सोलन-दिनांक 18.06.2017-सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि आधुनिकीकरण एवं सूचना प्रौद्योगिक के वर्तमान युग में भी मेलों एवं उत्सवों की प्रासंगिकता बनी हुई है। डॉ. शांडिल आज सोलन जिले के कण्डाघाट उपमण्डल के करोल का टिब्बा में आयोजित स्थानीय मेले के अवसर पर उपस्थित लोगों को स बोधित कर रहे थे।

डॉ. शांडिल ने कहा कि इंटरनेट, आधुनिकीकरण तथा आजीविका के लिए हो रही भागदौड़ एवं समय के नितांत अभाव के कारण आज लोक संस्कृति, पर पराओं एवं रीति-रिवाजों से एक दूरी बनती हुई प्रतीत हो रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थितियों में यह आवश्यक है कि विभिन्न माध्यमों से क्षेत्र विशेष की संस्कृति को न केवल संरक्षित रखा जाए अपितु युवा पीढ़ी को इससे परिचित भी करवाया जाए। इस दिशा में प्रदेश में मनाए जाने वाले मेले, त्यौहार, उत्सव एवं महोत्सव सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि बदलते समय के साथ हालांकि मेलों एवं त्यौहारों को मनाए जाने के तरीकों में बदलाव हुआ है लेकिन ये आयोजन संस्कृति के प्रचार-प्रसार के सशक्त स वाहक बनकर उभरे हैं। उन्होंने कहा कि मेलों के माध्यम से संस्कृति को सुरक्षित रखने में प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयासरत है। उन्होंने ग्रामवासियों से आग्रह किया कि वे अपनी संस्कृति को सुरक्षित रखें तथा इसे लिपिबद्ध करें ताकि भावी पीढिय़ों को इसकी प्रमाणिक जानकारी उपलब्ध हो।

उन्होंने कहा कि करोल पर्वत का पौराणिक महत्व भी है। प्रदेश सरकार इसे साहसिक एवं धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को चरणबद्ध तरीके से निपटाया जाए। इस कार्य के लिए धन की कोई कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी।

डॉ. शांडिल ने इस अवसर पर प्रदेश विद्युत बोर्ड लिमिटेड के अधिकारियों को निर्देश दिए कि क्षेत्र में शीघ्र ही एक ट्रासफार्मर स्थापित किया जाए। इससे क्षेत्र में कम वोल्टेज की समस्या दूर होगी। उन्होंने कहा कि जराश मार्ग को जुलाई माह तक लोक निर्माण विभाग को सौंप दिया जाएगा ताकि इसका निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जा सके। उन्होंने मंदिर समिति को अपनी ऐच्छिक निधि से 11 हजार रुपये प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले कलाकारों को स मानित भी किया।

ग्राम पंचायत मही के प्रधान नन्द किशोर ने मु यातिथि का स्वागत किया तथा उन्हें क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाया। मंदिर समिति के अध्यक्ष एसआर वर्मा ने समिति की ओर से मु यातिथि का स्वागत किया। ग्राम पंचायत सलोगड़ा के पूर्व लक्ष्मी दत शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

ग्राम पंचायत बसाल के प्रधान देवेन्द्र कश्यप, ग्राम पंचायत पौधना के प्रधान संजीव ठाकुर, ग्राम पंचायत मही के उप प्रधान लायक राम, खण्ड कांग्रेस समिति सोलन के मोहन लाल बनाल, भाषा कला एवं संस्कृति विभाग के मदन हिमाचली, बीडीसी सदस्य मायावती, तारावती, प्रदेश विद्युत बोर्ड लिमिटेड के अधिषाशी अभियन्ता सीएस चावला, मंदिर समिति के सदस्य, अन्य विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी तथा स्थानीय निवासी इस अवसर पर उपस्थित थे।