है। जिला में यह योजना एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (एआईसी) के माध्यम से संचालित की जा रही है।

उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने अपनी फसल का बीमा इस योजना के अंतर्गत करवा रखा है वे समय-समय पर फसलों का निरीक्षण करते रहें। यदि उनकी फसल को स्थानीय आपदा जैसे ओलावृष्टि, भू-स्खलन, जलभराव इत्यादि के कारण क्षति होती है तो इस बारे में 72 घंटों की समय अवधि में एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी के टोल फ्री नंबर पर या कृषि विभाग के नजदीकी कार्यालय में सूचना दें। किसान इसके लिए एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी के निःशुल्क सहायता सेवा नंबर 1800-116-515 पर सूचित कर सकते हैं। साथ ही हमीरपुर जिला के लिए कंपनी के अधिकारी श्री अजय उप्पल को उनके मोबाइल नंबर 9418957900 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त इसकी जानकारी तुरंत अपने विकास खंड के नजदीकी विषयवाद विशेषज्ञ (कृषि) को दें। इस संबंध में किसान कॉल सेंटर पर भी प्रातः 6.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक निःशुल्क सेवा नंबर 1800-180-1551 पर घर बैठे ही जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग व संबंधित बीमा कंपनी को नुकसान की भरपाई प्राथमिकता के आधार पर करने के निर्देश दिए गए हैं।

=============================

नेशनल स्कॉलरशिप र्पोटल पर 15 अक्तूबर तक करें ऑनलाईन आवेदन
हमीरपुर 19 अगस्त । उपनिदेशक शिक्षा(उच्च) जसवंत सिंह ने जिला हमीरपुर के समस्त सरकारी व निजी स्कूलों के प्रधानाचार्य व मुख्य अध्यापकों से आग्रह किया है कि नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर 21 अगस्त 2019 तक अपनी रजिस्ट्रेशन करवाना सुनिश्चित करें तथा 22 अगस्त 2019 तक उप शिक्षा निदेशक उच्चतर जिला हमीरपुर कार्यालय में छात्रवृत्ति नोडल ऑफिसर का रजिस्ट्रेशन फार्म सत्यापित करवाना सुनिश्चित करें । इसके अतिरिक्त वर्ष 2019-20 के लिए समस्त केन्द्र तथा राज्य सरकार द्वारा प्रायोजित छात्रवृत्तियों के आवेदन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर 15 अक्तूबर 2019 तक पात्र छात्र व छात्राओं के आवेदन ऑनलाईन करना सुनिश्चित करें।

==============================

हमीरपुर जिला में गत 24 घंटों में भारी बारिश से सात करोड़ 87 लाख 62 हजार रुपए का नुकसानः उपायुक्त

हमीरपुर, 19 अगस्त। उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि हमीरपुर जिला में भारी बारिश के कारण सार्वजनिक व निजी संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचा है। पिछले 24 घंटों में जिला में सरकारी व निजी संपत्ति का लगभग सात करोड़ 87 लाख 62 हजार रुपए का नुकसान आंका गया है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण तथा विभिन्न विभागों के समन्वय से राहत व बचाव कार्यों में तेजी लाते हुए प्रभावितों को त्वरित सहायता उपलब्ध करवाई गई है।

उपायुक्त ने कहा कि पिछले 24 घंटों में भारी बारिश के कारण हमीरपुर जिला में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को तीन करोड़ 61 लाख 80 हजार रुपए, राष्ट्रीय उच्च मार्गों को तीन करोड़ 10 लाख 95 हजार रुपए, कृषि विभाग को फसलों का लगभग एक करोड़ 88 हजार रुपए तथा विद्युत विभाग को लगभग पांच लाख 46 हजार रुपए का नुकसान आंका गया है। इसके अतिरिक्त निजी संपत्ति जिसमें मकान, गौशाला, व्यवसायिक परिसर व डंगा इत्यादि शामिल हैं, को लगभग 8 लाख 52 हजार रुपए का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि हमीरपुर जिला में गत एक जुलाई, 2019 से 19 अगस्त, 2019 तक लगभग 45 करोड़, 38 लाख 16 हजार रुपए का कुल नुकसान आंका गया है।

