Chandigarh,06.12.19-रेहड़ी-फड़ी मजदूर यूनियन, चण्डीगढ़, के चेयरमैन शशिशंकर तिवारी ने शहर में वेंडर्स के साथ हुई धक्केशाही को लेकर कहा कि भाजपा के राज में आज हज़ारों घरों में चूल्हा नहीं जला। उन्होंने कहा कि वह अदालत का सम्मान करते हैं परन्तु इन गरीबों को भी न्याय दिलाना भाजपा शासित नगर प्रशासन व नगर निगम की जिम्मेदारी थी। तिवारी ने कहा कि जो भाजपा नेता कल तक गरीबों के मसीहा बनते थे वो आज सभी मुंह बंद करके घरों में छिपे बैठें है। उन्होंने कहा कि वेंडर्स को खदेड़ने से जहां एक तरफ इन वेंडर्स को दरबदर होना पड़ा है, वहीँ जो आम दिहाड़ीदार मजदूर भी थक-हार कर शाम को घर लौट कर वहीँ समीप ही स्थित रेहड़ियों से सब्जी-भाजी खरीद लेते थे, अब उन्हें दूर तक दौड़ लगानी पड़ेगी।

तिवारी ने मांग की है कि अदालत की भावना का सम्मान करते हुए रोड साइड रेहड़ी-फड़ी वालों के लिए ऐसा सिस्टम बनाया जाये कि उनकी रोजी रोटी भी चलती रहे, ट्रैफिक भी सुचारु रहे व आम जनता भी परेशान न हो। उन्होंने सर्वे में बच गए वेंडर्स को भी शामिल करने की भी मांग की। इसके अलावा जो कॉलोनी नं. 4 से पुनर्वास होकर मलोया में गए हैं, उन्हें पास ही जगह दी जाये, नाकि आईटी पार्क में। साथ ही मौलीजागरां विकासनगर व मौली काम्प्लेक्स आदि में शाम को लगने वाली सब्जी मंडी को भी वहीँ रहने दिया जाये। यूनियन के सदस्यों राहुल कुमार, विजय यादव, केदारनाथ, त्रिगुण पासवान, महिला नेता बबली, कामता प्रसाद, रहीस अहमद अरुण सिंह, भोला, सतबीर राठौर, मीणा देवी आदि ने भी इन मांगों का समर्थन किया व मलोया में जोरदार प्रदर्शन किया।