चण्डीगढ़, 28 फरवरीः- भारतीय रैड क्रास समिति सफलतापूर्वक 100 (शताब्दी) वर्ष पूरे होने पर हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने शुक्रवार को यहां राजभवन से तीन प्रदर्शनी बसों को झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। यह बसें हरियाणा के सभी 22 जिलों में भारतीय रैड क्रास समिति की गतिविधियों का प्रचार-प्रसार करेेगी। संबंधित जिलों के उपायुक्तों द्वारा इन बसों का जिला मुख्यालयों पर स्वागत किया जाएगा। ये सभी बसों को उपमंड़ल, तहसील व खंड़ स्तर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र के प्रमुख स्थानों पर ले, जाएगी जहां रैड क्रास समिति के स्वयंसेवक समिति की गतिविधियों के बारे आम-जन को चित्रों एंव चलचित्रों के माध्यम से जागरूक करेगें।
इस अवसर पर राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने बताया कि 1920 में भारतीय रैड क्रास समिति की स्थापना की गई थी। तब से समिति लगातार जनसेवा, समाजसेवा के साथ-साथ राष्ट्रीय निर्माण में महत्ती भूमिका निभा रही है। समिति द्वारा चलाई जा रहीं गतिविधियों से समाज के जरूरतमंद लोगों के जीवन में जो सुधार हुआ है उसे शब्दों में बयां नही किया जा सकता। समिति द्वारा वर्तमान जरूरतों के अनुसार बच्चों व युवाओं को विभिन्न प्रशिक्षणों, कार्यक्रमों से जोड़कर देश का जिम्मेदार नागरिक बनाया जा रहा है।
उन्होनें समिति द्वारा शताब्दी वर्ष पूरे करने पर सभी अधिकारियों और समिति से जुड़े लोगों को बधाई देते हुए कहा कि वे प्रदेश में रैड क्रास समिति से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ें ताकि समिति अधिकतम जरूरतमंद लोगों तक पहुच पाए और आमजन को लाभ हो।
रैड क्रास समिति के महासचिव श्री डी.आर.शर्मा ने इन प्रदर्शनी बसों की जानकारी दी। इस अवसर पर उपसचिव श्री अमरजीत सिंह व हरियणा राज्य रैड क्रास समिति के पदाधिकारी एवं जिलों से आए अधिकारी, कर्मचारी व स्वयंसेवक भी उपस्थित थे।