===============================

डॉ. साधना ठाकुर लेंगी पौधारोपण कार्यक्रम में भाग
धर्मशाला 19 अगस्त: जिला रेडक्रॉस सोयायटी के अध्यक्ष एवं उपायुक्त कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति ने जानकारी देते हुए बताया कि रेडक्रॉस सोसायटी कांगड़ा व वन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में 20 अगस्त, 2019 को डॉ. राजेन्द्र प्रसाद राजकीय मेडिकल कॉलेज टांडा में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश रेडक्रॉस सोसायटी, शिमला(अस्पताल कल्याण शाखा)की अध्यक्ष डॉ.साधना ठाकुर बतौर मुख्यातिथि शिरकत करेंगी।
उन्होंने बताया कि पौधारोपण के पश्चात डॉ.साधना ठाकुर संसार चन्द गैस्ट हाउस के सभागार में रेडक्रॉस सोसायटी कांगड़ा की बैठक की अध्यक्षता करेंगी।
इस दौरान मुख्यातिथि रेडक्रॉस के नये आजीवन सदस्यों को सदस्यता से सम्मानित करने के उपरांत शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों को व्हील चेयर प्रदान करेंगी।
उपायुक्त ने रेडक्रॉस के आजीवन सदस्यों से अनुरोध किया है कि वे अधिक से अधिक संख्या में पधार कर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएं।
000

उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में भारी बारिश के कारण जिला के लगभग 30 सड़कों पर भूस्खलन इत्यादि से यातायात बाधित हुआ और दोपहर तक 22 सड़कों पर यातायात सुचारू कर दिया गया और शेष पर कार्य जारी है। उन्होंने कहा कि जिला से गुजरने वाले शिमला-धर्मशाला राष्ट्रीय उच्च मार्ग मैड़ के पास क्षतिग्रस्त हो गया है। ऐसे में इस मार्ग से भारी वाहनों की आवाजाही वाया लदरौर, भराड़ी, दधोल की गई है जबकि छोटे वाहनों के लिए वाया उखली, भोटा व पट्टा होकर आवाजाही की व्यवस्था की गई है।

उपायुक्त ने कहा कि सभी राजस्व अधिकारियों को नुकसान का आकलन कर त्वरित राहत आवंटित करने के निर्देश जारी किए गए हैं। लोक निर्माण, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग व राज्य विद्युत बोर्ड तथा दमकल कर्मियों को आपात सेवाओं के लिए पूरी तरह से तैयार रखा गया है और सभी विभाग सूचना प्राप्त होते ही राहत व बचाव में पूरी तत्परता के साथ कार्य कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से भी आग्रह किया है कि वे नुकसान के बारे में राजस्व कर्मियों या पंचायतों के माध्यम से भी जिला प्रशासन को सूचना भेज सकते हैं।

