सोलन-दिनांक 11.12.2019

नशाखोरी केे विरूद्ध सोलन पुलिस की लाॅन टैनिस प्रतियोगिता संकल्प 13 दिसम्बर से

प्रदेश में 15 दिसम्बर, 2019 तक नशाखोरी के विरूद्ध कार्यान्वित किए जा रहे विशेष अभियान के तहत जिला पुलिस सोलन द्वारा लाॅन टैनिस प्रतियोगिता ‘संकल्प’ का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी आज यहां वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा ने दी।
मधुसूदन शर्मा ने कहा कि यह प्रतियोगिता 13 दिसम्बर, 2019 से 15 दिसम्बर, 2019 तक पुलिस लाईन सोलन में आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस लाॅन टैनिस प्रतियोगिता में इच्छुक खिलाड़ी 03 श्रेणियों में भाग ले सकेंगे।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि प्रतियोगिता की प्रथम श्रेणी में 30 वर्ष से कम आयु के खिलाड़ी तथा द्वितीय श्रेणी में 30 वर्ष से अधिक आयु के खिलाड़ी एकल प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता की तृतीय श्रेणी में सभी आयु वर्ग के खिलाड़ी युगल प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं।
मधुसूदन शर्मा ने कहा कि संकल्प प्रतियोगिता की प्रत्येक श्रेणी में विजयी रहने वाले खिलाड़ियों को पुरस्कार भी प्रदान किए जाएंगे। प्रत्येक श्रेणी में पहले पुरस्कार के रूप में 5100 रुपए तथा दूसरे पुरस्कार के रूप में 3100 रुपए प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए 500 रुपए प्रवेश शुल्क निर्धारित किया गया है।
उन्होंने कहा कि इच्छुक खिलाड़ियों को अपना प्रवेश शुल्क 12 दिसम्बर, 2019 तक पुलिस लाईन सोलन में जमा करवाना होगा। प्रवेश शुल्क मानद मुख्य आरक्षी हेमन्त कुमार, प्रभारी टैनिस के पास जमा करवाया जा सकता है। इस सम्बन्ध में जानकारी मानद मुख्य आरक्षी हेमन्त कुमार से मोबाईल नम्बर 98165-15689 से प्राप्त की जा सकती है।
=============================================

सोलन-दिनांक 11.12.2019
जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं समीक्षा समिति की बैठक 13 दिसम्बर को

महत्वाकांक्षी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत गठित जिला कार्यबल सहित समेकित बाल विकास परियोजना, साक्षी महिला योजना, महिला सशक्तिकरण एवं महिला सुरक्षा तथा पोषण के लिए गठित जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं समीक्षा समिति की बैठक 13 दिसम्बर, 2019 को आयोजित की जाएगी। यह जानकारी आज यहां जिला कार्यक्रम अधिकारी वन्दना चैहान ने दी।
उन्होंने कहा कि यह बैठक 13 दिसम्बर, 2019 को उपायुक्त कार्यालय सोलन में प्रातः 11.00 बजे आयोजित की जाएगी। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त सोलन के.सी. चमन करेंगे।

=====================================================

सोलन-दिनांक 11.12.2019

सुरक्षित भविष्य, सुरक्षित परिवार के लिए नशे से दूर रहना आवश्यक
492 युवाओं को नशा निवारण अभियान के तहत किया गया जागरूक

