सोलन -दिनांक 01.06.2020
सार्वजनिक परिवहन एवं वाहनों की आवाजाही के सम्बन्ध में आदेश

जिला दण्डाधिकारी सोलन केसी चमन ने कोविड-19 के दृष्टिगत सार्वजनिक परिवहन एवं वाहनों की आवाजाही के सम्बन्ध में आदेश जारी किए हैं।
इन आदेशों के अनुसार टैक्सी के अन्तरराज्यीय आवागमन के लिए जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी आॅनलाइन वैध प्रवेश पत्र अथवा ई-कोविड पास अनिवार्य होगा।
सार्वजनिक परिवहन के तहत बसांे, निजी वाहनों, टैक्सी तथा आॅटो रिक्शा की प्रदेश के भीतर अन्तर जिला आवाजाही के लिए प्रवेश पत्र की आवश्यकता नहीं होगी। इसके लिए आवश्यक शर्तों की अनुपालना अनिवार्य होगी।
प्रदेश पथ परिवहन निगम तथा निजी बसों, स्टेज कैरियेज वाहनों में कुल क्षमता के 60 प्रतिशत यात्री ही बिठाए जा सकेंगे। सार्वजनिक परिवहन, टैक्सी तथा निजी वाहनों को प्रातः 6.00 बजे से रात्रि 8.00 बजे तक आवागमन की अनुमति होगी।
उपरोक्त सभी वाहनों में सोशल डिस्टेन्सिग नियम का पालन करना होगा और निर्धारित क्षमता ही यात्री बिठाए जा सकेंगे। सभी यात्रियों को वाहन में चढ़ने से लेकर उतरने तक मास्क पहनना अनिवार्य होगा। फ्लू जैसी बीमारी के लक्षणों के सम्बन्ध में चालक एवं अन्य यात्री स्वयं अनुश्रवण करेंगे और लक्षण पाए जाने पर समीप के स्वास्थ्य संस्थान को सूचित करेंगे। सभी वाहनों एवं अन्य आवश्यक स्थानों को नियमित सेनिटाइज करना होगा। चालक एवं यात्रियों को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी सुरक्षा मानकों को मानना होगा। यात्रियों को वाहन पूल करने अथवा शेयर करने की अनुमति नहीं होगी। वाहनों में चालक तथा यात्रियों के लिए हैण्ड सेनिटाइजर उपलब्ध करवाना अनिवार्य होगा।
कुल 04 की क्षमता वाले आॅटो रिक्शा तथा ई-रिक्शा में चालक के अतिरिक्त 02 यात्री, कुल 05 की क्षमता वाले आॅटो रिक्शा तथा ई-रिक्शा में चालक के अतिरिक्त 02 यात्री, कुल 05 की क्षमता वाली टैक्सी में चालक के अतिरिक्त 03 यात्री, कुल 07 की क्षमता वाली मोटर कैब में चालक के अतिरिक्त 04 यात्री, कुल 08 की क्षमता वाली मैक्सी कैब में चालक के अतिरिक्त 05 यात्री, कुल 10 की क्षमता वाली मैक्सी कैब में चालक के अतिरिक्त 06 यात्री तथा कुल 13 की क्षमता वाली मैक्सी कैब में चालक के अतिरिक्त 07 यात्री बिठाने की अनुमति प्रदान की गई है।
यह आदेश पूरे सोलन जिला में लागू होंगे।
आदेशों की अवहेलना पर राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005, मोटर वाहन अधिनियम 1988 के सम्बन्धित प्रावधानों तथा अन्य नियमों के अनुरूप कार्रवाई की जाएगी।
आॅटो रिक्शा में पिछली सीट को एक्रिलिक शीट अथवा अन्य माध्यम से 02 भागों में बांटना आवश्यक होगा ताकि यात्रियों के मध्यम सोशल डिस्टेन्सिग बनी रहे।
जिला के सभी उपमण्डलाधिकारी, कार्यकारी दण्डाधिकारी तथा पुलिस कर्मी यह सुनिश्चित बनाएंगे कि प्रत्येक व्यक्ति ने सार्वजनिक स्थान, कार्यस्थल पर मास्क पहना हों, सोशल डिस्टेन्सिग का पालन किया जा रहा हो और कोविड-19 प्रबन्धन के दृष्टिगत स्थापित अन्य नियमांे की पालना हो।
यह आदेश प्रथम जून 2020 से प्रभावी हो गए हैं तथा आगामी आदेशों तक लागू रहेंगे।

