चंडीगढ़,21.12.17 ( MIRRIOR COMMUNICATION )- जेम्स होटल के मालिकों को आज उस समय काफी राहत मिली जब उच्च न्यायालय ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटीएनसीएलटी) को उनके मामले में अगले आदेश पारित करने से रोक दिया है। मालूम हो कि जेम्स होटल पर बकाया कर्ज को लेकर मामला चल रहा है। होटल के खिलाफ एनसीआरटी ने आदेश पारित किए थे जिस पर होटल मालिकों ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी व कहा कि उन्हें अपना पक्ष मजबूती से रखने की इजाजत न दी गई तथा उनकी सफाई सुने बगैर ही सीधे सजा सुना दी गई। उन्होंने यह भी कहा कि वे लंदन छोडक़र भारत आए थे व अपनी सारी कमाई इस होटल को खड़ा करने में लगा दी, यहां तक की अपनी पुश्तैनी संपत्तियां भी बेच डाली। उन्होंने कहा कि इस समय उनकी प्रापर्टी की कीमत कुल 800 करोड़ रुपए है जो कि उनकी 90 करोड़ की देनदारी से लगभग पांच गुना ज्यादा है। इसके बावजूद बैंक उनकी प्रापर्टी को जब्त करना चाह रही है। जो सरासर गलत है। इस पर उच्च न्यायालय ने एनसीआरटी को अगले आदेश जारी करने पर रोक लगा दी है।

THE ABOVE INFORMATIONS WERE TOLD BY SH H.S ARORA,MD HOTEL JAMES PLAZA IN A PRESS CONFEREMCE.