=========================

डीसी ने नूरपुर के खडेतर में लिया राहत कार्यों का जायजा
प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए त्वरित कदम उठाने के दिए निर्देश
एनडीआरफ ने जब्बर खड्ड से पानी की निकासी को चलाया अभियान
धर्मशाला, 19 अगस्त। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बारिश से प्रभावित नूरपुर की दानी पंचायत के खडेतर गांव में राहत कार्यों का जायजा लिया तथा प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए त्वरित कदम उठाने के निर्देश उपमंडल प्रशासन को दिए गए हैं।
उल्लेखनीय है कि गत दिवस भारी बारिश के चलते भूस्खलन के कारण जब्बर खड्ड पानी रूकने के कारण झील के रूप में परिवर्तित हो गई, प्रशासन की ओर से झब्बर खड्ड के साथ लगते तरींडी, दानी, मैरका, लोडर, थाना, हिंदौरघाट, लेटरी, जसूर में लोगों को सतर्क किया गया तथा सोमवार सुबह से एनडीआरएफ, होम गार्डस, पीडब्लयूडी सहित स्थानीय लोगों की सहायता से जब्बर खड्ड से पानी निकालने के लिए अभियान आरंभ किया गया। इसमें बीबीएमबी तलवाड़ा तथा चमेरा बांध विशेषज्ञ भी मौजूद रहे।
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है तथा इस के लिए उपमंडल स्तर से लेकर जिला स्तर तक सुचारू मॉनिटरिंग भी सुनिश्चित की जा रही है। भारी बारिश के चलते सड़कों तथा पेयजल योजनाओं के उचित रखरखाव के लिए भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बारिश से प्रभावितों के लिए फौरी राहत भी तुरंत देने के लिए कहा गया है।
उन्होंने लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि नदी नालों की तरफ जाने से गुरेज करें तथा बाढ़ की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों पर भी पूर्ण नजर रखी जा रही है। उन्होंने सभी उमपंडलाधिकारियों को भी निर्देश देते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन को लेकर कारगर कदम उठाएं तथा सड़कों इत्यादि के अवरूद्व होने की स्थिति में जेसीबी इत्यादि सभी आवश्यक प्रबंध करना पहले से सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर एसडीएम ने बताया कि दानी पंचायत के तीन परिवारों के मकान खाली करवाकर सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया है तथा इनके पुनर्वास के लिए भी उचित कदम उठाए जाएंगे ताकि इन परिवारों को किसी तरह की असुविधा नहीं रहे।

===============================

सोलन दिनांक 19.08.2019
कंप्यूटर प्रशिक्षण के लिए आवेदन आमंत्रित

जिला युवा सेवा एवं खेल कार्यालय सोलन द्वारा वर्ष 2019-20 में 4 युवाओं को एक वर्ष का निःशुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। यह जानकारी जिला युवा सेवाएं एवं खेल अधिकारी गोवर्धन सिंह ने दी।
उन्होंने कहा कि इच्छुक अभ्यर्थी 26 अगस्त, 2019 तक जिला युवा सेवा एवं खेल कार्यालय में सभी अनिवार्य दस्तावेजों व प्रमाण पत्रों सहित आवेदन कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि यह प्रशिक्षण राष्ट्रीय केंद्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी, (छप्म्स्प्ज्ध्क्व्म्।ब्ब्) मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों तथा प्रदेश सरकार से मान्यता प्राप्त संस्थान द्वारा प्रदान किया जाएगा।योजना के अन्तर्गत युवाओं को स्वरोजगार के लिए अवसर प्रदान करना है।
जिला युवा सेवाएं एवं खेल अधिकारी ने कहा कि इस प्रशिक्षण के लिए आवेदक की आयु 18 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए। प्रशिक्षणार्थी की शैक्षणिक योग्यता जमा दो होनी अनिवार्य है। प्रशिक्षणार्थी के घर से कोई भी व्यक्ति सरकारी या अर्धसरकारी नौकरी में नहीं होना चाहिए आवेदक के घर की वार्षिक आय 2 लाख से कम होनी चाहिए। ग्रामीण युवाओं को प्राथमिकता दी जायेगी। प्रशिक्षणार्थी जिला सोलन का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
उन्होंने कहा कि जिन प्रशिक्षणार्थियों ने पहले कम्प्यूटर प्रशिक्षण प्राप्त किया है वे इसके लिए आवेदन न करें।
अधिक जानकारी के लिए कार्यालय के दूरभाष नम्बर 01792-223462 पर किसी भी कार्यदिवस पर सम्पर्क कर सकते हैं
.===============================================
सोलन दिनांक 19.08.2019
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने दुकानांे का किया औचक निरीक्षण

जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति नियन्त्रक सोलन मिलाप शांडिल के नेतृत्व में आज विभाग के दल ने सोलन बाजार और बस अड्डे तथा सब्जी मण्डी की दुकानांे का औचक निरीक्षण किया।

मिलाप शांडिल ने बताया कि प्रतिबंधित प्लास्टिक लिफाफों के प्रयोग को रोकने के लिए यह औचक निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि सब्जी मण्डी, गंज बाजार एवं लोअर बाजार, सोलन में करियाना दुकानों तथा सब्जी विक्रेताओं की प्रतिबंधित प्लास्टिक के लिफाफों के संबंध में जांच की गई।
उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान 4 दुकानदार प्रतिबंधित प्लास्टिक लिफाफों का प्रयोग करते पाए गए और उनकी दुकानों में रखा प्रतिबंधित प्लास्टिक का स्टॉक जब्त किया गया। दुकानदारों से जुर्माने के रूप में 7500 रुपए वसूले गए।
उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने प्लास्टिक लिफाफों के प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया है। यह प्रतिबंध उन व्यापारियों पर भी लागू होता है जिन्होंने विभिन्न खाद्य पदार्थ पैक करने के लिए माप तोल विभाग से लाईंसस ले रखा है। उन्होंने सभी व्यापारियों से आग्रह किया कि वे किसी भी रुप में छोटे या बडे प्रतिबंधित प्लास्टिक लिफाफों का प्रयोग न करें और न ही इन्हें अपनी दुकान में रखे।
मिलाप शांडिल ने बताया कि यदि कोई व्यापारी प्रतिबंधित प्लास्टिक लिफाफों का प्रयोग करता पाया जाएगा तो उसके विरूद्ध नियमानुसार कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। औचक निरीक्षण के समय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के निरीक्षक अरुण कुमार तथा धर्मेश शर्मा भी मौजूद रहे।
==================================================
सोलन दिनांक 19.08.2019
ग्राम पंचायत छावशा व वाकना में दी सरकार की कल्याणाकरी योजनाओं की जानकारी

आम लोगों तक प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी पहुंचाने के लिए सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा समय-समय पर सघन प्रचार कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इसी कड़ी में आज से सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के राज्य नाट्य दल के कलाकारों ने सोलन जिला से दस दिवसीय प्रसार एवं प्रचार कार्यक्रम आरंभ किया। यह जानकारी आज यहां एक सरकारी प्रवक्ता ने दी।

उन्होंने कहा कि विभागीय कलाकारों द्वारा कंडाघाट विकास खंड की ग्राम पंचायत छावशा तथा वाकना से गीत-संगीत तथा नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से प्रचार-प्रसार आरंभ किया गया। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य जहां आमजन को प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी नीतियों एवं कार्यक्रमों के बारे में जानकारी देना है वहीं उन्हें यह बताना भी है कि योजनाओं से लाभान्वित कैसे हुआ जाए।
नाट्य दल के कलाकारों सुनील कुमार, रमेश चंद्र, नीतिन तोमर, राजेश कुमार, रेखा, निशा बाला, गीता ने नुक्कड़ नाटक ‘शहर से गांव की ओर’ के अंतर्गत सामाजिक सुरक्षा पैंशन की जानकारी प्रदान की। लोगों को बताया गया कि प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार ने सत्ता में आते ही जहां सामाजिक सुरक्षा पैंशन को बढ़ाकर 750 रूपये प्रति माह किया था वहीं इस वर्ष इसे बढ़ाकर 850 रूपये प्रतिमाह कर दिया गया है। लोगों को जानकार दी गई कि अब प्रदेश के 70 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के वरिष्ठ नागरिक सामाजिक सुरक्षा पैंशन पाने के हकदार हैं। इस वर्ष से वरिष्ठ नागरिकों को सामाजिक सुरक्षा पैंशन के रूप में प्रतिमाह 1500 रुपए प्रदान किए जा रहे हैं।
समूह गान प्रगति की बंध गई नई डोर, हिमाचल प्रगति की ओर के माध्यम से कलाकारों ने उपस्थित जनसमूह को हिमकेयर, जल संरक्षण, मुख्यमंत्री युवा स्वावलंबन योजना, स्वच्छता अभियान, सामाजिक सुरक्षा पैंशन योजनाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर ग्राम पंचायत छावशा की प्रधान अंजू देवी, वार्ड सदस्य ज्योति, राम प्रकाश, सहायक सचिव नीता देवी, ग्राम पंचायत वाकना के प्रधान भगत सिंह, उपप्रधान लीला दत शर्मा, सहायक सचिव अनीता सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।
=========================================
सोलन दिनांक 19.08.2019
प्रभावी आपदा जोखिम न्यूनीकरण एवं त्वरित कार्यवाही पर कार्यशाला आयोजित