देश एवं प्रदेश के सुरक्षित भविष्य तथा अपने परिवार के लिए युवाओं का नशे से दूर रहना आवश्यक है। यह जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा सोलन जिला के विभिन्न स्थानों पर नशा निवारण अभियान के तहत प्रदान की गई।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिभागियों को बताया गया कि विभिन्न प्रकार के नशे केवल हमंे भ्रमित करते हैं और इनके सेवन से हमारा शरीर खोखला हो जाता है। नशे का आदी व्यक्ति नशे के लिए अपराध करता है तथा इस प्रकार अपने और अपने परिवार के लिए समस्याएं उत्पन्न कर देता है। प्रतिभागियों का जानकारी दी गई कि नशे का सेवन बार-बार व्यक्ति को नशा करने के लिए उकसाता है।
नशा निवारण शिविरों में युवाओं को बताया गया कि नशे से दूर रहने के लिए सर्वप्रथम उन्हें नशे को न कहना सीखना होगा। यदि युवा यह प्रतिज्ञा कर लें कि वे स्वंय भी नशे से दूर रहेंगे और अपने साथियों को भी नशे से दूर रखेंगे तो समाज से नशे का खात्मा किया जा सकता है।
प्रतिभागियों को नशे के कारण होने वाली विभिन्न बीमारियों की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। नशे के दुष्प्रभावों से पीड़ित के व्यवहार में होने वाले बदलाव से भी अवगत करवाया गया। युवाओं को बताया गया कि कुछ नशे इतने खतरनाक हैं कि उनकी मात्र तीन खुराक लेने के बाद व्यक्ति सदा के लिए नशे का आदि हो जाता है। सभी को अवगत करवाया गया कि नशा उन्मूलन के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं लेकिन कोई भी प्रयास जन सहभागिता के बिना अधूरा है। सभी से आग्रह किया गया कि नशे के नाश के लिए एकजुट होकर कार्य करें।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जिला के विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा शैक्षणिक संस्थानों में 492 प्रतिभागियों एवं छात्रों को नशे से होने वाली हानियों के बारे में अवगत करवाया गया। चिकित्सा खंड चंडी के अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्र खरोटा में 45, आंगनबाड़ी केंद्र दाउंटा में 20, आंगनबाड़ी केंद्र नया नगर में 30, चिकित्सा खंड सायरी के गांव कुम्हाला में 15, जीईटीएस कहलोग एनजीओ में 120, चिकित्सा खंड नालागढ़ के आंगनबाड़ी केंद्र घट रतवाड़ी में 30, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला राजपुरा में 150, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बारियां में 50, चिकित्सा खंड अर्की की राजकीय माध्यमिक पाठशाला रौड़ी में 52, चिकित्सा खंड धर्मपुर के आंगनबाड़ी केंद्र दियोठी में 50, आंगनबाड़ी केंद्र जोहड़जी में 30 प्रतिभागियों को नशे के दुष्प्रभावों की जानकारी प्रदान की गई।

==================================================

सोलन दिनांक 11.12.2019

प्याज़ पर लिए जाने वाले लाभांश की सीमा निर्धारित- रोहित राठौर

उपमंडलाधिकारी सोलन रोहित राठौर ने आज यहां खाद्य नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता मामले विभाग के अधिकारियों, व्यापार मण्डलों के प्रतिनिधियों और सब्जी विक्रेता संगठनों के साथ प्याज की कीमतों के विषय में आयोजित एक बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को जिला प्रशासन द्वारा प्याज़ की थोक व परचून दरों के संबंध में जारी अधिसूचना से अवगत करवाया।
रोहित राठौर ने कहा कि सोलन उपमण्डल में प्याज़ की दरों को नियन्त्रित रखने के लिए सभी विभागीय अधिकारी अपने-अपने स्तर पर सजग रहें तथा जिला प्रशासन द्वारा अधिसूचना की पूरी तरह अनुपालना सुनिश्चित बनाई जाए। उन्होंने कहा कि जिला एवं उपमण्डल प्रशासन द्वारा यह प्रयास किया जा रहा है कि सभी को निर्धारित दरों पर प्याज़ मिले। इसके लिए थोक एवं परचून व्यापारियों का सहयोग आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा थोक व परचून दुकानदारों द्वारा प्याज़ पर लिए जाने वाले लाभांश की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई है। थोक व्यापारियांे के लिए यह सीमा 5 प्रतिशत तथा परचून व्यापारियों के लिए 24 प्रतिशत तय की गई है। इस 24 प्रतिशत लाभांश में परिवहन भाड़ा, लदाई, उतराई, कमी व अन्य सभी खर्चे शामिल हैं।
उन्होंने सभी व्यापारियों से आग्रह किया कि वे निर्धारित सीमा तक का लाभांश ही वसूल करें। उन्होंने कहा कि जो भी व्यापारी इस अधिसूचना का उल्लंघन करेगा उसके विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि उपमण्डल में सभी सब्जी विक्रेता प्याज़ की मूल्य सूची प्रदर्शित करेंगे। उन्होंने आढ़ती ऐसोसिएशन से आग्रह किया कि परचून व्यापारी को प्याज़ खरीद का बिल अवश्य दें।
उन्होंने आमजन से आग्रह किया कि यदि कोई सब्जी विक्रेता उनसे प्याज़ के निर्धारित दर से अधिक दाम वसूल करता है तो इसकी सूचना उपमंडल प्रशासन को दें।
बैठक में व्यापार मण्डल सोलन के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, व्यापार मण्डल धर्मपुर के अध्यक्ष नरेश गुप्ता, व्यापार मण्डल सोलन के महासचिव मनोज गुप्ता, व्यापार मण्डल धर्मपुर के महासचिव सुरेन्द्र गोयल, खाद्य एवं नागरिक असपूर्ति विभाग के निरीक्षक अरूण ठाकुर सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।