=====================================

व्यापारिक संस्थान खोलने के सम्बन्ध में आदेश
जिला दण्डाधिकारी सोलन केसी चमन ने कोविड-19 के दृष्टिगत दुकान एवं अन्य व्यापारिक संस्थान खोलने के सम्बन्ध में आदेश जारी किए हैं।
इन आदशों के अनुसार जिला सोलन में नगर परिषद क्षेत्र अथवा ग्रामीण क्षेत्र या कैन्ट बोर्ड क्षेत्र में सभी दुकानें एवं व्यापारिक संस्थान हिमाचल प्रदेश दुकान एवं व्यापारिक संस्थान अधिनियम-1969 के अनुरूप अपने सामान्य समय पर खुले रहेंगे। आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि ऐसी दुकानें एवं व्यापारिक संस्थान पूर्व प्रचलन के अनुसार सप्ताह में एक दिन बंद रहेंगे।
व्यायामशालाएं, पूल टेबल, खेल परिसर, तरणताल, सिनेमा हाॅल, मनोरंजन पार्क, सम्मेलन कक्ष एवं अन्य ऐसे स्थान पूर्व की भांति बंद रहेंगे।
मन्दिर तथ पूजा स्थल के सम्बन्ध में आदेश भाषा एवं कला संस्कृति विभाग से मानक परिचालन प्रक्रिया मिलने के उपरान्त जारी किए जाएंगे।
रेस्तरां तथा होटलों में बैठकर भोजन करने की सुविधा के सम्बन्ध में आदेश पर्यटन विभाग से मानक परिचालक प्रक्रिया मिलने के उपरान्त जारी किए जाएंगे।
इन आदेशों में कोविड-19 प्रबन्धन के तहत राष्ट्रीय स्तर पर जारी निर्देशों की जानकारी भी दी गई है।
राष्ट्रीय निर्देशों के अनुसार कार्य स्थल, सार्वजनिक स्थानों एवं परिवहन के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य है। सार्वजनिक स्थानों पर 02 व्यक्तियों के मध्य 06 फुट अर्थात 02 गज की दूरी होनी चाहिए।
बड़ी जनसभाएं एवं समारोह प्रतिबन्धित हैं। विवाह समारोह में 50 तथा अन्तिम यात्रा में 20 से अधिक व्यक्ति नहीं होने चाहिएं। सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर नियमानुसार जुर्माना वसूला जाएगा। सार्वजनिक स्थानों पर मदिरा पान करना, पान, गुटखा एवं तम्बाकू का सेवन प्रतिबन्धित हैं।
सभी कार्यालयांे एवं व्यापारिक संस्थानों के प्रवेश एवं निकासी द्वार तथा आम स्थानों पर थर्मल स्कैनिंग, हैंडवाॅश तथा सेनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी। कार्यस्थलों, सामान्य सुविधाओं एवं नियमित स्पर्श में आने वाले स्थानों को निर्धारित अंतराल पर सेनिटाइज किया जाएगा। कार्यस्थलों पर कर्मियों एवं कामगारों के मध्य सोशल डिस्टेन्सिग की अनुपालना की जाएगी।
जिला के सभी उपमण्डलाधिकारी, कार्यकारी दण्डाधिकारी तथा पुलिस कर्मी यह सुनिश्चित बनाएंगे कि प्रत्येक व्यक्ति ने सार्वजनिक स्थान, कार्यस्थल पर मास्क पहना हो, सोशल डिस्टेन्सिग का पालन किया जा रहा हो और कोविड-19 प्रबन्धन के दृष्टिगत स्थापित अन्य नियमांे की पालना हो।
इन आदेशांे की अवहेलना पर भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 एवं अन्य उपयुक्त नियमों के अनुरूप कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
यह आदेश प्रथम जून 2020 से प्रभावी हो गए हैं तथा आगामी आदेशों तक लागू रहेंगे।

