सोलन-दिनांक 06.12.2019

पैरागॉन होटल से मिनी सचिवालय तक वन वे मार्ग की समय सारिणी में संशोधन
जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने सोलन शहर में सुचारू यातायात व्यवस्था के लिए 13 नवम्बर, 2019 को किए गए आदेशों में आंशिक संशोधन किया है।
संशोधित आदेशों के अनुसार अब सोलन शहर में पैरागॉन होटल से मिनी सचिवालय तक यातायात प्रातः 09.30 बजे से सांय 07.00 बजे तक वन वे रहेगा। यह आदेश 06 दिसम्बर, 2019 से 29 फरवरी, 2020 तक प्रभावी रहेंगे। दोपहिया वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
एम्बुलैंस, अग्निशमन वाहन तथा कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रयुक्त वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
इस सम्बन्ध में 13 नवम्बर, 2019 को जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी किए गए आदेशों की शेष शर्तेें यथावत रहेंगी।
यह संशोधन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन की रिर्पोट के अनुरूप किया गया है। आदेश मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 एवं 117, सड़क नियमन के नियम 15 एवं 17 तथा हिमाचल प्रदेश मोटर वाहन अधिनियम, 1999 की धारा 184 एवं 196 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयाग करते हुए जारी किए गए हैं।

============================================

सोलन -दिनांक 06.12.2019

शिल्ली रोड से दुर्गा क्लब तक वन वे मार्ग की समय सारिणी में संशोधन
सोलन के शिल्ली रोड से दुर्गा क्लब तक के मार्ग की वन वे समयसारिणी में आंशिक संशोधन किया गया है। इस संबंध में जिला दंडाधिकारी सोलन केसी चमन द्वारा आदेश जारी कर दिए गए हैं।
संशोेधित आदेशों के अनुसार अब दुर्गा क्लब सोलन से शिल्ली रोड सोलन तक मार्ग सांय 5.30 बजे से सांय 07.15 बजे तक वन वे रहेगा। दोपहिया वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
यह निर्णय यातायात सुचारू बनाए रखने के दृष्टिगत लिया गया है।
एम्बुलैंस, अग्निशमन वाहन तथा कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रयुक्त वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
इस सम्बन्ध में 13 नवम्बर, 2019 को जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी किए गए आदेशों की शेष शर्तेें यथावत रहेंगी।
यह संशोधन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन की रिर्पोट के अनुरूप किया गया है। आदेश मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 एवं 117, सड़क नियमन के नियम 15 एवं 17 तथा हिमाचल प्रदेश मोटर वाहन अधिनियम, 1999 की धारा 184 एवं 196 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयाग करते हुए जारी किए गए हैं।

========================================

सोलन-दिनांक 06.12.2019
एक्सपोर्ट चौंक से एलेम्बिक चाैंक, झाड़माजरी मार्ग ‘नो पार्किंग जोन’ घोषित

जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने सोलन जिला के नालागढ़ उपमण्डल में एक्सपोर्ट चौंक से एलेम्बिक चाैंक, झाड़माजरी मार्ग को तत्काल प्रभाव से ‘नो पार्किंग जोन’ घोषित कर दिया है।
यह निर्णय यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के दृष्टिगत लिया गया है।
एम्बुलैंस, अग्निशमन वाहन तथा कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रयुक्त वाहनों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
यह आदेश मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 एवं 117, सड़क नियमन के नियम 15 एवं 17 तथा हिमाचल प्रदेश मोटर वाहन अधिनियम, 1999 की धारा 184 एवं 196 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयाग करते हुए जारी किए गए हैं।

======================================

SOLAN, दिनांक 06.12.2019
सोलन जिला का 16वां जनमंच अर्की विधानसभा क्षेत्र के भूमती में
20 दिसम्बर तक प्राप्त आवेदनों पर ही होगा विचार

