सोलन -दिनांक 21.10.2019-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन द्वारा आज एमआरए डीएवी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सोलन में विश्व ऑयोडीन अल्पता विकार दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जन शिक्षा एवं सूचना अधिकारी शारदा सारस्वत ने की।
शारदा सारस्वत ने इस अवसर पर कहा कि ऑयोडीन की कमी से शारीरिक व मानसिक विकार उत्पन्न होते हैं। आयोडीन की कमी से गिल्लड़, बच्चों में पढ़ने व सीखने की क्षमता में कमी आती है तथा बच्चों का आई. क्यू. स्तर 13.5 प्वाइंट कम हो जाता है। उन्होंने कहा कि ऑयोडीन की कमी को दूर करने के लिए आयोडीन युक्त नमक का उपयोग करें। ऑयोडीन प्राकृतिक रूप से भोजन, सब्जी, पानी, दूध में पाया जाता है।
उन्होंने कहा कि नमक को बंद डिब्बे में रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि खाना पकने पर ही नमक डालना चाहिए। ऐसा न करने पर हमें प्रचुर मात्रा में ऑयोडीन नहीं मिल पाता। उन्होंने कहा कि नमक को सीलन से बचाना चाहिए, धूप में नहीं रखना चाहिए तथा नमक को उत्पादन तिथि से छह माह के भीतर प्रयोग कर लेना चाहिए।
एमआरए डीएवी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सोलन की प्रधानाचार्य मासूमा सिंघा ने इस अवसर पर छात्रों को ऑयोडीन एवं ऑयोडीन नमक के विषय में रोचक जानकारियां प्रदान की।
इस अवसर पर भाषण, नारा लेखन तथा चित्रकला प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। भाषण प्रतियोगिता में कनक प्रथम, तनीषा द्वितीय तथा विभूति तृतीय स्थान पर रही। चित्रकला प्रतियोगिता में आदित्य प्रथम, अरूधंती द्वितीय तथा मोनाल तृतीय स्थान पर रही।
इस अवसर पर स्वास्थ्य शिक्षक मीना चौहान, बीसीसी राधा चौहान ने भी अपने विचार व्यक्त किए।