=====================================

मालरोड पर वाहनों की आवाजाही के सम्बन्ध में आदेश

जिला दंडाधिकारी सोलन केसी चमन ने सोलन के मालरोड पर वाहनों की आवाजाही के सम्बन्ध में आदेश जारी किए हैं।
यह आदेश मोटर वाहर अधिनियम, 1988 की धारा-115 एवं 117, सड़क नियमन के नियम, 1999 की धारा 15 एवं 17 तथा हिमाचल प्रदेश मोटर वाहन नियम, 1999 के नियम 184 तथा 196 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किए गए हैं।
इन आदेशों के अनुसार सोलन के मालरोड पर अब सांय 5.30 बजे से रात्रि 8.00 बजे तक वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबन्ध रहेगा। इस सम्बन्ध में 27 जून, 2006 को जारी आदेशों के तहत अन्य शर्तें यथावत रहेंगी।
यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू हो गए हैं।

=================================

सोलन जिला से आज कोरोना संक्रमण जांच के लिए भेजे गए 25 सैम्पल

गत दिवस के 238 रक्त नमूनों में से 236 की रिपोर्ट नेगेटिव, 02 की रिपोर्ट पोजिटिव
सोलन जिला से आज कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि के लिए 25 व्यक्तियों के रक्त नमूने केंद्रीय अनुसंधान संस्थान कसौली भेजे गए। यह जानकारी आज यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.के गुप्ता ने दी।
डाॅ. गुप्ता ने कहा कि इन 25 रक्त नमूनों में से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नालागढ़ से 19 व ईएसआई काठा से 06 सैम्पल कोरोना वायरस संक्रमण जांच के लिए भेजे गए हैं।
उन्होंने कहा कि गत दिवस भेजे गए 238 रक्त नमूनों में से 236 व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। शेष 02 की रिपोर्ट पोजिटिव है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि गत दिवस ईएसआई काठा से 02 कोविड रोगियों को बेहतर उपचार एवं देखभाल के दृष्टिगत दीन दयान उपाध्याय अस्पताल शिमला भेजा गया है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने बाहरी राज्यों से प्रदेश में आने वाले लोगों से आग्रह किया कि वे क्वारेनटाइन सम्बन्धी दिशा-निर्देशों का पूर्ण पालन करें। उन्होंने कहा कि इन नियमों की अनुपालना न केवल बाहर से आने वाले व्यक्तियों के परिवारों अपितु समाज को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाने में सहायक सिद्ध होगी।
डाॅ. गुप्ता ने सभी से आग्रह किया कि खांसी, जुखाम, बुखार या सांस लेने में तकलीफ होने पर शीघ्र समीप के स्वास्थ्य संस्थान से सम्पर्क करें। इस सम्बन्ध में किसी भी सहायता के लिए हैल्पलाईन नम्बर 104 तथा दूरभाष नम्बर 221234 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

=========================================
कर्फ्यू में ढील प्रातः छह बजे से रात्रि आठ बजे तक: डीसी
कांगड़ा से अन्य जिलों में जाने के लिए कर्फ्यू पास की आवश्यकता नहीं
शादियों तथा अंतिम संस्कार के लिए निर्धारित की है नागरिकों की संख्या
53, 320 नागरिकों ने पूरी की होम क्वारंटीन की अवधि
बसों की आवाजाही का समय प्रातः सात बजे से सांय सात बजे तक
कांगड़ा जिला में अब लिए कुल 7198 सेंपल, एक्टिव केस 54
धर्मशाला, 01 जून। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में कर्फ्यू में ढील का समय प्रातः छह बजे से रात्रि आठ बजे तक रहेगा इसी दौरान दुकानें इत्यादि खोली जाएंगी। इसके साथ ही नागरिकों को प्रातः पांच बजे से लेकर छह बजे तक वॉक तथा रनिंग करने की अनुमति प्रदान की है। नागरिकों को मास्क लगाना जरूरी होगा। उपायुक्त ने कहा कि सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करना दुकानदारों का दायित्व होगा तथा दुकानों के बाहर उपभोक्ताओं के खड़े होने के लिए एक से डेढ़ मीटर की दूरी तक गोले के आकार के चिह्न अवश्य प्रदर्शित करें।