====================================================

सोलन-दिनांक 11.12.2019

सोलन जिला के लिए नाबार्ड की 2940 करोड़ रुपए की संभाव्यता युक्त ऋण योजना

उपायुक्त सोलन के.सी. चमन ने आज यहां राष्ट्रीय कृषि विकास एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा सोलन जिला की 2940 करोड़ रुपए की संभाव्यता युक्त ऋण योजना (पीएल) 2020-21 का लोकार्पण किया।
के.सी.चमन ने इस अवसर पर कहा कि जिला के समग्र विकास में बैंकों की भागीदारी अहम है और इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए संभाव्यता आधारित ऋण योजना का सफल कार्यान्वयन अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होने कहा कि योजना के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों के लिए आंकलन की गई संभाव्यता का सम्पूर्ण उपयोग किया जाना चाहिए ताकि लक्षित समूह योजनाओं के तहत प्रदान की जा रही धनराशि से लाभान्वित हो सकें।
उपायुक्त ने कहा कि वर्तमान समय में बैंको को अपनी सेवाएं गरीब एवं पिछड़े वर्गों तक शीघ्र पंहुचाना आवश्यक है। इससे समाज केे कमजोर वर्ग इन सेवाओं से समय पर लाभान्वित हो पाएंगे। उन्होंने कहा कि जिले में कार्य कर रहे स्वयं सहायता समूह, कृषक उत्पादक संगठन इत्यादि के लिए विपणन की सुविधाओं का विकास भी आवश्यक है। इस दिशा में बैंक को योजनाबद्ध कार्य करना चाहिए।
नाबार्ड के जिला विकास प्रबन्धक अशोक चैहान ने कहा कि अगले वित्त वर्ष के लिए कुल 2940 करोड़ रुपए की ऋण योजना का आंकलन किया गया है। इसमें से 941 करोड़ रुपए कृषि व कृषि से संबन्धित कार्याें के लिए हैं। इस धनराशि में से 665 करोड़ रुपए फसल उत्पादन व रखरखाव तथा 276 करोड़ रुपए कृषि संबंधी आधारभूत संरचनाओं सहित अनुषंगी गतिविधियों के लिए निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों के लिए 1526 करोड़ रुपए निर्धारित किए गए हैं। निर्यात, शिक्षा, आवास, नवीकरण योग्य ऊर्जा स्त्रोत इत्यादि के लिए 472.38 करोड़ रुपए का आकलन किया गया है। उन्होने नाबार्ड द्वारा स्वयं सहायता समूहों के लिए रुरल मार्ट तथा कृषि उत्पादों के लिए ग्रामीण हाट की जानकारी देते हुए कहा कि इनके माध्यम से किसान सीधे तौर पर अपने उत्पाद ग्राहकों तक अच्छी दरों पर पहुंचा सकते हैं।
जोगिंद्रा केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक ताशी संडुप, अग्रणी जिला प्रबन्धक बी.डी. सांख्यान, स्टेट बैंक आॅफ इंडिया के हरिंदर, हिमाचल प्रदेश क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से राम कुमार शर्मा इस अवसर पर उपस्थित थे।
.=======================================================

जिला में प्याज की थोक व खुदरा दरों पर अधिकतम लाभ की सीमा तय

हमीरपुर, 11 दिसंबर। जिला दंडाधिकारी श्री हरिकेश मीणा ने प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए हमीरपुर जिला में प्याज के थोक व खुदरा भाव पर लाभ की अधिकतम सीमा निर्धारित करने की अधिसूचना जारी की है। कोई भी थोक व परचून व्यापारी प्याज की बिक्री में इससे अधिक लाभ की दर वसूल नहीं कर सकेगा।

जारी आदेशों के अनुसार प्याज के थोक भाव पर व्यापारी अधिकतम लाभ पांच प्रतिशत तथा खुदरा मूल्यों पर 24 प्रतिशत ही वसूल कर सकेगा जिसमें भाड़ा दरें, माल उतराई व चढ़ान (लोडिंग-अनलोडिंग), अपव्यय (वेस्टेज) और अन्य प्रासंगिक व्यय (इंसीडेंटल चार्जिज) सम्मिलित हैं। थोक व खुदरा व्यापार में संलग्न कोई भी व्यापारी एक सौदे पर केवल एक ही प्रकार का लाभ ले सकेगा। थोक भाव पर लाभ एक स्थान पर केवल एक स्तर पर ही मान्य होगा। इसके अनुसार 20 किलोग्राम या इससे अधिक की प्याज की एक मात्रा थोक लेन-देन मानी जाएगी। प्रत्येक थोक व्यापारी या आढ़ती द्वारा खुदरा व्यापारी को प्याज बेचने पर उसकी मात्रा को दर्शाता कैश-मैमो या बिल देना होगा और खुदरा व्यापारी को यह अपनी दुकान के रिकॉर्ड में रखना होगा ताकि निरीक्षण के दौरान इसकी जांच की जा सके। यह आदेश अधिसूचना जारी होने की तिथि से लागू माने जाएंगे।