Chandigarh,01.05.17-आज दिनांक 1 मई 2017 को पंजाब कला परिषद् के द्वारा मिस्टर एंड मिसेज़ जिन्नाह किताब की चर्चा का पंजाब कला भवन सेक्टर 16 बी चंडीगढ़ में आयोजन किया गया। इस प्रोग्राम में सरदार मनप्रीत सिंह बादल कैबिनेट मंत्री, वित्त विभाग, पंजाब सरकार जी द्वारा बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की गयी। आये हुए सभी अतिथि एव लोगो का स्वागत करते हुए मिस सतिंदर सत्ती चेयरपर्सन पंजाब कला परिषद् जी ने कहा की आज उन्हें बड़ा मान महसूस हो रहा है कि आज उनके बीच सरदार मनप्रीत सिंह बादल जी मजूद है। इस मोके पर मिस सतिंदर सत्ती जी ने कहा कि पंजाब कला परिषद् के द्वारा आज पंजाब कला भवन में साहित्यकारों को एक दूसरे के साथ जोड़ने की इस प्रोग्राम के द्वारा कोशिश की गयी है ताकि साहित्य जगत को और भी प्रफुलित किया जा सके। आने वाले समयः में पंजाब कला परिषद् द्वारा इस प्रकार के प्रोग्राम और भी किये जायेगे। मिस सतिंदर सत्ती के भाषण के बाद श्रीमती निरमुपा दत्त जी द्वारा दर्शको से किताब की लेखिका श्रीमती शीला रेड्डी जी के साथ अवगत करवाया गया। सरदार मनप्रीत सिंह बादल जी ने अपने भाषण में कहा कि श्रीमती शीला रेड्डी जी ने बहुत ही खूबसूरत किताब लिखी है और सभी को ये किताब जरूर पढ़नी चाहिए। इसके बाद किताब की लेखिका श्रीमती शीला रेड्डी जी के साथ श्री रोबिन गुप्ता जी ने किताब की चर्चा की और इस चर्चा में शीला रेड्डी जी ने किताब के बारे में अपने विचार सांझे किये। इस प्रोग्राम में आये हुए लोगो ने भी श्रीमती शीला रेड्डी जी से किताब के बारे में प्रश्न किये और उनके द्वारा उन प्रश्नो के उत्तर दिए गए। डॉ. सरबजीत कौर सोहल जी द्वारा प्रोग्राम के अंत में धन्यवाद संदेष दिया गया । इस मोके पर सरदार दविंदर सिंह सरोया, पूर्व निदेशक, NZCC, सरदार गुलज़ार सिंह संधू, पूर्व चेयरपर्सन पंजाब कला परिषद्, डॉ. दीपक मनमोहन सिंह, पूर्व महा सचिव, पंजाब कला परिषद्, श्री दीवान मन्ना, प्रधान, पंजाब ललित कला अकादेमी, जी शामिल हुए ।

परिषद् के द्वारा मिस्टर एंड मिसेज़ जिन्नाह किताब की चर्चा का पंजाब कला भवन सेक्टर 16 बी चंडीगढ़ में आयोजन किया गया। इस प्रोग्राम में सरदार मनप्रीत सिंह बादल कैबिनेट मंत्री, वित्त विभाग, पंजाब सरकार जी द्वारा बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की गयी। आये हुए सभी अतिथि एव लोगो का स्वागत करते हुए मिस सतिंदर सत्ती चेयरपर्सन पंजाब कला परिषद् जी ने कहा की आज उन्हें बड़ा मान महसूस हो रहा है कि आज उनके बीच सरदार मनप्रीत सिंह बादल जी मजूद है। इस मोके पर मिस सतिंदर सत्ती जी ने कहा कि पंजाब कला परिषद् के द्वारा आज पंजाब कला भवन में साहित्यकारों को एक दूसरे के साथ जोड़ने की इस प्रोग्राम के द्वारा कोशिश की गयी है ताकि साहित्य जगत को और भी प्रफुलित किया जा सके। आने वाले समयः में पंजाब कला परिषद् द्वारा इस प्रकार के प्रोग्राम और भी किये जायेगे। मिस सतिंदर सत्ती के भाषण के बाद श्रीमती निरमुपा दत्त जी द्वारा दर्शको से किताब की लेखिका श्रीमती शीला रेड्डी जी के साथ अवगत करवाया गया। सरदार मनप्रीत सिंह बादल जी ने अपने भाषण में कहा कि श्रीमती शीला रेड्डी जी ने बहुत ही खूबसूरत किताब लिखी है और सभी को ये किताब जरूर पढ़नी चाहिए। इसके बाद किताब की लेखिका श्रीमती शीला रेड्डी जी के साथ श्री रोबिन गुप्ता जी ने किताब की चर्चा की और इस चर्चा में शीला रेड्डी जी ने किताब के बारे में अपने विचार सांझे किये। इस प्रोग्राम में आये हुए लोगो ने भी श्रीमती शीला रेड्डी जी से किताब के बारे में प्रश्न किये और उनके द्वारा उन प्रश्नो के उत्तर दिए गए। डॉ. सरबजीत कौर सोहल जी द्वारा प्रोग्राम के अंत में धन्यवाद संदेष दिया गया । इस मोके पर सरदार दविंदर सिंह सरोया, पूर्व निदेशक, NZCC, सरदार गुलज़ार सिंह संधू, पूर्व चेयरपर्सन पंजाब कला परिषद्, डॉ. दीपक मनमोहन सिंह, पूर्व महा सचिव, पंजाब कला परिषद्, श्री दीवान मन्ना, प्रधान, पंजाब ललित कला अकादेमी, जी शामिल हुए ।