एक तरफ कोरोना बीमारी क़ी मार दूसरी तरफ पानी के लिए जनता परेशान : तिवारी
संजय कॉलोनी निवासियों ने पानी के लिए किया प्रदर्शन
चण्डीगढ़ :23.05.20-संजय लेबर कॉलोनी इंडस्ट्रियल एरिया फेस 1 चंडीगढ़ मे काफी दिनों से पानी ना आने पर हाहाकार मचा हुआ हैं। चंडीगढ़ कॉंग्रेस नेता एवं समाजसेवीं एस.एस तिवारी को संजय लेबर कॉलोनीवासियों ने बताया क़ी एक तरफ तो कोरोना जैसी बीमारी से वे लोग परेशान हैं, वही पर पीने का पानी ना आने के कारण काफी परेशानियां हो रही हैं
लोग सेक्टर 28 के गुरुद्वारे तक जाकर पानी रेहड़ियों मे भरकर ला रहे हैं ।
इस संबंधित ये लोग स्थानीय भाजपा पार्षद एवं निगम जल अधिकारियों से कई बार इस बारे मे शिकायत कर चुके हैं लेकिन सिर्फ झूठा आश्वासन ही मिलता हैं। इस मौके पर गुस्साए कॉलोनीवासियो ने स्थानीय भाजपा पार्षद के खिलाफ प्रदर्शन भी किया ।

इसमौके पर एस.एस तिवारी ने कहा कि भाजपा शासित राज में गरीबों को कोई पूछने वाला नही हैं। एक तो ये गरीब मज़दूर दिहाड़ीदार पहले ही काम ना मिलने के कारण तंग हैं और ऊपर से इस गर्मी क़ी शुरुआत मे ही पानी ना मिलना बहुत अन्याय हैं ।
तिवारी ने नगर कमिशनर के.के यादव से मांग की है कि पानी का सुचारू रूप से सप्लाई की जाए ताकि गर्मियों मे इनको परेशानी ना हो पाए।
==================================
चंडीगढ़ टेनामेंट्स कॉलोनियों के मकानों का किश्त बिजली का बिल एवं पानी का बिल माफ करें प्रशासन : तिवारी
चण्डीगढ़ :23.05.20,चण्डीगढ़ कॉंग्रेस नेता एवं पूर्वांचल विकास महासंघ ट्राईसिटी के अध्यक्ष शशि शंकर तिवारी ने कहा है कि कोरोना कर्फ्यू लॉकडाउन मे चंडीगढ़ टेनामेन्ट्स कॉलोनियों मे ज्य़ादा करके मज़दूर वर्ग रहता हैं और इस लोकडाउन कर्फ्यू मे सबका काम छूटा हुआ हैं। कामगार मज़दूर जो लोकडाउन कर्फ्यू मे घर बैठे थे उनको फैक्टरी प्रबंधक 2 महीने क़ी तनख्वाह भी नही दे रहे जिस कारण टेनामेंट्स एवं स्माल फ्लैट्स मे रहने वाले लोग परेशान हैं कि कैसे अपने परिवार का पेट भरे, बच्चो क़ी स्कूल क़ी फीस दे, एवं अन्य खर्चा उठाए। स्माल फ्लैट स्कीम 2006 के तहत जो मकान धनास, सेक्टर 49, रामनगर मौलीजागरा पार्ट 2 , रामदरबार , 38 वेस्ट, मलौया इत्यादि जगहों मे मिले हैं, उनका प्रति महीना 900 रूपए किश्त एवं बिजली पानी सब लेकर तकरीबन 2000 रूपए प्रत्येक महीने आ रहा हैं। वर्तमान समय मे इसको भरने मे मज़दूर वर्ग असमर्थ हैं।
तिवारी ने चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर से मांग की है कि मानवता के तौर पर जब तक कोरोना का लॉकडाउन चल रहा हैं तब तक इन मकानों मे रहने वाले लोगो के मकानों का किश्त , बिजली एवं पानी का बिल माफ किया जाए ।