सोलन जिला का 16वां जनमंच 22 दिसम्बर, 2019 को अर्की विधानसभा क्षेत्र में आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी उपायुक्त सोलन के.सी. चमन ने दी।
उन्होंने कहा कि जिला के 16वें जनमंच की अध्यक्षता प्रदेश की शहरी विकास, नगर नियोजन एवं आवास मंत्री सरवीण चौधरी करेंगी। यह जनमंच अर्की विधानसभा क्षेत्र के भूमती स्थित राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित किया जाएगा। जनमंच प्रातः 10.00 बजे आरम्भ होगा।
के.सी. चमन ने कहा कि इस जनमंच में कुनिहार विकास खण्ड की ग्राम पंचायत भूमती, सरली, शहरोल, बसन्तपुर, बड़ोग, बखालग, सूरजपुर, सरयांज तथा बातल की समस्याओं पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि इस जनमंच में पूर्व जनमंच गतिविधियों के अन्तर्गत प्राप्त तथा 20 दिसम्बर, 2019 तक प्राप्त शिकायत एवं समस्या आवेदनों पर ही विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनमंच दिवस अर्थात 22 दिसम्बर, 2019 कोे प्राप्त आवेदनों पर जनमंच में विचार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोग 20 दिसम्बर तक अपने शिकायत आवेदन उपमण्डलाधिकारी अर्की तथा विकास खण्ड अधिकारी कुनिहार के कार्यालय में दे सकते हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि शिकायत पर अपना मोबाईल नम्बर एंव पता अवश्य लिखें।
उन्होंने सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूर्व जनमंच गतिविधियां आरम्भ की जाएं ताकि चिन्हित ग्राम पंचायतों में जन-जन को विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान करने के साथ-साथ जनमंच के बारे में भी अवगत करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि पूर्व जनमंच गतिविधियों के अन्तर्गत विभिन्न विभाग चिन्हित ग्राम पंचायतों में जागरूकता शिविर इत्यादि आयोजित करना सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने कहा कि इन ग्राम पंचायतों में विभिन्न निर्माणाधीन एवं कार्यान्वित की जा रही योजनाओं का निरीक्षण कर विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।
के.सी. चमन ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूर्व जनमंच गतिविधियों के तहत लोगों को शीघ्र शिकायत आवेदन देने के लिए प्रेरित किया जाए। उन्हें बताया जाए कि जनमंच में 20 दिसम्बर के उपरान्त प्राप्त आवेदनों पर विचार नही किया जाएगा।
उन्होंने सभी विभागों को जनमंच के सम्बन्ध में विस्तृत दिशा-निर्देश भी जारी किए।
उपायुक्त ने कहा कि जनमंच कार्यक्रम में महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री गृहणी सुविधा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, सामाजिक सुरक्षा पैंशन, जन धन योजना, बेटी है अनमोल योजना, डिजिटल राशन कार्ड, टीकाकरण इत्यादि विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। लोगों को न केवल इन कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी अपितु पात्र व्यक्तियों तक इन योजनाओं के लाभ भी पहुंचाएं जाएंगे।
उन्होंने कहा कि जन मंच में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आयुर्वेद विभाग तथा पशु चिकित्सा विभाग द्वारा निःशुल्क जांच एवं दवा वितरण शिविर भी आयोजित किए जाएंगे। जन मंच में हिमाचली प्रमाण पत्र, अनुसूचित जाति, जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, विभिन्न राजस्व प्रमाण पत्र, मृदा स्वास्थ्य कार्ड इत्यादि भी जारी किए जाएंगे। कार्यक्रम में सामाजिक सुरक्षा पैंशन, विधिक सहायता, पूर्व सैनिकों को सहायता से संबंधित कागज़ी कार्यवाही भी पूरी की जाएगी।
==============================================

सोलन-दिनांक 06.12.2019
रावमापा बरूणा के छात्रों को बताए अग्नि सुरक्षा के उपाय

सोलन जिला के नालागढ़ उपमंडल की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (रावमापा) बरूणा में सुरक्षा विषय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक भ्रमण करवाया गया। इस शैक्षणिक भ्रमण का शुभारम्भ विद्यालय के प्रधानाचार्य दयाल सिंह ने किया।
भ्रमण के दौरान विद्यार्थियों ने अग्नि से सुरक्षा करने के विभिन्न उपायों की जानकारी प्राप्त की। अग्निशमन विभाग नालागढ़ के अधिकारी पीएस कौंडल ने विद्यार्थियों को आग के प्रकार व इससे बचाव के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की।
छात्रों को बताया गया कि अग्नि चार प्रकार की होती है। ईधन, तेल, गैस और धातु से जनित अग्नि को बुझाने की तकनीक छात्रों को बताई गई। छात्रों को अग्निशमन यन्त्रों के प्रयोग के बारे में भी विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।
छात्रों को अग्निशमन वाहन के बारे में जानकारी प्रदान की गई तथा इस वाहन में लगे सभी यन्त्रांे की कार्यप्रणाली से भी छात्रों को अवगत करवाया गया।
इस अवसर पर सुरक्षा अध्यापक सुनील कुमार, सत्या देवी, दिनेश कुमार राघव मक्खन सिंह सहित बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित थे।
========================================

SOLAN, दिनांक 06.12.2019
सोलन पुलिस व सेबी के सौजन्य से वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन

सोलन पुलिस तथा भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के संयुक्त तत्वावधान में आज पुलिस लाईन्स के सभागार में एक दिवसीय वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर की अध्यक्षता वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा ने की।
मधुसूदन शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि इस तरह के शिविरों के आयोजन का मुख्य उद्देश्य आम जनता के बीच वित्तीय धोखाधड़ी, ऑनलाइन धोखाधड़ी, एटीएम के उपयोग और इंटरनेट बैंकिंग के उपयोग के बारे में जागरूकता पैदा करना है। उन्होंने शिविर में आए अधिकारियों एवं कर्मचारियों से आह्वान किया कि किसी भी प्रकार के ऑनलाइन वित्तीय लेनदेन के बारे में स्वयं भी जागरूक रहें तथा अपने आस-पड़ोस भी इसके बारे में जागरूकता फैलाएं।
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कहा कि कभी भी अपना ‘वन टाइम पासवर्ड; (ओटीपी) किसी से सांझा न करें तथा किसी भी प्रकार की लॉटरी के झांसे में आने से बचें। उन्होंने कहा कि बैंक द्वारा कभी भी उपभोक्ताओं से किसी भी प्रकार की गोपनीय जानकारी नहीं ली जाती है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की जानकारी लेने वालों के नंबर तुरंत पुलिस को दें ताकि उन पर कार्रवाई की जा सके।
सेबी के प्रतिनिधि अशोक कुमार ने जानकारी दी कि सेबी का प्रमुख उद्देश्य भारतीय स्टॉक निवेशकों के हितों को उत्तम संरक्षण प्रदान और प्रतिभूति बाजार के विकास तथा नियमन को प्रवर्तित करना है। इस अवसर पर उन्होंने सुरक्षित निवेश व वित्तीय नियोजन के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने बैंक, पोस्ट ऑफिस, म्यूचुअल फंड, जीवन बीमा सहित इनसे जुड़ी निवेश प्रक्रिया बारे विस्तार से जानकारी प्रदान की।
उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के ऑनलाइन लेनदेन के समय ओटीपी नंबर आता है जिसमें लेनदेन के संदर्भ में पूरा विवरण प्रस्तुत होता है। उन्होंने उपभोक्ताआंे से आग्रह किया कि ऑनलाइन लेनदेन के समय पूरी एकाग्रता से कार्य करें तथा ओटीपी नंबर किसी को भी न दें। उन्होंने कहा कि डेबिट व क्रेडिट कार्ड के पीछे मुद्रित सीवीवी नंबर को गोपनीय रखें ताकि एटीएम कार्ड की गुम होने की स्थिति में इसका दुरूपयोग न हो सके।
इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार ने शिविर में आए लोगों का स्वागत किया तथा शिविर के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर व्यापार मंडल सोलन के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, सेवानिवृत पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कंवर, उप पुलिस अधीक्षक सोलन रमेश शर्मा, उप पुलिस अधीक्षक परवाणू योगेश रोल्टा, विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा पुलिस विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
===========================================

