कुल्लू -12 जुलाई 2018
ऋण योजनाओं का लाभ उठाएं स्वयं सहायता समूह
नाबार्ड के 37वें स्थापना दिवस पर जिलाधीश ने की अपील
कुल्लू में 393 समूहों में से 192 को ऋण दिला चुका है नाबार्ड
जिलाधीश यूनुस ने जिला भर में गठित स्वयं सहायता समूहों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से विभिन्न विभागों की योजनाओं तथा बैंकों की ऋण सुविधाओं का लाभ उठाकर अपना कारोबार बढ़ाने की अपील की है। वीरवार को राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के 37वें स्थापना दिवस पर सरवरी के सहकार भवन में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करते हुए जिलाधीश ने यह अपील की।
उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में ढांचागत विकास के साथ-साथ कृषि, लघु उद्योग, हस्तशिल्प और महिला सशक्तिकरण में भी नाबार्ड बहुत बड़ी भूमिका अदा कर रहा है। नाबार्ड का स्वयं सहायता समूह बैंक लिंकेज कार्यक्रम विश्व का सबसे बड़ा माइक्रो फाइनेंस कार्यक्रम बन चुका है जिसने एक करोड़ से अधिक महिलाओं को न केवल संगठित किया है, बल्कि उन्हें आत्मनिर्भर और स्वावलंबी भी बनाया है। कुल्लू जिला में भी 393 समूह बनाए गए हैं, जिनमें से 192 समूह विभिन्न बैंकों से ऋण भी ले चुके हैं। जिलाधीश ने कहा कि कुल्लू जिला में पर्यटन के अलावा हस्तशिल्प, कृषि और बागवानी में भी स्वरोजगार की काफी अच्छी संभावनाएं हैं। विभिन्न स्वयं सहायता समूह इन क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कार्य कर सकते हैं। इन समूहों के उत्पादों के बेहतर विपणन के लिए जिला प्रशासन हरसंभव मदद करेगा।
इस अवसर पर कार्यक्रम के विशेष अतिथि जिला सहकारी विकास संघ के अध्यक्ष सत्य प्रकाश ठाकुर ने नाबार्ड के विभिन्न विकास कार्यों तथा योजनाओं की सराहना की। जिला लीड बैंक मैनेजर राकेश गोयल ने विभिन्न बैंक योजनाओं की जानकारी दी। इससे पहले नाबार्ड की सहायक महाप्रबंधक उर्मिल लता ने मुख्य अतिथि, अन्य अतिथियों व सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा नाबार्ड की विभिन्न योजनाओं व उपलब्धियों से अवगत करवाया। कृषि अनुसंधान केंद्र बजौरा के वैज्ञानिक डा. एसडी शर्मा, उद्यान विकास अधिकारी उत्तम पराशर और कृषि विकास अधिकारी रितु गुप्ता ने अपने-अपने विभागों की योजनाओं के बारे में बताया। महिला कल्याण मंडल की पदाधिकारी मधुरबीणा ने सभी का आभार व्यक्त किया।
---------
सराहनीय कार्य के लिए बैंक अधिकारी व स्वयं सहायता समूह पुरस्कृत
नाबार्ड के 37वें स्थापना दिवस समारोह में जिलाधीश ने सराहनीय कार्य करने वाले स्वयं सहायता समूहों और बैंक अधिकारियों को सम्मानित किया। हिमाचल ग्रामीण बैंक के प्रबंधक संजीव नैयर, विवेक करोपा और कांगड़ा कंेद्रीय सहकारी बैंक के पीसी ठाकुर को सम्मानित किया गया। महिला कल्याण मंडल सरवरी के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह प्रेमगढ़, साईरोपा की संस्था बीटीसीए के जागृति स्वयं सहायता समूह गुलाधार, चेतना समिति कुल्लू के अंतर्गत शिवम स्वयं सहायता समूह धाठ, मनाली की संस्था क्योर के नवज्योति स्वयं सहायता समूह रूमसू और प्रतिभा महिला कल्याण मंडल के तहत अन्नपूर्णा स्वयं सहायता समूह और कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक शाखा गुशैणी के प्रबंधक को भी सम्मानित किया गया।