Chandigarh,19.10.19-प्राचीन कला केन्द्र एवं कत्थक केन्द्र दिल्ली के तत्वाधान से दो दिवसीय दूसरे कत्थक उत्सव का आगाज़ आज यहां टैगोर थियेटर में किया गया । इस उत्सव में देश के जाने माने कत्थक गुरूओं द्वारा खूबसूरत एवं भावपूर्ण कत्थक प्रस्तुतियां दी गई ।
पारम्परिक दीप प्रज्वलन के पश्चात सबसे पहले गुरू कुमकुम धर एवं उनके समूह द्वारा कार्यक्रम की शुरूआत की गई इन्होंने ‘‘श्री हरि प्रभा रचना के तहत कई खूबसूरत प्रस्तुतियां पेश की । लखनउ घराने की टाॅप ग्रेड कलाकार एवं गुुरू लच्छू महाराज की शिष्या एवं जानी मानी गुरू कुमकुम धर एवं उनके समूह द्वारा इस कार्यक्रम में सबसे पहले नंदकुमार अष्टकम प्रस्तुत किया गया जिसमें कृष्ण के विभिन्न स्वरूपों का नृत्य के माध्यम से खूबसूरत चित्रण किया गया । सुंदर गोपालन पुरवन मालन नयन विशालम,दुख हरम बंदिश से सजी इस प्रस्तुति को लोगों ने खूब पसंद किया । इसके पश्चात शुद्ध कत्थक लखनउ घराने की प्रस्तुति पेश की गई । जिसमें पारम्परिक तोड़े,टुकड़े,गते इत्यादि प्रस्तुत की गई । इसके पश्चात कत्थक नृत्य का मूल कथा वाचन प्रस्तुत किया गया जिसमें स्वयं गुरू कुमकुम धर ने एकल प्रस्तुति अहिल्या का खूबसूरत प्रस्तुतिकरण किया । कार्यक्रम का समापन इन्होंने त्रिवट से किया ।
इनके समूह में मंच पर अदिती थपलियाल,अमीशा तिवारी,प्रेरणा राणा एवं रंजन शर्मा ने भाग लिया ।
इसके पश्चात पंडित बिरजू महाराज जी के सुपुत्र एवं जाने माने कत्थक गुरू जय किशन महाराज की शिष्याओं द्वारा उनकी प्रसिद्ध रचना ‘‘लीलाधरी’’ नृत्य नाटिका प्रस्तुत की गई । इस लघु नृत्य नाटिका में सूत्रधार द्वारा श्री कृष्ण की महिमा का खूबसूरती से वर्णन किया गया । इसमें कंस द्वारा देवकी श्री कृष्ण के जन्म और विभिन्न लीलाओं को बहुत खूबसूरती से दर्शाया गया ।
इनके समूह में 17 कलाकारों ने भाग लिया ।
इसके उपरांत प्रसिद्ध कत्थक नृत्य राजेंद्र गंगानी ने एकल प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरी । इन्होनें शिव वंदना के उपरांत पारम्परिक कत्थक नृत्य की खूबसूरत प्रस्तुति देकर दर्शको को मंत्रमुग्ध कर दिया । कार्यक्रम का समापन पंडित राजेंद्र गंगानी ने एक ठुमरी चूड़िया मोरी मुड़क गई सजना से किया ।
इनके साथ तबले पर योगेश गंगानी ने,गायन पर समीउल्ला खान एवं सारंगी पर मोहम्मद अयूब ने बखूबी संगत की ।
कार्यक्रम के अंत में केन्द्र की रजिस्ट्ार डाॅ.शोभा कौसर,जाने माने कलाकार समीक्षक रविंद्र मिश्रा एवं सचिव श्री सजल कौसर ने कलाकारों को मोमेंटो एवं पुष्प देकर सम्मानित किया ।