सोलन-दिनांक 06.12.2019
नशे पर अंकुश के लिए नारी शक्ति की अहम भूमिका-मधुसूदन शर्मा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा ने कहा कि देवभूमि हिमाचल को नशे जैसी दुष्प्रविति से बचाने के लिए सामूहिक प्रयास करने होंगे तथा आम जन को भी इस मुहिम में पुलिस को सहयोग प्रदान करना होगा। मधुसूदन शर्मा आज पुलिस लाईन्स सोलन में जिलस पुलिस तथा भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के संयुक्त तत्वावधान आयोजित वित्तीय साक्षरता शिविर के अवसर पर उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे।
मधुसूदन शर्मा ने समाज के सभी वर्गों से आग्रह किया है कि युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए पारिवारिक वातावरण का बहुत बड़ा योगदान रहता है। अभिभावक अपने बच्चों की हर गतिविधि पर नजर रखें तथा नशे से दूर रखने के लिए समय-समय पर संवाद स्थापित करें।
उन्होंने समाज को नशामुक्त बनाने के लिए नारी अहम भूमिका निभा सकती है। महिलाएं बच्चों के भावनात्मक विकास में सहायक होती हैं। यदि माताएं अपने बच्चों की हर गतिविधि पर नजर रखें तो युवा पीढ़ी को नशे की गर्त में जाने से बचाया जा सकता है। उन्होंने आमजन से आग्रह किया कि नशे के कारोबारियों की सूचना तुरंत पुलिस को दें ताकि इस तरह के समाज विरोधी तत्वों को समय रहते कड़ी सजा मिल सके।
मधुसूदन शर्मा ने कहा कि सामाजिक नागरिक होने के नाते हमारा कर्तव्य है कि हम स्वयं भी नशे से बचें और आम नागरिकों को भी नशे जैसी कुरीतियों के बारे में अवगत करवाएं। उन्होंने कहा कि सोलन जिला में एक वर्ष में 135 नशे के कारोबारियांे को पकड़ा गया है तथा इनके विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि नशे के कारोबारी की सूचना मिलते ही कोई भी व्यक्ति सीधे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में संपर्क कर सकता है।
उन्होंने कहा कि नशे के तीन प्रकार है ओरल, इनहेलिंग तथा इंजैक्शन। नशे का अंतिम लक्ष्य दिमाग तक पहुंचना होता है। मनुष्य जब इसका सेवन कर लेता है तो धीरे-धीरे इसका इसका आदि हो जाता है। आदि होने के उपरांत नशे से पीडि़त व्यक्ति बार-बार नशा मांगता है और अंत में नशा व्यक्ति की मौत का कारण बन जाता है।
उन्होंने कहा कि कहा कि नशा न केवल व्यक्ति को शारीरिक व मानसिक रूप से अक्षम बनाता है अपितु इस दुष्प्रवृति में संलिप्त व्यक्तियों के परिवार भी नष्ट हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि नशे से पीडि़त व्यक्ति किसी भी प्रकार से राष्ट्र का भला नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि अक्सर व्यक्ति मानसिक परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए नशा लेना आरंभ करता है और समय के साथ उसे पता ही नहीं चलता कि कब वह नशे का आदि हो गया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नशा उन्मूलन के लिए चलाया गया यह अभियान सराहनीय कार्य है। उन्होंने उपस्थित लोगांे से आग्रह किया कि निःसंकोच नशामुक्ति केंद्र में जाएं तथा नशे की दुष्प्रवृति से स्वयं को बचाएं।
इस अवसर पर व्यापार मंडल सोलन के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, सेवानिवृत पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कंवर, उप पुलिस अधीक्षक सोलन रमेश शर्मा, उप पुलिस अधीक्षक परवाणू योगेश रोल्टा, विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा पुलिस विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

====================================

सोलन-दिनांक 06.12.2019
जनहित के कार्यों को प्राथमिकता से निपटाएं राजस्व अधिकारी-प्रशांत देष्टा

उपमंडलाधिकारी नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने आज नालागढ़ में राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता की।
प्रशांत देष्टा ने उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्व विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी ग्रामीण क्षेत्रों में अपने विभागीय कार्यों के अतिरिक्त जनहित से जुड़े हुए कार्यों को प्राथमिकता से निपटाऐं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जन मंच तथा मुख्यमंत्री सेवा संकल्प योजना जैसी महत्वपूर्ण योजनाओं के माध्यम से लोगों की समस्याओं को उनके घर द्वार पर ही हल करने के लिए प्रयासरत है। इसलिए राजस्व विभाग के कर्मचारी वृद्धों, महिलाओं तथा गरीब व्यक्तियों के कार्य करते समय विनम्र तथा आदरपूर्वक रवैया अपनाएं।
उन्होंने उपमंडल स्तर पर गठित रेडक्रॉस समिति गरीब व असहाय की मदद के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे रेडक्रॉस के पात्र लाभार्थियों के आवेदन प्राथमिकता के आधार पर उपमंडल स्तरीय रेडक्रॉस समिति को भेजें ताकि सही समय पर असहाय की मदद की जा सके। उन्होंने कहा कि रेडक्रॉस के माध्यम से दिव्यांगजनों को व्हील चेयर के अतिरिक्त अन्य सहायक उपकरण भी दिए जाते हैं।
बैठक में उपमंडलाधिकाारी ने तक्सीम प्रकरण, चकोता प्रकरण, भूमि स्थानांतरण, आपदा राहत, दाखिला, जमाबंदी तथा भूमिहीनों को आवास निर्माण के लिए भूमि देने से संबंधित विभिन्न मदों के बारे में विस्तृत चर्चा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
बैठक में भारतीय प्रशासनिक सेवा की परीविक्षाधीन अधिकारी डॉ. निधि पटेल, तहसीलदार बद्दी ऋषभ शर्मा, तहसीलदार नालागढ़ बिमला वर्मा तहसीलदार रामशहर, नायब तहसीलदार, कानूनगो तथा राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
.============================================

सोलन-दिनांक 06.12.2019
स्वास्थ्य विभाग ने 241 प्रतिभागियों को नशे के विरूद्ध किया जागरूक