राज्य के दूसरे जिलों में जाने के लिए कर्फ्यू पास की आवश्यकता नहीं
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला से हिमाचल के अन्य जिलों में जाने के लिए किसी भी तरह के कर्फ्यू पास की आवश्यकता नहीं है इस स्थिति में नागरिकों को क्वारंटीन भी नहीं किया जाएगा, कांगड़ा जिला के नागरिकों द्वारा अन्य राज्यों में 48 घंटे के भीतर जाने तथा आने पर भी क्वांरटीन की आवश्यकता नहीं है जबकि गृह मंत्रालय द्वारा देश के विभिन्न राज्यों के रेड जोन के जिलों से आने वाले नागरिकों को क्वारंटीन किया जाएगा इसकी अवधि अब 14 दिन की रहेगी। बाहरी राज्यों से आने वाले मजदूरों को उनके कार्य स्थल पर ही क्वारंटीन करने का प्रावधान किया गया है।

सैलून तथा ब्यूटी पार्लर में कार्य करने वालों को दी है ट्रेनिंग
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सैलून तथा ब्यूटी पार्लर में कार्य करने वालों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है तथा सोमवार से ही ट्रेनिंग ले चुके ब्यूटीशियन, हेयर ड्रेसर इत्यादि को कुछ शर्तों के साथ दुकानें खोलने की अनुमति दे दी गई है। इसके साथ ही स्ट्रीट वेंडर्स को भी अपना कार्य आरंभ करने के लिए अनुमति दे दी गई है।

कार्यालयों में सभी कर्मचारी रहेंगे उपस्थित
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सरकारी तथा निजी कार्यालय पूरी तरह ही खुले रहेंगे इसमें सभी कर्मचारियों को उपस्थित रहने के दिशा निर्देश दिए गए हैं तथा कार्यालय में बाहर से आने वाले व्यक्तियों के लिए सामाजिक दूरी की अनुपालना के लिए भी प्रत्येक कार्यालय में कारगर कदम उठाने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। इसी तरह से बैंक तथा एटीएम भी अब दिनभर खुले रहेंगे।

शादियों तथा अंतिम संस्कार के लिए निर्धारित की है नागरिकों की संख्या
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि गृह मंत्रालय तथा प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार शादियों में 50 से ज्यादा लोग नहीं भाग ले सकते हैं जबकि अंतिम संस्कार में बीस से ज्यादा लोग नहीं भाग ले सकते हैं इसके साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रमों, सभाओं पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।

53, 320 नागरिकों ने पूरी की होम क्वारंटीन की अवधि
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में 53320 नागरिकों ने होम क्वारंटीन की अवधि पूरी की है जबकि 26830 नागरिक अभी होम क्वारंटीन में है तथा संस्थागत क्वारंटीन में 115 नागरिक हैं। कांगड़ा जिला से 19711 प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्यों में भेजा जा चुका है।

कांगड़ा जिला में अब लिए 7198 सेंपल

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में अब 7198 कोविड-19 के सेंपल लिए जा चुके हैं जिनमें 87 सेंपल पॉजिटिव पाए गए जबकि 32 नागरिक स्वस्थ हुए हैं, एक की मौत हुई है जिला में अब 54 एक्टिव केस हैं। उपायुक्त ने कहा कि बाहर से आए नागरिकों की रंेडम सेंपलिंग भी की जा रही है तथा प्रतिदिन साढ़े तीन सौ से पांच सौ सेंपल लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि फ्लू के लक्षण पाए जाने पर विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में स्थापित फ्लू सेंटर्स में ही जांच करवाएं। उन्होंने बताया कि कांगड़ा जिला में 20 फ्लू सेंटर तथा कोविड-19 सेंपल एकत्रीकरण केंद्र स्थापित किए गए हैं।

बसों की आवाजाही का समय प्रातः सात बजे से सांय सात बजे तक रहेगा
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि बसों की आवाजाही को भी अनुमति प्रदान की गई है तथा अब बसों की आवाजाही का समय प्रातः सात बजे से सांय सात बजे तक निर्धारित किया गया है। बसों में 60 प्रतिशत सीटें ही भरी जा सकेंगी। इसके साथ ही बसों की सेनेटाइजेशन करने के दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।