चंडीगढ़: 24.02.20-चंडीगढ़ बाडीबिल्डिंग एंड फिज़िक स्पोर्ट्स एसोसिएशन चंडीगढ़ द्वारा आयोजित 8वीं मिस्टर चंडीगढ़, मिस चंडीगढ़ एवम मेन्स फीजिक चैम्पियनशिप- 2020 का आयोजन एस. डी. कालेज सैक्टर 32 के ऑडिटोरियम मे हुआ। प्रतियोगिता में विशाल परमार को मिस्टर चंडीगढ़ के खिताब से नवाजा गया। वही रीटा देवी को मिस चंडीगढ़ के खिताब से और पंकज रावत को मेन्स बेस्ट फीजिक- 2020 से नवाजा गया। इसके अलावा और भी विभिन्न प्रतिभागियों को उनकी बेस्ट बॉडी शेप और मूव्ज के लिए समान्नित किया गया।

प्रतियोगिता के दौरान प्रतिभागियों की बॉडी शेप, बॉडी मूव्ज और स्किल को जज करने में ज्यूरी में मौजूद सिद्धान्त भारद्वाज, सूरजभान, उपकार सिंह, कुलविंदर सिंह, अरविंद, प्रदीप, विक्रम और डीप ने अहम भूमिका अदा की। 55 किलो भार वर्ग में मणिपाल सिंह को विजेता घोषित किया गया। फर्स्ट रनरअप गुलशन और सेकंड रनरअप हरीश सिंह को घोषित किया गया। 60 किलो भार वर्ग में अंकुश कुमार विजेता रहे। फर्स्ट रनरअप साहिल कल्याण और सेकंड रनरअप अनिल कुमार को घोषित किया गया। इसी तरह 70 किलो भार वर्ग में सुशील कुमार को प्रथम, फर्स्ट रनरअप सचिन-मंगत राम और सेकंड रनरअप सचिन-प्रमोद कुमार को घोषित किया गया।

वही प्रतियोगिता के दौरान मिस चंडीगढ़ इवेंट के दौरान रीटा देवी अपनी अन्य प्रतिभागियों को पछाड़ते हुए प्रथम स्थान हासिल करते हुए विजेता रही।जबकि कुलविंदर कौर और आकांक्षा को फर्स्ट और सेकंड रनरअप घोषित किया गया ।

इसी तरह मेन्ज फिजिक 2020 प्रतियोगिता में पंकज रावत ने पहला स्थान हासिल किया और देवाशीष और जश्नप्रीत फर्स्ट और सेकंड रनरअप रहे ।

एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी सूरजभान और प्रेस सेक्रेटरी सिद्धान्त भारद्वाज ने बताया कि प्रतियोगिता में महिला और पुरुष दोनों कैटेगरी मे 55 किलो, 60 किलो 65 किलो, 70 किलो, 75 किलो, 80 किलो, 85 किलो और इससे अधिक भार वर्ग में अपनी बॉडीबिल्डिंग प्रतिभा का प्रदर्शन किया। प्रतिभागियों ने बॉडीबिल्डिंग के फ्रंट लैट स्प्रेड, फ्रंट डबल बाइसेप्स, साइड चेस्ट, रियर लैट स्प्रेड, रियर डबल बाइसेप्स, साइड ट्राइसेप्स, एब्डोमिनल एंड थाई और मोस्ट मस्कुलर आवश्यक पोज़ में प्रतिभा का प्रदर्शन किया और हॉल में उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रतिभागी के प्रदर्शन पर सभी द्वारा तालियों से हौंसला आफजाई की गई।

एसोसिएशन के प्रेसिडेंट उपकार सिंह के अनुसार इस प्रतियोगिता में उत्तर भारत से कुल मिलाकर लगभग 150 के प्रतिभागियों ने लिया।