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन द्वारा आज नशा निवारण अभियान के अंतर्गत जिला के विभिन्न स्थानांे पर नशे के विरूद्ध जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए। इन जागरूकता कार्यक्रमों में 241 छात्रों एवं अन्य को नशे के दुष्प्रभावों की जानकारी प्रदान की गई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने दी।
सोलन के कथेड़ स्थित अनाथ आश्रम में 13, चिकित्सा खंड चंडी के अंतर्गत बीएड कॉलेज चंडी में 80 चिकित्सा खंड अर्की के तहत राजकीय उच्च विद्यालय बड़ोग में 84 तथा चिकित्सा खंड नालागढ़ के तहत राजकीय उच्च विद्यालय बायला में 64, प्रतिभागियों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में छात्रों एवं अन्य को अवगत करवाया गया।
उन्होंने कहा कि इन जागरूकता कार्यक्रमों में छात्रों को नशे से होने वाले विभिन्न रोगों की जानकारी दी। छात्रों को बताया गया कि नशे पर अंकुश लगाने के लिए पहले उन्हें स्वयं नशे का न कहना सीखना होगा।
प्रवक्ता ने कहा कि जागरूकता कार्यक्रमों में छात्रों को नशे के विरूद्ध शपथ भी दिलाई गई।
उन्होंने कहा कि नशा निवारण अभियान के अंतर्गत क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में विशेष ओपीडी लगाई गई। इस ओपीडी में 24 रोगियों की जांच की गई।

=============================================

सोलन -दिनांक 06.12.2019
सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर उदारता से दान देने की अपील

उपनिदेशक सैनिक कल्याण कार्यालय सोलन ने 07 दिसम्बर, 2019 को मनाए जाने वाले सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर पर सशस्त्र बलों के कल्याण के लिए जिला के सभी नागरिकों से उदारता से दान देने की अपील की है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की भौगोलिक व जलवायु स्थितियों के मद्देनजर सशस्त्र झंडा दिवस 07 दिसम्बर, 2019 से 31 मार्च 2020 तक आयोजित किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर दान देने के लिए विद्यार्थियों को 5 रूपये प्रति स्टीकर जबकि अन्य को 10 रुपये प्रति स्टीकर निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि दान की राशि जिला सैनिक कल्याण अधिकारी, सोलन के पक्ष में बैंक ड्राफ्ट या नकद के रूप में भेजी जा सकती है।
उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक रात-दिन हमारे राष्ट्र की सेवा करते हैं। हमारे सैन्य बल देश की सीमाओं पर हमेशा तत्पर रहे हैं और देशभक्ति की भावना के साथ हर फर्ज पूरा कर रहे हैं।
उन्होंने इस मौके पर आमजन से उदारता से दान देने की अपील की है।
.=================================

स्वच्छता ही सेवा पर जागरूकता शिविर का आयोजन
धर्मशाला 06 दिसम्बर: फील्ड आउटरीच ब्यूरो हमीरपुर प्रभारी सुरजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मन्त्रालय के फील्ड आउटरीच ब्यूरो हमीरपुर द्वारा आज सरकारी आई0टी0आई धर्मशाला में स्वच्छता ही सेवा पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस जागरूकता शिविर का आयोजन आई0टी0आई0 प्रशासन के सहयोग से किया गया।
इस जागरूकता शिविर की अध्यक्ष्ता मनीश कुमार राणा, प्रधानाचार्य आई0टी0आई धर्मशाला ने की। उन्होंने उपस्थित छात्र छात्राओं से अग्रह किया है कि वे भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान का अंग बन भारत को स्वच्छ बनाने में अपना सहयोग दे।
इस दौरान आईटीआई के छात्र अरूण ने उपस्थित छात्र छात्राओं को स्वच्छता के वारे में बताया। उन्होंने बताया कि हमें अपने आस-पास साफ सुथरा रखना चाहिए तथा हमें गन्दगी नही फैलानी चाहिये। उन्होंने कहा कि गंदगी से कई बीमारियां पनपती हैं और हम बीमार हो सकते हैं।
राकेश शर्मा ने प्लास्टिक प्रबंधन के बारे में बताया कि एक बार प्रयोग होने वाली प्लस्टिक का प्रयोग हमें कम से कम करना चाहिये। उन्होंने कहा कि पलास्टिक पर्यावरण के लिए हानिकारक है। अंकुर वालिया व शिव शंकर ने जल बचाओ के वारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होने कहा कि यदि जल है तो कल है तभी मानव जीवन संभव है। इसी दौरान स्वच्छता पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता भी करवाई गई। जिसमें प्रथम पुष्पलता, द्वितीय अर्चित तथा गोल्डी ने तृतीय स्थान हासिल किया।