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और सोलन जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संयुक्त तत्वाधान में आज यहां प्रभावी आपदा जोखिम न्यूनीकरण एवं त्वरित कार्यवाही के उद्देश्य से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता उपायुक्त सोलन केसी चमन ने की।
कार्यशाला का संचालन आपदा प्रबंधन विशेषज्ञ नवनीत यादव व क्षमता वृद्धि समन्वयक अनीता ठाकुर ने किया।
उपायुक्त ने कहा कि प्राकृतिक आपदा को टाला नहीं जा सकता लेकिन बेहतर प्रबंधन एवं पूर्ण तैयारियों से इससे होने वाले नुकसान को काफी हद तक कम किया जा सकता है। उन्होंने आपदा प्रबंधन को लेकर लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा जन संचार के विभिन्न माध्यमों का उपयोग कर लोगों को आपदा की स्थिति में बेहतर तरीके से निपटने के बारे में बताया जा रहा है साथ ही विभिन्न शिक्षण संस्थानों एवं अन्य जगहों पर मॉकड्रिल एवं प्रशिक्षण शिविर आयोजित कर लोगों को शिक्षित किया जा रहा है।
उन्होंने गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे धरातल पर लोगों को कचरा प्रबंधन पर जागरूक करें ताकि बरसात के मौसम में वर्षा जल एकत्र न हो और नालियों के बंद होने के कारण होने वाले भूक्षरण को कम किया जा सके।
उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं से सम्बन्धित जानकारी अथवा सूचना कोई भी व्यक्ति उपायुक्त कार्यालय में स्थापित टोल फ्री नम्बर 1077 पर दे सकता है।
इस कार्यशाला में जिले की 9 गैर सरकारी व 4 सरकारी संस्थाओं ने भाग लिया।
कार्यशाला में सोलन जिला इंटर एजेंसी ग्रुप का गठन किया गया जिसमें ‘अर्थ जस्ट इको सिस्टम संस्था’ के अभिषेक तनेजा को इंटर एजेंसी ग्रुप का संयोजक बनाया गया। यह इंटर एजेंसी ग्रुप जिले में बेहतर आपदा प्रबंधन के लिए जिला प्रशासन व अन्य विभागों के साथ बेहतर तालमेल स्थापित करेगा। इस कार्यशाला का मुख्य उदेश्य आपदा के समय व आपदा पूर्व की जाने वाली तैयारियों के संबंध में अवगत करवाया गया ताकि प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति में होने वाले नुकसान को कम किया जा सके।
कार्यशाला मे पूर्व में घटित विभिन्न आपदाओं के प्रबंधन की जानकारी प्रस्तुतिकरण के माध्यम से प्रदान की गई।
इस अवसर पर भारतीय प्रशासनिक सेवा की परीविक्षाधीन अधिकारी डॉ. निधि पटेल, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल, उपमंडलाधिकारी कंडाघाट डॉ. संजीव धीमान, सहायक आयुक्त भानु गुप्ता, आदेशक गृह रक्षा विभाग हरिस्वरूप शर्मा सहित विभिन्न सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थाओं के सदस्य उपस्थित थे। .0.
.0.

.