चंडीगढ़, 7 सितंबर- हरियाणा में स्थित सभी मल्टी स्किल डिवलपमैंट सैंटरों का नाम ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय कौशल कुंज’ रखा जाएगा। फरीदाबाद के टाऊन पार्क तथा गुरूग्राम के लेजर वैली का नामकरण भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर किया जाएगा।

        ये निर्णय आज यहां हरियाणा निवास में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी मनाने के लिए गठित की गई कार्यकारी समिति की द्वितीय बैठक में लिए गए। बैठक की अध्यक्षता कार्यकारी समिति के अध्यक्ष एवं हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने की। इस अवसर पर हरियाणा की सूचना,जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की मंत्री श्रीमती कविता जैन भी उपस्थित थी।

        श्री शर्मा ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय भारत की राजनीति के ऋषि पुरूष माने जाते हैं और वे प्रेरणा व श्रद्घा के रूप में पूजनीय हैं। पंडित जी का सपना था कि ग्राम उदय तभी होगा जब अंत्योदय होगा। इसलिए हमें उनकी जन्म शताब्दी के अवसर पर उनके विचारों का अधिक से अधिक प्रचार व प्रसार करना चाहिए। उनका जन्मोत्सव मनाना यज्ञ करने के समान है।

        शिक्षा मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में बताया गया कि पर्यटन विभाग द्वारा डबचिक टूरिस्ट कम्पलैक्स होडल (पलवल) में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 51 फुट ऊंची मूर्ति स्थापित की जाएगी जिसका अनावरण एक भव्य समारोह आयोजित करके किया जाएगा। सूचना,जनसंपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा बताया गया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन से संबंधित फिल्म तैयार करके उनकी सीडी सभी स्कूलों,कालेजों,पुस्तकालयों व गांवों में भेजी जा रही है ताकि लोग उनके जीवन से प्रेरणा ले सकें। इसके अलावा पंडित दीनदयाल उपाध्याय मैटल पिन,बिल्ले व स्टीकर जारी किए गए हैं।

        लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें)विभाग द्वारा बताया गया कि प्रस्ताव के अनुसार होडल-बंसवा-रामगढ़-हसनपुर मार्ग का नाम ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य मार्ग’ रख दिया गया है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी द्वारा जानकारी दी गई कि 25 सितंबर 2017 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की विचारधारा ‘एकात्म मानववाद’ पर लिखी पुस्तकों का प्रकाशन कर विमोचन करवाया जाएगा। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक व कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरूक्षेत्र द्वारा बताया गया कि उनके विश्वविद्यालयों में ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय चेयर’ स्थापित की जा रही है और 21 सितंबर से पहले सभी विश्वविद्यालयों में व्याख्यान का आयोजन किया जाएगा तथा निबंध प्रतियोगिता आयोजित करने का प्रस्ताव रखा गया जिस पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालय स्तर पर प्रथम,द्वितीय व तृतीय स्थानों पर आने वाले विद्यार्थियों को क्रमश: 21000,11000 व 5100 रूपए का पुरस्कार दिया जाए। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बताया गया कि सभी सरकारी स्कूलों में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन से संबंधित कविता,नाटक,गीत व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित करवाई जा रही हैं।

        इस अवसर पर हरियाणा के मुख्य सचिव श्री डी.एस ढ़ेसी,मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर,हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. के.के खंडेलवाल, पर्यावरण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती धीरा खंडेलवाल,शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद मोहन शरण, सूचना,जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के निदेशक श्री टी.एल सत्यप्रकाश, खेल एवं युवा विभाग के निदेशक जगदीप सिंह,पर्यटन विभाग के एम.डी श्री मुकुल चौहान, स्वर्ण जयंती वर्ष समारोह के संयोजक श्री राजीव शर्मा,हरियाणा हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन श्री जवाहर यादव के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।